BREAKING NEWS

NCP ने ली भाजपा की चुटकी, कहा- 'शरद पवार ने राजनीति के चाणक्य को दी मात'◾महाराष्ट्र : सरकार गठन को लेकर मुंबई में शाम 4 बजे होगी शिवसेना, NCP और कांग्रेस की बैठक◾संसद परिसर में कांग्रेस ने 'Electoral Bond' के खिलाफ किया प्रदर्शन◾गठबंधन पर संजय निरुपम तंज, कहा- 'तीन तिगाड़े काम बिगाड़े' वाली सरकार चलेगी कब तक?◾महाराष्ट्र में 5 साल के लिए शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री : संजय राउत◾इजराइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और विश्वासघात मामले में आरोप तय◾सत्यपाल मलिक बोले- अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर में केवट-शबरी की भी हों मूर्तियां, ट्रस्ट को लिखूंगा चिट्ठी◾झारखंड चुनाव: भाजपा के 'बागी' सरयू राय के बहाने नीतीश ने 'तीर' से साधे कई निशाने◾अयोध्या विवाद पर आए फैसले पर दूसरे देशों से संवाद बहुत सफल रहा : विदेश मंत्रालय◾झारखंड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण में 20 विधानसभा सीटों पर 260 प्रत्याशी आजमाएंगे किस्मत◾उद्धव ठाकरे और आदित्य ने मुंबई में शरद पवार से की मुलाकात ◾सोनिया ने शिवसेना संग गठबंधन के लिए सीडब्ल्यूसी का सुरक्षित रास्ता चुना ◾श्रीलंका की नई सरकार के साथ करीब से मिलकर काम करने को तैयार : भारत◾महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के गठन के आसार बढे , शुक्रवार को हो सकती है इस बारे में घोषणा◾चुनावी बांड से चुनावी राजनीति में साफ धन आया : भाजपा ◾SPG सुरक्षा हटाए जाने पर बोलीं प्रियंका - यह राजनीति है ◾सेना ने मुख्यमंत्री पद के लिए नए नाम सुझाए, राकांपा ने उद्धव पर दिया जोर◾ED ने कश्मीर में आतंकवादियों से संबंधित छह संपत्तियां जब्त की ◾प्रदूषण पर राज्यसभा में भाजपा और आप में तकरार, केंद्र ने कहा ‘अच्छे’ दिन बढे◾केजरीवाल के दबाव में केंद्र ने अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को दिया मालिकाना हक : आप◾

देश

सूखा राहत दल ने अधिकारियों से जानी जिले की स्थिति

 1-445

ग्वालियर: केन्द्रीय सूखा राहत दल ने ग्वालियर जिले में अल्प वर्षा के कारण उत्पन्न स्थिति के संबंध में कलेक्टर और विभागीय अधिकारियों से चर्चा की। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर किसानों से भी रूबरू हुए। पांच सदस्यीय इस दल ने मोटल तानसेन में कलेक्टर श्री राहुल जैन और विभागीय अधिकारियों के साथ जिले में अल्प वर्षा के कारण उत्पन्न स्थिति के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

सूखाराहत दल में अजय कटेसरिया, श्री आर बी कॉल, श्री एस सी शर्मा, श्री पी ठाकुरव श्री ए के शिवहरे शामिल है। चर्चा के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीरज कुमार सिंह, एडीएम श्री दिनेश श्रीवास्तव, अनुविभागीय अधिकारी श्री विनोद सिंह, उपसंचालक पशु चिकित्सा श्री बड़ोनिया, वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ.राजा सिंह कुशवाह, जल संसाधन विभाग के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस एन सिंघल,पीएचई विभाग के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अहिरवार सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री राहुल जैन ने सूखा राहत दल को बताया कि अल्प वर्षा के कारण ग्वालियर में किसानों की फसल को नुकसान हुआ है। इसके साथ ही पेयजल की भी दिक्कतें सामने आ रही हैं। उन्होंने बताया कि अल्प वर्षा के कारण लगभग 48 प्रतिशत क्षेत्र में किसानों द्वारा बोनी नहीं की जा सकी है। जिन क्षेत्रों में बोनी की गई है, उनमें भी पानी की कमी के कारण खेती-किसानी के साथ पेयजल की समस्या निर्मित हो रही है। कलेक्टर श्री राहुल जैन ने बताया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल वितरण के लिये कमी महसूस की जा रही है।

ग्वालियर शहर में तिघरा जलाशय के माध्यम से पेयजल का वितरण किया जाता है। डैम में पानी की कमी के दृष्टिगत ककैटो डैम से पम्पिंग के माध्यम से तिघरा में पानी लाने का कार्य किया जा रहा है। इसके लिये शासन द्वारा धन राशि उपलब्ध कराई गई है। 9 करोड़ 35 लाख रूपए का टेण्डर स्वीकृत किया जाकर पम्पिंग का कार्य प्रारंभ किया गया है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी पानी की कमी है।

वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में पानी परिवहन का कार्य नहीं किया जा रहा है। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी वितरण के लिये एक विस्तृत कार्ययोजना भी तैयार की गई है। अल्प वर्षा के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराने हेतु मनरेगा के माध्यम से कार्य कराए जा रहे हैं। जिले में 12 हजार 868 कार्य वर्तमान में प्रगति पर हैं। जिले में 171 नवीन तालाबों का निर्माण भी कराया गया है। लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिये मनरेगा से निरंतर कार्य स्वीकृत करने की प्रक्रिया की जा रही है।

कलेक्टर श्री राहुल जैन ने बताया कि जिले में गोकुल महोत्सव के तहत सभी गांवों में शिविरों का आयोजन किया जाकर पशुओं का उपचार, टीकाकरण की कार्रवाई की जा रही है। जिले के सभी 530 गांवों में गोकुल शिविरों का आयोजन किया जायेगा। वर्तमान में 250 गांवों में गोकुल शिविरों का आयोजन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि जिले के पांच बड़े गांवों में गौशालाओं के लिये भी जगह चिन्हित की गई हैं। सूखा राहत दल के सदस्यों ने चर्चा के दौरान कहा कि किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का अधिक से अधिक लाभ मिले, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। इसके साथ ही किसानों के लिये केन्द्र सरकार व भारत सरकार द्वारा संचालित की जा रही दुर्घटना बीमा योजनाओं का भी व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।  इन योजनाओं का प्रभावित परिवारों को समय पर लाभ मिले, यह सुनिश्चित किया जाए।