BREAKING NEWS

बॉर्डर पर हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक, जम्मू में देखा गया ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा वापस◾सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र, आगे की रणनीति को लेकर किसानों की बैठक जारी ◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾छत्तीसगढ़ में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRFP का अधिकारी शहीद, सात जवान घायल ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोले- J&K के लोग मतपत्र की राजनीति में विश्वास करते हैं, गोली की राजनीति में नहीं◾आज का राशिफल ( 29 नवंबर 2020 )◾किसान आंदोलन से देश की राजधानी में फलों, सब्जियों की आपूर्ति पर असर◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे में वैक्सीन निर्माण की प्रगति का लिया जायजा◾सरकार ने कहा, किसानों से किसी भी समय बातचीत के लिए तैयार ◾भारत, श्रीलंका और मालदीव समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए ◾राज्यसभा उप चुनाव के लिये उम्मीदवार पर फैसला करने के लिये भाजपा स्वतंत्र : चिराग◾उत्तर भारत में सर्दी बढ़ी, दक्षिणी राज्यों में एक दिसंबर से भारी बारिश की आशंका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पर्यावरण मंत्री जावड़ेकर ने कहा-प्रकृति के साथ रहने की संस्कृति के कारण जैवविविधता को संरक्षित रख सका है भारत

विश्व पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर वीडियो संदेश में सूचना प्रसारण और पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि देश में सीमित क्षेत्र में मानव और पशुओं की बड़ी आबादी के बावजूद भारत दुनिया की आठ प्रतिशत जैवविविधता बनाये रखने में सफल रहा है क्योंकि ‘‘हमारा स्वभाव प्रकृति के साथ जीने का रहा है।’’जावड़ेकर ने कहा कि भारत में जैवविविधता के संरक्षण में अनेक रुकावटें हैं, मसलन यहां दुनिया के 16 प्रतिशत मनुष्य और 16 प्रतिशत मवेशी दुनिया के ढाई प्रतिशत भूभाग पर रहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘फिर भी हमने दुनिया की आठ प्रतिशत जैवविविधता बनाकर रखी है।’’

पर्यावरण मंत्री ने टेरी द्वारा आयोजित वेबिनार के लिए साझा अपने वीडियो संदेश में कहा, ‘‘भारत की संस्कृति प्रकृति के साथ रहने की है। हमारा देश ही एकमात्र ऐसा है जो पेड़ों, पशुओं, पक्षियों सभी की पूजा करता है। हम प्रकृति से प्यार करते हैं। हमारा स्वभाव प्रकृति के साथ जीने का है।’’ इस साल विश्व पर्यावरण दिवस की थीम ‘जैवविविधता’ है जिसे किसी पर्यावास या परिस्थितिकी तंत्र में जीवन की विविधता के रूप में परिभाषित किया जाता है जहां प्रत्येक प्रजाति की विशिष्ट भूमिका होती है। इस संतुलन के बिगड़ने से या प्राकृतिक संसाधनों के अत्यधिक दोहन के परिणाम हानिकारक हो सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि जैवविविधता समाप्त होने से कोविड-19 जैसी नयी संक्रामक बीमारियां उभर सकती हैं।

जावड़ेकर ने यह भी कहा कि भारत उन कुछेक देशों में शामिल है जो राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी) की बात को अमल में ला रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने उत्सर्जन कम करने, हमारी अक्षय ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाने, टिकाऊ जीवनशैली, जलवायु परिवर्तन अनुकूलन और प्रौद्योगिकी तथा क्षमता निर्माण आदि के बारे में एनडीसी के माध्यम से अपने अच्छे लक्ष्य निर्धारित किये हैं।’’

टेरी के महानिदेशक अजय माथुर ने कहा कि कोविड-19 संकट ने सरकारों और कारोबारों को, पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए स्थितियों को बहाल करने के लिए बाध्य किया है। उन्होंने कहा कि आर्थिक बहाली के रास्ते में जलवायु संबंधी प्राथमिकताओं को नजरंदाज नहीं किया जा सकता। हर साल पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। कोविड-19 महामारी के कारण पर्यावरण मंत्रालय इस बार ‘नगर वन’ की थीम को केंद्र में रखकर ऑनलाइन आयोजन करेगा।