BREAKING NEWS

पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ व्यापक प्रदर्शन, सामान्य जनजीवन ठप पड़ा◾लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत पर मोदी के Tweet को इस साल मिले सबसे अधिक LIKE◾नागरिकता संशोधन विधेयक देश के मुसलमानों के खिलाफ नहीं : BJP◾कांग्रेस ने एक व्यक्ति के निजी हित के लिए द्विराष्ट्र के सिद्धान्त को किया स्वीकार : गोयल◾शिवसेना सरकार ने पहले से चल रही परियोजनाओं को रोकने के अलावा कुछ नहीं किया : फडणवीस◾एकनाथ खडसे ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, कहा- भाजपा से कोई दिक्कत नहीं ◾19 साल में मारे गए 22 हजार आतंकी, 370 हटने के बाद भी जारी है घुसपैठ◾शाह की हरी झंडी के बाद होगा कर्नाटक कैबिनेट का विस्तार : मुख्यमंत्री ◾हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों के एनकाउंटर की रिपोर्ट एनएचआरसी को सौंपी◾TOP 20 NEWS 10 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾उन्नाव रेप मामला : पूर्व बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर पर 16 दिसंबर को कोर्ट सुनाएगा फैसला◾सीएबी बिल पर उद्धव ठाकरे बोले- जब तक कुछ बातें स्पष्ट नहीं होतीं, हम नहीं करेंगे समर्थन◾दिल्ली से लेकर असम तक CAB के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन, मालीगांव में सुरक्षाबलों से भिड़े लोग◾नागरिकता विधेयक का समर्थन करना भारत की बुनियाद को नष्ट करने का प्रयास होगा : राहुल गांधी◾दिल्ली हाई कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले की सुनवाई पर लगाई रोक◾लोकसभा में बोले शाह- J&K में हिरासत में लिए गए नेताओं को छोड़ने का निर्णय स्थानीय प्रशासन लेगा◾पीएमओ में सत्ता का केंद्रीकरण अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं : शिवसेना◾दिल्ली : किराड़ी इलाके के गोदाम में लगी आग, मौके पर पहुंची 8 दमकल की गाड़ियां◾'असंवैधानिक' नागरिकता विधेयक पर लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में होगी : चिदंबरम◾हरियाणा : होमवर्क पूरा न करने पर दलित लड़की का मुंह काला कर स्कूल में घुमाया गया ◾

देश

फेसबुक ने किया चौंकाने वाला खुलासा , कहा - 22 करोड़ से ज्यादा अकाउंट्स हैं फर्जी

 facebook

फेसबुक ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। फेसबुक ने माना किया फेसबुक पर करोड़ों अकाउंट फर्जी है। आपको बता दे कि भारत में 2014 के लोकसभा चुनाव और उसके बाद हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में फेसबुक के फर्जी खातों की बातें सामने आईं थीं जिनसे अफवाहें उड़ाई गईं या निम्नस्तरीय राजनीतिक हमले किए गए। वही , फेसबुक तब भी सवालों और जांच के घेरे में था। जब से साल 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव हुये हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने में रूसी अकाउंटों की भूमिका को लेकर फेसबुक को भी अमेरिका में चल रही जांच का सामना करना पड़ रहा है।

वही , अब फेसबुक ने एक्सेप्ट भी किया है कि उसके प्लेटफॉर्म में 27 करोड़ फर्जी या नकली अकाउंट्स हैं।

द टेलिग्राफ की रिपोर्ट में शनिवार को बताया गया है कि सोशल मीडिया दिग्गज ने इस हफ्ते अपनी तिमाही आय के आंकड़े जारी किए थे और इसके साथ ही यह खुलासा भी किया था कि उसने जितना अनुमान लगाया था, उससे दस लाख गुना ज्यादा फर्जी या नकली खाते हैं।

द वॉशिंगटन पोस्ट की अक्टूबर में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार , फेसबुक ने सांसदों को यह बताने की योजना बनाई थी कि 12.6 करोड़ यूजरों ने रूसी ऑपरेटरों द्वारा बनाई गई और वितरित की गई सामग्री देखी होगी। यह कंपनी द्वारा पहले बताए गए आंकड़ों से कई गुना अधिक है। फेसबुक ने पहले बताया था कि लगभग 10 लाख यूजर्स ने उन विज्ञापनों को देखा था।

इससे पहले खबर आई थी कि फेसबुक अपने न्यूज फीड को दो भागों में विभाजित करने के लिए टेस्टिंग कर रहा है। इसके तहत सोशल मीडिया की जगत की दिग्‍गज कंपनी फेसबुक निजी समाचारों से व्यावसायिक पोस्‍टों को अलग करने के बारे में विचार कर रहा है। कंपनी का मानना है कि यह कुछ व्यवसायों को विज्ञापन बढ़ाने के लिए प्रेरित कर सकता है।

स्लोवाकिया, सर्बिया और श्रीलंका सहित छह देशों में इस नई प्रणाली का परीक्षण किया जा रहा है. इसके तहत लगभग सभी नॉन-प्रोमेटिड पोस्ट को सेंकेंडरी फीड में शिफ्ट किया जा सकता है और मुख्य फीड में पूरी तरह से ओरिजनल कंटेंट होगा, जोकि दोस्तों और विज्ञापन की ओर से पोस्ट किया जाएगा।

कंपनी के एक बयान के मुताबिक एक फीड मित्रों और परिवार पर ध्यान केंद्रित करता है। जबकि दूसरा उस पृष्ठ पर समर्पित होता है। जिसे ग्राहक पसंद करते हैं. इस बदलाव में फेसबुक पेजों पर यूजर्स इंगेजमेंट में गिरावट देखी गई है।