BREAKING NEWS

आज का राशिफल (26 सितम्बर 2020)◾बिहार चुनाव में NDA को जीत का अनुमान : सर्वे ◾बिहार विधानसभा चुनाव में NDA ने सेट किया तीन चौथाई बहुमत का टारगेट◾UN में भाषण के दौरान पाक PM इमरान खान ने RSS और कश्मीर का मुद्दा उठाया, भारत ने किया बायकॉट◾CSK vs DC (IPL 2020) : दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 44 रन से हराया◾UP में विधानसभा उपचुनाव के लिये राजनीतिक दलों ने कसी कमर◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट, संक्रमितों का आंकड़ा 13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 17,794 नए केस◾IPL-13: पृथ्वी शॉ का तूफानी अर्धशतक, दिल्ली ने चेन्नई के सामने रखा 176 रनों का लक्ष्य◾कोविड-19 : हर्षवर्धन ने बोले- देश की स्वास्थ्य सेवा से मृत्यु दर न्यूनतम और ठीक होने की दर अधिकतम रही◾राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार पर रत्ती भर भी भरोसा नहीं ◾IPL 2020 CSK vs DC: चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾यस बैंक केस : ED ने राणा कपूर की लंदन में स्थित 127 करोड़ की संपत्ति को किया जब्त◾बिहार चुनाव घमासान : महागठबंधन में बदले 'निजाम', सीटों के बंटवारे को लेकर NDA में तकरार ◾भारत की कोई मांग नहीं होगी स्वीकार, कुलभूषण की किस्मत पाकिस्तानी अदालतों के हाथों में : पाक ◾मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, महेश बाबू, एआर रहमान व लता मंगेशकर ने व्यक्त किया दुःख ◾कोरोना के साये में कुछ ऐसा होगा बिहार चुनाव, कोविड-19 रोगियों के लिए विशेष प्रोटोकॉल हुआ तैयार◾बिहार में तीन चरणों में होगा विधानसभा चुनाव, 10 नवंबर को होगा नतीजे का ऐलान : चुनाव आयोग ◾कृषि बिल पर विपक्ष बोल रहा है झूठ, किसानों के कंधे पर रखकर चला रहे हैं बंदूक : पीएम मोदी ◾पीएम मोदी , अमित शाह और जेपी नड्डा ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय को जयंती पर किया नमन◾कृषि बिल को लेकर राहुल और प्रियंका का केंद्र पर वार- नए कानून किसानों को गुलाम बनाएंगे ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केलो परियोजना में विवाद की स्थिति उत्पन्न

रायगढ़ : छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले की महत्वाकांक्षी केलो सिंचाई परियोजना के नहर के लिए अधिग्रहित भूमि पर वन विभाग द्वारा वृहद स्तर पर वृक्षारोपण करने विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई है। राज्य शासन द्वारा जिले की सबसे बड़ केलो परियोजना की शुरूआत की गई लेकिन सिचाई विभाग के अधिकारियों की उदासीनता की वजह से केलो परियोजना का अस्तित्व छह साल बीत जाने के बाद भी नहीं आ सका है।

केलो परियोजना के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से नहर के लिए अधिग्रहित भूमि पर वन विभाग द्वारा वृहद स्तर पर प्लांटेशन कर दिया है। मामला सामने आने के बाद दोनों विभागों में हड़कम्प मच गया है। केलो परियोजना के नहर के आड़े आ रहे प्लांटेशन को हटाने के लिए वन विभाग को जैसे ही परियोजना के अधिकारियों ने पत्र भेजा वैसे ही इस मामले में हडकंप मच गया।

वन विभाग ने इसे प्लांटेशन के लिए नोटिफाईड एरिया बताते हुए सही जगह पर प्लांटेशन होना और केलो परियोजना तथा पुसौर तहसीलदार पर गलत रिपोर्ट देने का आरोप लगाया है। परियोजना के अधिकारियों के अनुसार परियोजना के लिए आठ साल पहले भूमि का अधिग्रहण कर ग्रामीणों को इसका मुआवजा भी दे दिया था। ऐसे मे नहर बनते हुए जब देवलसुरा तक पहुंची तो आगे के रास्ते में वन विभाग के वृक्षारोपण के कारण नहर का काम रूक गया।

और दोनों विभाग प्रमुख एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे है। वन विभाग के एसडीओ एनआर खुंटे ने कहा कि वन विभाग अपने चिहांकित क्षेत्र में ही पौध रोपण करता है। पुसौर तहसीलदार और केलो परियोजना के अधिकारी गलत रिपोर्ट के आधार पर भ्रामक खबर फैला रहे हैं। वहीं केलो परियोजना को एसडीओ दर्शन ने कहा कि जहां वन विभाग ने पौध रोपण किया है उस भूमि को नहर निर्माण के लिए बहुत पहले अधिग्रहित किया जा चुका है ऐसे में वन विभाग ने उसमें किस तरह से पौध रोपण कर दिया है वह ही जानते होंगे।