BREAKING NEWS

भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कहा- गजनी, गोरी ने हिंदुओं की आस्था पर प्रहार किया, वही कार्य सपा प्रमुख कर रहे◾मध्यप्रदेश में खेलो इंडिया’यूथ गेम्स 2022 का भव्य आगाज, 6000 खिलाड़ी करेंगे शिरकत◾अडानी पर हिंडनबर्ग का हमला, कहा- 'धोखाधड़ी को राष्ट्रवाद से ढका नहीं जा सकता'◾1 फरवरी को संसद के पटल पर होगा बजट पेश, 'लोगों को काफी उम्मीदें'◾राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾पाकिस्तान की जनता पर टूटा दुखों का पहाड़, पेट्रोल, डीजल के दाम 35-35 रुपये लीटर बढ़े◾

Defense Ministry ने कहा: पूर्व-अग्निवीरों को तैनात करने के लिए इच्छुक हैं कंपनियां

अग्निवीरो को लेकर रक्षा मंत्रालय ने औपचारिक रूप से कहा कि देश में रक्षा क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों के पूर्व  अग्निवीरों को  सेना में अपनी सेवा को पूरा करने के बाद तैनात करने के लिए पूर्ण रूप से उत्सुक थी। अभी कुछ ही महीनों पहले अग्निवीर को लाया गया है जिसमें युवा देश के अग्निवरी बनेंगे और चार साल में सेवानिवृत्त भी हो जाएंगे। 

मंत्रालय ने अग्निवीर को लेकर कही यह बात 

 रक्षा मंत्रालय ने पूर्व-अग्निीवरों के रोजगार के अवसरों के लिए भारतीय रक्षा उद्योग के साथ एक नौकरी उन्मुख बातचीत शुरू की है। रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि मंत्रालय के साथ बातचीत के दौरान कंपनियों ने सशस्त्र बलों के साथ अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद पूर्व-अग्निवीरों को तैनात करने की उत्सुकता व्यक्त की।

भारतीय रक्षा उद्योग के साथ सत्र की अध्यक्षता रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने ने की। एल एंड टी, अदानी डिफेंस लिमिटेड, टाटा एडवांस्ड सिस्टम लिमिटेड, अशोक लेलैंड और अन्य सहित प्रमुख भारतीय रक्षा उद्योग घरानों के वरिष्ठ अधिकारियों ने चर्चा में भाग लिया।

अग्निवीरों को आरक्षण का वायदा, जानें- पूर्व सैनिकों को कितनी नौकरियां दे  पाती है सरकार - agnipath scheme protest agniveer reservation in  paramilitary force defence ministry ex ...

रक्षा मंत्रालय के अनुसार कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों ने प्रयास में अपने निरंतर समर्थन और प्रतिबद्धता से अवगत कराया और पहले बैच के सशस्त्र बलों के साथ अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद पूर्व-अग्निवीरों को तैनात करने की उत्सुकता व्यक्त की। उन्होंने आश्वासन दिया कि उपलब्ध कौशल के आधार पर अग्निवीरों के लिए आरक्षण के लिए उनकी भर्ती नीतियों में उपयुक्त प्रावधान किए जाएंगे। उद्योग की आवश्यकताओं के साथ अग्निवीरों द्वारा सीखे गए कौशल को जोड़ने के संबंध में कुछ सुझावों पर भी विचार किया गया।

भारतीय रक्षा निर्माताओं से अपनी प्रतिबद्धता पर कार्य करना

रक्षा सचिव ने राष्ट्र निर्माण में लगे विभिन्न क्षेत्रों में अत्यधिक समर्पित और अनुशासित युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से सशस्त्र बलों के साथ अपने कार्यकाल के बाद अग्निवीरों की विशेषज्ञता का लाभ उठाने के लिए सरकार के प्रयास पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों के साथ अपने जुड़ाव के दौरान अग्निवीरों द्वारा प्राप्त कौशल एक उच्च सक्षम और पेशेवर कार्यबल बनाने में मदद करेगा जो उद्योग द्वारा उपयोगी और उत्पादक जुड़ाव के लिए आसानी से उपलब्ध होगा। रक्षा सचिव ने प्रतिभागियों से उत्साहजनक प्रतिक्रिया को स्वीकार करते हुए भारतीय रक्षा निर्माताओं से अपनी प्रतिबद्धता पर कार्य करने और कॉपोर्रेट भर्ती योजनाओं के तहत जल्द से जल्द नीतिगत घोषणा करने का आग्रह किया।

अधिकारी ने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने भारतीय रक्षा उद्योग के साथ इस बातचीत का आयोजन सोसाइटी ऑफ इंडियन डिफेंस मैन्युफैक्च र्स के तत्वावधान में कंपनियों की कॉपोर्रेट भर्ती योजना के तहत पूर्व-अग्निवीरों के लाभकारी रोजगार के अवसरों की तलाश के लिए किया।देश के अलग-अलग हिस्सों में नेवी, आर्मी और एयरफोर्स में 'अग्नीवीर' की भर्ती की जा रही है। उम्मीदवार, जो भारतीय सशस्त्र बलों में अग्निपथ भर्ती के लिए आवेदन करने में रुचि रखते हैं, वेबसाइट पर अपने आवेदन जमा कर सकते हैं।