BREAKING NEWS

रो-कर बागियों को वापस लौटने की अपील करने वाले विधायक शिंदे गुट में शामिल◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नही होगी - यशवंत सिन्हा ◾राष्ट्रपति चुनाव : मुर्मू संकल्प ले वह निर्वाचित होने के बाद ‘रबर स्टाम्प राष्ट्रपति’ नही होगी - यशवंत सिन्हा ◾दिल्ली में दरिंदों ने की हदपार! लक्ष्मीनगर इलाके में 7 साल की बच्ची के साथ किया कुर्कम, पॉस्कों एक्ट के तहत दर्ज मामला◾ PM Modi security breach : पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक, चॉपर के उड़ान भरते ही आसमान में उड़ाए गए काले गुब्बारे ◾Punjab News: मान ने पंजाब कैबिनेट का किया विस्तार, इन पांच विधायकों ने ली मंत्री पथ की शपथ ◾मीडिया का परिदृश्य पिछले कुछ सालों में बदल गया......., बोले केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ◾RCP Singh: भाजपा को बड़ा झटका! केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह BJP में नहीं हुए शामिल ◾आप आग से नहीं खेल सकते... नूपुर शर्मा को करें गिरफ्तार! CM ममता ने फिर उठाई कड़ी कार्रवाई की मांग ◾ खाली हाथ रह गया उद्धव गुट, अजीत पवार को चुना गया महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ◾ ज्ञानवापी केस : जिला अदालत में सुनवाई टली, 12 को पक्ष रखेंगे मुस्लिम अधिवक्ता ◾Punjab Board Result 2022: पंजाब में कल छात्र-छात्राओं का अहम दिन, जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस लिंक पर करें चेक◾ यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है - सीटी रवि ◾शरद के बाद कांग्रेस ने भी शिंदे सरकार को लेकर की भविष्यवाणी, कहा - लंबे समय तक नही़ टिकेगी सरकार ◾महाराष्ट्र में 'कानून का शासन' नहीं, शिवसेना बोली- BJP का स्पीकर चुनाव जीतना हैरानी की बात नहीं... ◾राम रहीम को लेकर याचिकाकर्ता पर भड़का हाईकोर्ट, कहा - ये फिल्म चल रही है क्या ◾गुजरात को भी बनाएंगे दिल्ली और पंजाब मॉडल, केजरीवाल बोले- 300 यूनिट तक देंगे मुफ्त बिजली, भाजपा पर भी साधा निशाना◾दिल्ली में विधायकों के वेतन में 66 प्रतिशत की होगी वृद्धि, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक ◾शिंदे के सीएम बनने पर दिग्विजय ने सिंधिया पर ली सियासी चुटकी ◾कन्हैयालाल, उमेश कोल्हे... अगला नबंर किसका? नागपुर में भी नूपुर शर्मा के समर्थन में युवक को मिली धमकियां, सदमें में परिवार◾

कोविड-19 के आगामी 14 दिन में पीक पर पहुंचने की संभावना: IIT विश्लेषक

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में फिर उछाल दर्ज किया गया है। इसलिए पाबंदियों में ढील की उम्मीद कम है।देशभर में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस  के कुल 3 लाख 33 हजार, 533 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में अब तक कुल कोविड संक्रमितों की संख्या बढ़कर अब 3 करोड़ 92 लाख, 37 हजार 264 हो गई है। पिछले 24 घंटों में देशभर में कुल 525 लोगों की कोविड से मौत भी हुई है। अबतक देश में कोविड से कुल 4 लाख 89 हजार 409 लोगों की मौत हो चुकी है। आज के आंकड़े में केरल के 62 मामले बैकलॉग आंकड़े के तौर पर भी जुड़े हैं।

इसी बीच भारत में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की दर बताने वाली ‘आर-वैल्यू’ 14 जनवरी से 21 जनवरी के बीच और कम होकर 1.57 रह गई है और देश में संक्रमण की तीसरी लहर के आगामी पखवाड़े में चरम पर पहुंचने की संभावना है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास के प्रारंभिक विश्लेषण में यह जानकारी दी गई। ‘आर-वैल्यू’ बताती है कि एक व्यक्ति कितने लोगों को संक्रमित कर सकता है। यदि यह दर एक से नीचे चली जाती है तो यह माना जाता है कि वैश्विक महामारी समाप्त हो गई है। 

आईआईटी मद्रास विश्लेषण के अनुसार, 14 जनवरी से 21 जनवरी के बीच आर-वैल्यू 1.57 दर्ज की गई, जो सात से 13 जनवरी के बीच 2.2, एक से छह जनवरी के बीच चार और 25 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच 2.9 थी।  प्रोफेसर नीलेश एस उपाध्याय और प्रोफेसर एस सुंदर की अध्यक्षता में आईआईटी मद्रास के गणित विभाग और सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर कम्प्यूटेशनल मैथमैटिक्स एंड डेटा साइंस ने कम्प्यूटेशनल मॉडलिंग के जरिए प्रारंभिक विश्लेषण किया। आंकड़ों के अनुसार, मुबंई की आर-वैल्यू 0.67, दिल्ली की आर-वैल्यू 0.98, चेन्नई की आर-वैल्यू 1.2 और कोलकाता की आर-वैल्यू 0.56 है। 

आईआईटी मद्रास के गणित विभाग में सहायक प्रोफेसर डॉ. जयंत झा ने बताया कि मुंबई और कोलकाता की आर-वैल्यू दर्शाती है कि वहां महामारी का चरम समाप्त हो गया है, जबकि दिल्ली और चेन्नई में यह अब भी एक के करीब है। 

उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘इसका कारण यह हो सकता है कि आईसीएमआर (भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद) के नए दिशानिर्देशों के अनुसार संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाने की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है और इसलिए पहले की तुलना में संक्रमण के कम मामले सामने आ रहे हैं।’’ 

झा ने बताया कि उनके विश्लेषण के अनुसार, कोरोना वायरस का चरम छह फरवरी तक आगामी 14 दिन में आ जाएगा। इससे पहले पूर्वानुमान जताया गया था कि एक फरवरी से 15 फरवरी के बीच तीसरी लहर का चरम आएगा। भारत में रविवार को संक्रमण के 3,33,533 नए मामले सामने आने के बाद, संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 3,92,37,264 हो गई। तीसरी लहर का मुख्य कारण कोविड-19 के ओमीक्रोन स्वरूप को माना जा रहा है।