BREAKING NEWS

दवाओं की कोई कमी नहीं, फोन पर पाबंदी से जिंदगियां बचीं : सत्यपाल मलिक◾निगमबोध घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ अरुण जेटली का अंतिम संस्कार किया गया◾मन की बात: PM मोदी ने दो अक्टूबर से प्लास्टिक कचरे के खिलाफ जन आंदोलन का किया आह्वान ◾लोकतांत्रिक अधिकारों को समाप्त करने से अधिक राजनीतिक और राष्ट्र-विरोधी कुछ नहीं : प्रियंका गांधी◾जी-7 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए PM मोदी फ्रांस रवाना◾सोनिया गांधी ने कहा- सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप दें महाराष्ट्र के नेता◾व्यक्तिगत संबंधों के कारण से सभी राजनीतिक दलों में अरुण जेटली ने बनाये थे अपने मित्र◾अनंत सिंह को लेकर पटना पहुंची बिहार पुलिस, एयरपोर्ट से बाढ़ तक कड़ी सुरक्षा◾पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी बोले- कश्मीर में आग से खेल रहा है भारत◾निगमबोध घाट पर होगा पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का अंतिम संस्कार◾भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मुख्य संकटमोचक थे अरुण जेटली◾PM मोदी को बहरीन ने 'द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां' से नवाजा, खलीफा के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता◾मोदी ने जेटली को दी श्रद्धांजलि, बोले- सत्ता में आने के बाद गरीबों का कल्याण किया◾जेटली के आवास पर तीन घंटे से अधिक समय तक रुके रहे अमित शाह ◾भाजपा को हर कठिनाई से उबारने वाले शख्स थे अरुण जेटली◾राहुल और अन्य विपक्षी नेता श्रीनगर हवाईअड्डे पर रोके गये, सभी को भेजा वापिस ◾अरूण जेटली का पार्थिव शरीर उनके आवास पर लाया गया, भाजपा और विपक्षी नेताओं ने दी श्रद्धांजलि ◾वरिष्ठ नेता अरुण जेटली के निधन पर प्रधानमंत्री ने कहा : मैंने मूल्यवान मित्र खो दिया ◾क्रिेकेटरों ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरूण जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली का निधन : राजनीतिक खेमे में दुख की लहर◾

देश

कांग्रेस ने रविदास मंदिर गिराए जाने को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर ‘‘दलित विरोधी’’ होने का मंगलवार को आरोप लगाया और मांग की कि दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में गुरु रविदास मंदिर का पुनर्निर्माण कराया जाए। 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों ने प्राचीन मंदिर को गिरा दिया। उन्होंने इसे ‘‘जघन्य अपराध’’ करार दिया। 

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने मांग की कि मंदिर का पुनर्निर्माण किया जाए और मंदिर गिराए जाने के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कदम उठाए जाए। उन्होंने इस घटना को ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’ बताया। 

सुरजेवाला ने कहा कि यदि सरकार चाहती, तो वह कोई रास्ता निकाल सकती थी और न्यायालय में पुनर्विचार याचिका दायर की जा सकती थी। 

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘लेकिन लगता है कि रविदास समाज एवं दलित समाज को अपमानित करना और उन्हें नीचा दिखाना भाजपा का चलन बन गया है। यह पूरी प्रक्रिया शर्मनाक है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार द्वारा गिराए गए प्राचीन रविदास मंदिर का फिर से निर्माण किया जाना चाहिए।’’