BREAKING NEWS

राज्य सरकारों के अनुरोध पर बढ़ सकती है लॉकडाउन की अवधि, केंद्र कर रही है विचार◾कोरोना को मात देने के लिए केजरीवाल सरकार ने बनाई खास '5T' योजना, होगा महामारी का सफाया◾कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोविड-19 से निपटने की दी सलाह◾महबूबा मुफ्ती को जेल से स्थानांतरित कर भेजा गया घर, PSA के तहत जारी रहेगी हिरासत◾मलेरिया रोधी दवा पर हटी पाबंदी को लेकर राहुल बोले- सभी देशों की करनी चाहिए मदद लेकिन पहले भारतीयों को कराया जाए मुहैया◾शर्मनाक : नरेला में 2 जमातियों ने क्वारनटीन सेंटर के दरवाजे पर किया शौच, दर्ज हुई FIR◾दुनियाभर में मलेरिया रोधी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की मांग के बीच मोदी सरकार ने आपूर्ति पर हटाया प्रतिबन्ध◾UP के बागपत में अस्पताल से फरार हुआ कोरोना पॉजिटिव जमाती, प्रशासन में मचा हड़कंप◾Coronavirus : विश्व में लगभग 14 लाख पॉजिटिव केस आए सामने वहीं 74,000 के करीब पहुंचा मौत का आंकड़ा◾कोविड-19 : देश में 4,421 संक्रमित मामलों की पुष्टि , पिछले 24 घंटे में हुई 5 मौत◾भारत से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की आपूर्ति पर ट्रम्प बोले- भेजेंगे तो सराहनीय वरना करेंगे आवश्यक कार्रवाई◾विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर PM मोदी ने किया ट्वीट,लिखा-फिर मुस्कुराएगा इंडिया और फिर जीत जाएगा इंडिया◾जम्मू-कश्मीर में LOC के पास आज सुबह पाकिस्तान ने की गोलीबारी, सेना की जवाबी कार्रवाई जारी ◾चीन से आई कोविड-19 की अच्छी खबर, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से नहीं हुई किसी भी व्यक्ति की मौत ◾coronavirus : तमिलनाडु में कोविड-19 से 621 लोग संक्रमित, 574 मामलें तबलीगी जमात से जुड़े◾Coronavirus : तेलंगाना मुख्यमंत्री कार्यालय की सफाई, कहा- सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की सलाह दी लेकिन कोई घोषणा नहीं ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : तबलीगी जमात से जुड़े 1,445 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, 25 हजार से अधिक एकांतवास में◾दिल्ली में कोरोना से अब तक 523 लोग हुए संक्रमित, पिछले 24 घंटे में 20 नए मामले आए सामने ◾कोरोना से हुई कुल मौतों में 73 प्रतिशत पुरुष जबकि 27 प्रतिशत महिलाएं : स्वास्थ्य मंत्रालय◾केंद्र का बड़ा फैसला, PM सहित कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों के वेतन में 30 फीसदी की होगी कटौती◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मुरैना में कर्फ्यू में ढील : स्थिति सामान्य

मुरैना : पिछले कई दिनों से कर्फ्यू का शब्द सुनकर लोग भयभीत हो जाते हैं लोग अपनी दिनचर्या तो दूर उनका बाहर निकलना भी दुसबार हो गया था। लगातार 2 अप्रैल के बाद कर्फ्यू नहीं हटाया गया, कुछ समय के लिए प्रतिरोज ढील दी जाती रही। 10 अप्रैल के बंद के आव्हान को मद्दे नजर रखते हुए प्रशासन ने कर्फ्यू की स्थिति को और अधिक सख्ती दे दी। जिस कारण से बीते रोज लोगों की स्थिति काफी गंभीर हो गई।

स्टेशन से आने वाले जरूरतमंद लोगों को काफी मशक्कत झेलनी पड़ी। लेकिन यह बात प्रशासन के समझ में आई तो उन्होंने 11 अप्रैल बुधवार को प्रात: 6 बजे से रात 10 बजे तक कर्फ्यू में ढील दे दी। जिससे आम आदमी को काफी सुकुन मिला। दिन में बाजार खुले लोगों ने शादी विवाह की खरीद फरोक्त की और जरूरतमंद कार्यों को किया।

बैंक भी खुले रहे, लोगों ने लेनदेन किया तथा नेट रात 12 बजे से प्रारंभ कर दिया गया था, जिससे लोगों को मैसेज देने में कोई परेशानी नहीं आई। होटल, स्कूल, कॉलेज, शासकीय कार्यालय खुले रहे लोगों ने अपने कार्यों को सम्पन्न किया। दिनभर लोगों का आना-जाना लगा रहा। स्टेशन और बस स्टेण्ड पर यात्रियों की बसें ऑटो, टैम्पू, रिक्शा भी संचालित रहे। इन सामान हालातों में लोगों ने काफी राहत मेहसूस की।

वहीं कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने हाल ही में आदेश जारी कर बुधवार से ही कर्फ्यू समाप्त कर दिया है, लेकिन धारा 144 लागू रहेगी। वहीं जिले के अम्बाह, पोरसा, सबलगढ, कैलारस, जौरा में पूर्व से ही कर्फ्यू जैसे हालात नहीं थे और न ही यहां कर्फ्यू लगाया गया, बुधवार को भी जिले में स्थिति सामान्य रही। इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों ने यह निर्णय लिया कि आगामी आदेश तक निषेध आज्ञा जारी रहेगी।

सुकुन का माहौल प्रशासन की कामयाबीहम भी भयभीत थे, माहौल भी दहशतजदा था, 2 अप्रैल का दृश्य लोगों की आंखों में छाया था। प्रशासन पुर्नावृति को रोकने के लिए मजबूर था, इसलिए कर्फ्यू-कर्फ्यू पर सवार होकर शासन ने कानून का डण्डा जमकर चलाया। व्यवस्थाएं प्रभावित हुई लेकिन घटनाएं रूकीं।

प्रशासन की मुस्तैदी में कमीश्नर एमके अग्रवाल, आईजी संतोष कुमार, कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार, पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह के निर्णय काफी दिलचस्प रहे, हां इतना अवश्य लोग चर्चा में कहते रहे कि कभी 9 बजे, कभी 6 बजे समय का आदेश सदैव आगे पीछे होता रहा। लेकिन सुकुन का माहौल प्रशासन की कामयाबी है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये की पंजाब केसरी अन्य रिपोर्ट