BREAKING NEWS

पच्छिम बंगाल: कोलकाता HC से मिथुन चक्रवर्ती को मिली बड़ी राहत, जानें क्या है पूरा मामला◾ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की पत्नी कैरी ने बेटी को दिया जन्म◾किसान आंदोलन की समाप्ति पर बालियान ने जताई खुशी, कहा- चुनावों के लिए नहीं किसानों के लिए बदला फैसला ◾मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र पर लगाया आरोप- हमें CDS रावत को श्रद्धांजलि अर्पित करने का समय नहीं दिया गया◾केंद्र ने मानी हार, किसान आंदोलन की समाप्ति का हुआ ऐलान, 11 दिसंबर से अन्नदाताओं की होगी घर वापसी ◾केंद्र से किसानों को मिला लिखित दस्तावेज, सिंघु बॉर्डर से हटने लगे टेंट◾लालू के लाल आज होंगे घोड़ी पर सवार, तेजस्वी यादव के सिर पर सजेगा सेहरा, दिल्ली में होगी शादी ◾संविधान सभा की पहली बैठक के 75 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं से किया ये आग्रह ◾लोकसभा में विपक्ष ने उठाया नगालैंड जा रहे कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को रोके जाने का मुद्दा, सरकार पर लगाया ये आरोप ◾दोनों सदनों ने दी CDS रावत को श्रद्धांजलि, साथ ही की देश की सुरक्षा में उनके अहम योगदाम की सराहना ◾दिल्ली : रोहिणी कोर्ट के रूम नंबर 102 में ब्लास्ट, जांच में जुटी पुलिस ◾CDS बिपिन रावत को विपक्ष की श्रंद्धाजलि, निलंबन के खिलाफ आज नहीं होगा धरना प्रदर्शन◾महाराष्ट्र: जन्मदिन पर मिला बड़ा तोहफा, ओमिक्रॉन का पहला मरीज हुआ निगेटिव, अस्पताल से मिली छुट्टी ◾आंदोलन को लेकर आगे की रणनीति पर तभी विचार होगा जब सरकार की तरफ से लिखित में कुछ आएगा : टिकैत◾कुन्नूर हादसा : रक्षा मंत्री ने दोनों सदनों में दिया घटना का ब्यौरा, कहा-तीनों सेना का एक दल कर रहा है जांच ◾Helicopter Crash: हादसे से कुछ सेकेंड पहले का Video, घने कोहरे के बीच दिखाई दिया Mi-17 हेलीकॉप्टर◾हेलीकॉप्टर क्रैश के सर्वाइवर वरुण सिंह की हालत गंभीर, डॉक्टरों ने नहीं दिया आश्वासन, अगले 48 घंटे नाजुक ◾देश में 24 घंटे के दौरान कोरोना के केस में बढ़ोतरी,इतने नए लोगों में हुई संक्रमण की पुष्टि ◾TMC की आंधी के बीच शिवसेना बन रही कांग्रेस का सहारा, UPA में शामिल होने के दिए संकेत ◾Coonoor Helicopter Crash : ब्लैक बॉक्स से खुलेगा हादसे का राज, फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर बरामद◾

कांग्रेस को एक साल बाद मिलेगा नया अध्यक्ष , सितंबर 2022 में होगा प्रेसिडेंट के लिए चुनाव

कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान एक बार फिर राहुल गांधी को मिल सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अगले साल सितंबर में चुनाव हो सकते है। साथ ही आपको यह भी बता दें की कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत ने राहुल गांधी के नाम का प्रस्ताव रखा है। जिस पर G-23 नेताओं समेत सभी सदस्यों ने अपनी सहमति जताई। इससे पहले आज  सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक शुरू हुई।

आपको  बता दें कि ये जानकारी ऐसे समय पर सामने आई है, जब शनिवार को नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हुई।  वहीं, देश की सबसे पुरानी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस के नेतृत्व पर सवाल खड़ा किया। दरअसल, पार्टी अध्यक्ष को लेकर ये मांग इसलिए भी बढ़ गई थी, क्योंकि पंजाब में पार्टी के भीतर सियासी घमासान देखने को मिला था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आज़ाद समेत ‘जी 23’ समूह के कुछ नेताओं की ओर से पिछले दिनों सार्वजनिक रूप दिए जाने की पृष्ठभूमि में शनिवार को उन्होंने उन्हें निशाने पर लिया और नसीहत देते हुए कहा कि वह ही पार्टी की स्थायी अध्यक्ष हैं तथा उनसे बात करने के लिए मीडिया का सहारा लेने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में यह भी बताया कि अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया 30 जून तक पूरी की जानी थी, लेकिन कोरोना महामारी के कारण ही इसे टालना पड़ा। और उन्होंने  कहा कि मुझे आप पूर्णकालिक अध्यक्ष ही मानिए। 

कांग्रेस नेताओं के पार्टी छोड़ने पर सिब्बल ने किया था कटाक्ष

कपिल सिब्बल ने पार्टी की पंजाब इकाई में मचे घमासान और कांग्रेस की मौजूदा स्थिति को लेकर कहा था कि CWC की बैठक बुलाई जानी चाहिए और संगठनात्मक चुनाव होने चाहिए।  सिब्बल ने नेताओं के पार्टी छोड़ने का उल्लेख करते हुए गांधी परिवार पर इशारों-इशारों में कटाक्ष किया कि जो लोग इनके खासमखास थे वो छोड़कर चले गए, लेकिन जिन्हें वे खासमखास नहीं मानते वे आज भी इनके साथ खड़े हैं। दरअसल, सुष्मिता देव, जितिन प्रसाद, लुईजिन्हो फालेरियो और कई अन्य वरिष्ठ नेता पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस छोड़कर दूसरे दलों में शामिल हो गए हैं।   

किसान आंदोलन और जम्मू-कश्मीर में हुई हत्याओं को लेकर सोनिया ने कही ये बात

दूसरी ओर, सोनिया ने बैठक के दौरान बीजेपी नीत केंद्र सरकार किसान आंदोलन और जम्मू-कश्मीर में हो रही हत्याओं को लेकर हमला बोला। सोनिया ने कहा, लखीमपुरी खीरी की घटना बीजेपी की किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी की असल मानसिकता को दिखाती है। ये दिखाती है कि बीजेपी किसान आंदोलन को किस नजरिए से देखती है। इसने दिखाया है कि बीजेपी किसानों द्वारा अपने जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए इस दृढ़ संघर्ष से कैसे निपट रही है।  जम्मू-कश्मीर में हुई हत्याओं की निंदा करते हुए सोनिया ने कहा कि दोषियों को न्याय के कठघरे में लाने और प्रदेश में शांति और सौहार्द बहाल करने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। 

कांग्रेस के 'जी 23' नेताओं से बोलीं सोनिया- फुल टाइम अध्यक्ष की तरह करती हूं काम, मीडिया का सहारा न लें