BREAKING NEWS

सचिन पायलट की अध्यक्ष पद से बर्खास्ती के बाद गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपा गया कार्यभार◾कांग्रेस के एक्शन के बाद सचिन पायलट ने किया ट्वीट- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन ने पैंगोग झील, देपसांग से सैनिकों को हटाने पर की वार्ता ◾कांग्रेस का सचिन पायलट पर बड़ा एक्शन, प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से किया बर्खास्त◾राजस्थान के मौजूदा संकट के लिए उमा भारती ने कांग्रेस और राहुल को बताया जिम्मेदार◾केजरीवाल ने प्लाज्मा बैंक का किया उद्धाटन, बोले- दिल्ली में कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों को प्लाज्मा मिला ◾CBSE 10वीं का रिजल्ट कल होगा जारी, HRD मंत्री पोखरियाल ने की घोषणा ◾अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावे को किया खारिज, कही ये बात◾पायलट का गहलोत के खिलाफ बगावती सुर बरकरार, मनाने में जुटा कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व◾कानपुर मुठभेड़ : एक और आरोपी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस को विकास दुबे के घर पर मिली AK-47◾भगवान राम को नेपाली बताने वाले बयान पर भड़के सिंघवी, बोले-ओली का बिगड़ गया है मानसिक संतुलन◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के पार, अब तक 24 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान ◾दुनियाभर में कोरोना का कहर, वैश्विक महामारी से संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 30 लाख से अधिक हुई ◾राहुल ने किया ट्वीट- इस हफ्ते हमारे देश में आंकड़ा 10,00,000 पार कर जाएगा◾आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में फार्मा कारखाने में लगी आग, एक घायल ◾राजस्थान : कांग्रेस विधायक दल की दूसरी बैठक आज, सचिन पायलट नहीं होंगे शामिल ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच आज होगी उच्च स्तरीय वार्ता ◾नेपाल के पीएम ओली का बेतुका बयान, कहा - भगवान राम नेपाली है और भारत की अयोध्या है नकली◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,246 नए केस◾राजस्थान में जारी सियासी उठापटक पर भाजपा ने कहा- विधायकों की गिनती के लिए सड़क या होटल नहीं, विधानसभा उपयुक्त स्थान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

न्यायालय का UP बार काउंसिल के नेता की हत्या मामले में CBI जांच कराने की याचिका पर विचार से इंकार

उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश सिंह यादव की आगरा में दीवानी अदालत परिसर में गोली मार कर हत्या के मामले की सीबीआई जांच के लिये दायर याचिका पर विचार से इंकार कर दिया। न्यायालय ने याचिकाकर्ता से कहा कि इसके लिये उसे इलाहाबाद उच्च न्यायालय जाना चाहिए। 

न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति बी आर गवई की अवकाशकालीन पीठ ने कहा कि जहां तक बार की नेता की हत्या के मामले का सवाल है तो इसके लिये याचिकाकर्ता को उच्च न्यायालय जाना होगा। 

पीठ ने याचिका में की गयी प्रार्थनाओं का जिक्र करते हुये कहा कि अधिकांश उस घटना से संबंधित हैं जिसमे उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। 

याचिकाकर्ता के वकील ने जब दिल्ली की एक अदालत परिसर की घटना का हवाला दिया तो पीठ ने कहा, ‘‘कृपया आप पूरी तैयारी कीजिये। इसके लिये अलग से याचिका दायर करें। आपकी प्रार्थनायें मूलरूप से एक घटना के संबंध में हैं। आप अधिकार क्षेत्र वाले उच्च न्यायालय जायें।’’ 

याचिकाकर्ता ने जब यह कहा कि याचिका में महिला अधिवक्ताओं की सुरक्षा का मुद्दा उठाया गया है तो पीठ ने कहा, ‘‘क्या उच्च न्यायालय इस पर विचार और राहत देने में शक्तिहीन है।’’ पीठ ने याचिकाकर्ता को संबंधित उच्च न्यायालय जाने की छूट प्रदान की है। 

उप्र बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष दरवेश यादव को एक अन्य वकील मनीष शर्मा ने 14 जून को न्यू आगरा में दीवानी अदालत परिसर में तीन गोलियां मारी थीं और इसके बाद खुद को भी गोली मार ली थी। दरवेश यादव को गोली मारने वाला वकील मनीष शर्मा उनका पुराना परिचित था। 

शीर्ष अदालत में अधिवक्ता इन्दु कौल ने यह याचिका दायर कर बार काउंसिल आफ इंडिया को महिला अधिवक्ताओं के लिये सामाजिक सुरक्षा उपाय तैयार करने का निर्देश देने का अनुरोध किया था।