BREAKING NEWS

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अभिभाषण में गिनाई मोदी सरकार की उपलब्धियां, बजट सत्र की हुई शुरुआत ◾जानिये कौन है उमर खालिद, जिसकी मौत का बदला लेने के लिए TTP ने दहला दिया पाकिस्तान◾Bihar Murder case : बीजेपी से जुड़े रिटायर्ड प्रोफेसर दंपत्ति की हत्या, घर से शव बरामद◾महिला शिष्या से बलात्कार मामले में आज हो सकता आसाराम की सजा का ऐलान, 2014 से चल रहा है मामला ◾ Delhi : CM केजरीवाल को जान से मारने की धमकी मिलने के बाद राजधानी में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला ◾Budget 2023: आर्थिक सर्वेक्षण में क्या होता है ख़ास? बजट से पहले क्यों किया जाता है पेश, जानिए पूरा इतिहास ◾भारत जोड़ो यात्रा के बावजूद विपक्ष को एक सूत्र में बांध नहीं सके राहुल गांधी, जानिये अब क्या है आगे का प्लान ◾भारत जोड़ो यात्रा के बावजूद विपक्ष को एक सूत्र में बांध नहीं सके राहुल गांधी, जानिये अब क्या है आगे की◾ग्रेटर नोएडा ऑथॉरिटी ने 49 कर्मचारियों की सेवाओं को किया समाप्त ◾लखनऊ : मां-बेटे पर तेज़ाब से हमला, आठ साल से थे समलैंगिक रिलेशनशिप ◾महिला सहायता कर्मियों पर तालिबान का प्रतिबंध कई मानवीय कार्यक्रमों को समाप्त करने के समान : संयुक्त राष्ट्र◾महाराष्ट्र सरकार ने रेलवे परियोजनाओं की 50 फीसदी लागत खर्च नहीं करने के अपने फैसले को पलटा◾अमित शाह ने गणतंत्र दिवस परेड पुरस्कार जीतने पर CRPF और सशस्त्र बलों को दी बधाई ◾मल्लिकार्जुन खड़गे और कई सांसद राष्ट्रपति के अभिभाषण में शामिल नहीं होंगे शामिल, कांग्रेस ने बताई ये वजह◾दिल्ली जलबोर्ड लाएगी एक महीने के भीतर पानी के बिल के लिए एकमुश्त समाधान की योजना◾Ghaziabad Crime : फाइव स्टार होटल के शेफ को ऑटो में बिठाकर की लूटपाट◾बाइडेन ने यूक्रेन को लड़ाकू विमान देने से किया इनकार, कहा- भेजने की मंजूरी नहीं◾आज का राशिफल (31 जनवरी 2022)◾नब किशोर दास हत्याकांड: भाजपा ने CBI जांच व कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की◾श्रमिक संगठनों ने साल के अंत तक देशव्यापी हड़ताल का लिया संकल्प, मोदी सरकार पर लगाए ये आरोप ◾

दिल्ली पुलिस को मिली सफलता, Bulli bai एप के मुख्य साजिशकर्ता को किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ स्पेशल सेल का दावा है कि उसने विवादित बुल्ली बाई एप मामले में उसने मुख्य आरोपी को असम से गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशन्स यूनिट (आईएफएसओ) ने बताया है कि उसने मुख्य साजिशकर्ता और गिटहब पर बुल्ली बाई एप बनाने वाले और बुल्ली बाई का मुख्य ट्विटर हैंडल संभालने वाले शख्स को असम से गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान नीरज बिश्नोई(21) के रूप में हुई है।

आरोपी नीरज दिगंबर जोरहाट असम का रहने वाला है। नीरज ने वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भोपाल से बीटेक द्वितीय वर्ष(कंप्यूटर साइंस) तक की पढ़ाई की है। आईएफएसओ की टीम आरोपी को लेकर दोपहर 3.30 बजे तक दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचेगी, जिसके बाद इस मामले में ज्यादा जानकारी मिलने की संभावना है।

1 जनवरी को सामने आया था मामला

बता दें कि यह मामला सबसे पहले एक जनवरी को सामने आया। आरोपियों ने कई मुस्लिम महिलाओं की फोटो को एडिट कर GitHub प्लेटफॉर्म पर बने 'बुली बाई ऐप' पर ऑक्शन के लिए डाला था। इसमें उन महिलाओं को टारगेट किया गया था, जो सोशल रूप से काफी एक्टिव हैं। इनमें जर्नलिस्ट, एक्टिविस्ट और लॉयर शामिल हैं। इसके बाद वेस्ट मुंबई साइबर पुलिस स्टेशन में इस मामले में रविवार को अज्ञात आरोपी के खिलाफ IT एक्ट और IPC की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है। मुंबई पुलिस ने इस FIR में IPC की धारा 153-ए (धार्मिक आधार पर दो समुदायों के बीच भेदभाव को बढ़ाना), 153-बी (जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने की कोशिश करना), 354-डी (पीछा करना), 509 (महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने की नीयत वाले शब्द या व्यवहार का उपयोग करना) और 500 (आपराधिक मानहानि) शामिल की गई हैं। साथ ही IT एक्ट की धारा 67 (इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में आपत्तिजनक मटीरियल पब्लिश करना या भेजना) भी शामिल की गई है।

क्या है Bulli Bai App

'Bulli Bai' एक ऐसा एप्लिकेशन है जो Github एपीआई पर होस्ट किया जाता है और 'Sulli Deal' ऐप के समान काम करता है। ऐप मुस्लिम महिलाओं को सोशल मीडिया पर लोगों के लिए 'सौदे' के रूप में पेश करता है। जबकि बुल्ली बाई के ट्विटर हैंडल को निलंबित कर दिया गया है, इसके बायो में लिखा था, 'बुली बाई खालसा सिख फोर्स (KSF) द्वारा एक समुदाय द्वारा संचालित ओपन-सोर्स ऐप है।