BREAKING NEWS

दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾दिल्ली अग्निकांड : दमकलकर्मी ने इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया ◾दिल्ली अग्निकांड : इमारत का पिछले हफ्ते हुआ था सर्वेक्षण, ऊपरी मंजिलों पर ताला लगा हुआ था - अधिकारिक सूत्र◾नागरिकता संशोधन विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश करेंगे शाह◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾देश में आग की नौ बड़ी घटनाएं ◾भाजपा पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस पहले 70 साल का हिसाब दे : स्मृति इरानी◾PM मोदी ने पुणे के अस्पताल में अरुण शौरी से मुलाकात की◾दिल्ली अनाज मंडी हादसा में फैक्ट्री मालिक हिरासत में◾TOP 20 NEWS 8 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PM मोदी ने दक्षेस चार्टर दिवस पर सदस्य देशों के लोगों को दी बधाई ◾संसद में नागरिकता विधेयक का पारित होना गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की होगी जीत : शशि थरूर◾अनाज मंडी हादसे के लिए दिल्ली सरकार और MCD जिम्मेदार: सुभाष चोपड़ा◾दिल्ली आग: PM मोदी ने की मृतक के परिवारों के लिए 2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा◾दिल्ली आग: दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ दर्ज किया मामला◾

देश

न्यायालय अवैध बांग्लादेशियों और रोहिंग्या को वापस भेजने के लिये याचिका पर करेगा सुनवाई

 high court

उच्चतम न्यायालय बृहस्पतिवार को बांग्लादेश के नागिरकों और रोहिंग्या सहित सभी अवैध घुसपैठियों की पहचान कर उन्हें वापस भेजने के लिये दायर याचिका पर सुनवाई के लिये सहमत हो गया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने भाजपा और अधिवक्ता अश्विनी कुमार उपाध्याय के इस कथन पर गौर किया कि 2017 में यह याचिका दायर की गयी थी और अब इसे सुनवाई के लिये शीघ्र सूचीबद्ध किया जाये। 

पीठ ने कहा, ‘‘यह याचिका नौ जुलाई को सूचीबद्ध की जायेगी।’’ उपाध्याय ने अपनी याचिका में केन्द्र के इस रूख का समर्थन किया है कि भारत में गैरकानूनी तरीके से रहने वाले करीब 40,000 रोहिंग्या मुसलमानों को वापस म्यामां भेजा जाये। याचिका में केन्द्र और राज्य सरकारों को सभी अवैध प्रवासियों और घुसपैठियों की पहचान करने, हिरासत में लेने और वापस उनके देश भेजने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है। 

याचिका के अनुसार बड़ी संख्या में अवैध प्रवासियों, विशेषकर म्यामां और बांग्लादेश से आये लोग, सीमावर्ती जिलों की जनसांख्यिकी संरचना के लिये खतरा हैं बल्कि इससे देश की सुरक्षा और अखंडता को भी गंभीर चुनौती पैदा हो गयी है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि एजेन्टों और दलालों के मार्फत इन अवैध रोहिंग्या मुसलमानों की पश्चिम बंगाल के बेनापोल-हरिदासपुर, त्रिपुरा के सोनामोरा, कोलकाता और गुवाहाटी के रास्ते म्यामां से सुनियोजित तरीके से घुसपैठ करायी जा रही है। 

दिल्ली में छाए बादल, अगले 2 घंटों में हल्की बारिश होने की संभावना