BREAKING NEWS

राजस्थान में बढ़ा सियासी बवाल, अशोक गहलोत ने विधायकों की बगावत पर दिया बड़ा बयान◾राजद नेताओं पर जगदानंद सिंह ने लगाई पाबंदिया, तेजस्वी यादव पर टिप्पणी ना करने की मिली सलाह ◾ इयान तूफान के कहर से अमेरिका में हुई जनहानि पर पीएम मोदी ने जताई संवेदना ◾महात्मा गांधी की ग्राम स्वराज अवधारणा से प्रेरित हैं स्वयंपूर्ण गोवा योजना : सीएम सावंत◾उत्तर प्रदेश: अखिलेश यादव पर राजभर ने कसा तंज, कहा - साढ़े चार साल खेलेंगे लूडो और चाहिए सत्ता◾ पीएम मोदी ने गांधी जयंती पर राजघाट पहुंचकर बापू को किया नमन, राहुल से लेकर इन नेताओं ने भी राष्ट्रपिता को किया याद ◾महाराष्ट्र: शिंदे सरकार का कर्मचारियों के लिए नया अध्यादेश जारी, अब हैलो या नमस्ते नहीं 'वंदे मातरम' बोलना होगा◾Gandhi Jayanti: संयुक्त राष्ट्र की सभा में 'प्रकट' हुए महात्मा गांधी, 6:50 मिनट तक दिया जोरदार भाषण◾आज का राशिफल (02 अक्टूबर 2022)◾सीआरपीएफ, आईटीबीपी के नये महानिदेशक नियुक्त किये गये◾दिल्ली सरकार की चेतावनी - अगर सड़कों पर पुराने वाहन चलते हुए पाये गए तो उन्हें जब्त किया जाएगा◾Kanpur Tractor-Trolley Accident : ट्रैक्टर-ट्राली तालाब में गिरने से 22 से ज्यादा लोगों की मौत, PM मोदी और CM योगी ने हादसे पर जताया दुख◾Madhya Pradesh: कलेक्टर के साथ अभद्र व्यवहार करने पर, बसपा विधायक रामबाई परिहार के खिलाफ मामला दर्ज◾मनसुख मांडविया बोले- ‘रक्तदान अमृत महोत्सव’ के दौरान ढाई लाख लोगों ने रक्त दान किया◾उपमुख्यमंत्री सिसोदिया बोले- हर बच्चे के लिए मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की व्यवस्था जरूरी◾इदौर ने दोबार रचा इतिहास, लगातार छठी बार बना देश का सबसे स्वच्छ शहर, जानें 2nd, 3rd स्थान पर कौन रहा◾मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने 100 साल पार के बुजुर्ग मतदाताओं को लिखा पत्र, चुनाव में हिस्सा लेने के लिए जताया आभार◾UP News: यूपी के चंदौली में हादसा, दीवार गिरने से चार मजदूरों की मौत, नींव से ईट निकालने का हो रहा था काम ◾Congress President Election: केएन त्रिपाठी का नामांकन पत्र खारिज, अब खड़गे-थरूर के बीच महामुकाबला ◾Baltic Sea : बाल्टिक सागर में मीथेन लीक होने से भारी विस्फोट, UN ने जताई चिंता◾

चालू वित्त वर्ष में देश के निर्यात में ‘‘उचित स्तर’’ की वृद्धि होने की संभावना : पीयूष गोयल

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि व्यापार के मोर्चे पर वैश्विक अनिश्चितताओं के बावजूद चालू वित्त वर्ष में देश के निर्यात में ‘‘उचित स्तर’’ की वृद्धि होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि स्पष्ट रूप से अंतरराष्ट्रीय व्यापार में वैश्विक मंदी के संकेत हैं और भारत सभी निर्यात संवर्धन परिषदों और बड़े निर्यातकों से बात करके घटनाक्रम पर सतर्क नजर रख रहा है।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि मौजूदा वैश्विक स्थिति में ‘‘हमारा निर्यात मूल्य प्रतिस्पर्धा और गुणवत्ता के आधार पर बढ़ेगा... हम जमीनी हकीकत के आधार पर निर्यात के अनुमानों को जांचेंगे।’’ यह पूछने पर कि क्या मौजूदा परिस्थितियों में 2022-23 के लिए 450 अरब अमेरिकी डॉलर या 500 अरब अमेरिकी डॉलर मूल्य के माल निर्यात का लक्ष्य महत्वाकांक्षी दिखता है, उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के लिए अभी तक कोई अंतिम आंकड़ा या निर्यात लक्ष्य तय नहीं किया है और सभी हितधारकों से परामर्श के बाद इस बारे में निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘पूरी दुनिया गंभीर चुनौतियों का सामना कर रही है, कोविड अभी खत्म नहीं हुआ है... भू-राजनीतिक स्थितियां अनुकूल नहीं हैं। दुनिया भर में मुद्रास्फीति चिंता का विषय है, पेट्रोलियम उत्पाद अभी भी उच्च स्तर पर हैं, खाद्य सुरक्षा चिंताएं भी हैं। हमें दुनिया के कई हिस्सों में उर्वरक की कमी की सूचना भी मिली है।’’

गोयल ने कहा, ‘‘इस चुनौतीपूर्ण वक्त में सच्चाई यह है कि भारत ने खुद को संरचनात्मक रूप से तैयार किया है। निर्यात बढ़ाने के लिए हमारी बुनियादी तैयारी और क्षमता मजबूत हुई है। इसलिए पिछले साल के मुकाबले उचित स्तर की वृद्धि की उम्मीद है।’’