BREAKING NEWS

FATF ने पाक को ‘ग्रे सूची’ में कायम रखा, कार्रवाई की चेतावनी दी ◾दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को कोर्ट ने सुनाई 6 महीने की सजा, मिली जमानत◾महेंद्रगढ़ रैली में राहुल का प्रधानमंत्री पर वार, बोले-मोदी को नहीं है अर्थव्यवस्था की कोई समझ◾मोदी को डर, 'घेराबंदी' हटने पर कश्मीर में होगा खूनखराबा : इमरान खान◾हिसार में बोले PM मोदी-कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में पहले ही मान ली है हार◾लखनऊ में हिंदू महासभा के पूर्व नेता की कमलेश तिवारी की गोली मारकर हत्या◾महाराष्ट्र : शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, पूछा-70 साल के शासन में जनजातीय समुदाय के लिए क्या किया?◾INX मीडिया मामले में CBI ने पी चिदंबरम के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया◾गोहाना रैली में PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते ही बढ़ जाता है पेट दर्द◾जयाप्रदा का आजम खान पर तंज, बोलीं- उन्हें औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है◾दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में, सप्ताहांत तक भारी गिरावट की उम्मीद ◾PMC बैंक: सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार, कहा- खटखटा सकते हैं हाई कोर्ट का दरवाजा◾CJI गोगोई ने केंद्र से की जस्टिस बोबडे को अगला प्रधान न्यायाधीश बनाने की सिफारिश◾हरियाणा विधानसभा चुनाव : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का महेंद्रगढ़ दौरा रद्द, राहुल करेंगे रैली को संबोधित◾IMF की ताजा रिपोर्ट पर बोली वित्त मंत्री- भारत सबसे तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल◾भाजपा की तरह कांग्रेस का भी बना हाईटेक कार्यालय, 2020 में होगी शिफ्टिंग ◾मध्य प्रदेश की सियासत में 'हेमा के गाल और चील-कौवे' की एंट्री◾सीतारमण का मनमोहन को जवाब- किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ इसे याद करना जरूरी◾कांग्रेस-राकांपा को महाराष्ट्र की जनता सबक देगी : नरेंद्र मोदी◾सोनिया गांधी बोली- कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव से पहले नेता सामूहिक नेतृत्व में काम करें◾

देश

कॉरपोरेट कर दर में कटौती : मोदी-भाजपा ने किया स्वागत, कांग्रेस ने समय पर सवाल उठाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कॉरपोरेट कर की दरें कम किए जाने को ‘‘ऐतिहासिक कदम’’ करार देते हुए कहा कि इससे ‘मेक इन इंडिया’ में बड़ा उछाल आने के साथ ही निवेश भी आकर्षित होगा, वहीं कांग्रेस ने इस फैसले को मोदी के अमेरिका दौरे से जोड़ते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ह्यूस्टन में अपने भाषण से पहले स्टॉक बाजार में उछाल के लिए क्या करेंगे। 

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘कॉरपोरेट कर में कटौती का कदम ऐतिहासिक है । इससे मेक इन इंडिया’ में बड़ा उछाल आयेगा, दुनिया भर से निवेश आकर्षित होगा, निजी क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी एवं रोजगार के अधिक अवसर सृजित होंगे । इसके परिणामस्वरूप 130 करोड़ भारतीयों के लिये बेहतर परिणाम आयेंगे । ’’ 

गौरतलब है कि सरकार ने आर्थिक वृद्धि दर को गति देने के लिये बड़ी घोषणा करते हुए शुक्रवार को कॉरपोरेट कर की प्रभावी दर घटा दी। अब घरेलू कंपनियों के लिये सभी अधिशेषों और उपकर समेत कॉरपोरेट कर की प्रभावी दर 25.17 प्रतिशत होगी। 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि नयी दर इस वित्त वर्ष के एक अप्रैल से प्रभावी होगी। उन्होंने कहा कि दर कम करने तथा अन्य घोषणाओं से राजस्व में सालाना 1.45 लाख करोड़ रुपये की कमी का अनुमान है। 

भाजपा अध्यक्ष एवं गृह मंत्री अमित शाह ने कॉरपोरेट कर की दरें कम किए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि मोदी सरकार भारत को बड़ा विनिर्माण केंद्र बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और इन फैसलों से भारतीय बाजार संभावित निवेशकों के लिये अधिक आकर्षक बनेंगे । 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम को लेकर तंज कसते हुए शुक्रवार को दावा किया कि कोई भी कार्यक्रम उस आर्थिक बदहाली की सच्चाई को नहीं छिपा सकता जिसमें मोदी ने देश को डाल दिया है। 

गांधी ने ट्वीट में तंज करते हुए सवाल किया, ‘‘यह अद्भुत है कि प्रधानमंत्री स्टॉक बाजार में उछाल के लिए अपने ‘हाउडी इंडियन इकॉनमी’ वाले जश्न के दौरान क्या करने जा रहे हैं?’’ 

उन्होंने दावा किया, ‘‘1.4 लाख करोड़ रुपये के साथ ह्यूस्टन का कार्यक्रम अब तक दुनिया का सबसे महंगा कार्यक्रम है। लेकिन कोई भी कार्यक्रम उस आर्थिक बदहाली की हकीकत को नहीं छिपा सकता जिसमें ‘हाउडी मोदी’ ने भारत को डाल दिया है।’’ 

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने विभिन्न वाम दलों के सम्मेलन में कहा, ‘‘मोदी सरकार ने पिछले कुछ महीने में देश के अमीरों को 2.25 लाख करोड़ से ज्यादा की राहत दी है लेकिन किसानों की मदद करने से बचती रही है जो आत्महत्या करने के लिए मजबूर हैं।’’ 

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार का यह कदम डगमगाते शेयर बाजार को संभालने के लिए है, जबकि इससे अर्थव्यवस्था मंदी की मार से बाहर नहीं निकलने वाली है क्योंकि मध्यम वर्ग और वेतनभोगी लोगों को कोई राहत नहीं दी गई है।