BREAKING NEWS

coronavirus : तमिलनाडु में कोविड-19 से 621 लोग संक्रमित, 574 मामलें तबलीगी जमात से जुड़े◾Coronavirus : तेलंगाना मुख्यमंत्री कार्यालय की सफाई, कहा- सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की सलाह दी लेकिन कोई घोषणा नहीं ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : तबलीगी जमात से जुड़े 1,445 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए, 25 हजार से अधिक एकांतवास में◾दिल्ली में कोरोना से अब तक 523 लोग हुए संक्रमित, पिछले 24 घंटे में 20 नए मामले आए सामने ◾कोरोना से हुई कुल मौतों में 73 प्रतिशत पुरुष जबकि 27 प्रतिशत महिलाएं : स्वास्थ्य मंत्रालय◾केंद्र का बड़ा फैसला, PM सहित कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों के वेतन में 30 फीसदी की होगी कटौती◾PM मोदी ने की वीडियो लिंक के जरिये पहली बार कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता◾कोरोना की चपेट में आई मुकेश अंबानी की संपत्ति, 2 महीने में 28 प्रतिशत गिरकर हुई 48 अरब डॉलर◾कांग्रेस प्रवक्ता बोले- पेट्रोल-डीजल पर मुनाफा जनता के साथ साझा करें सरकार◾मौलाना साद को क्राइम ब्रांच ने भेजा दूसरा नोटिस, पहले नोटिस में नहीं दिए थे सवालों के जवाब◾BJP स्थापना दिवस पर PM मोदी बोले- कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में जीत हो यही देश का लक्ष्य और संकल्प है◾BJP विधायक ने PM मोदी की सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की उड़ाई धज्जियां, समर्थकों के साथ सड़क पर निकाला जुलूस◾इंसानों के बाद जानवरों पर कोरोना की मार, न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर की बाघिन हुई संक्रमित ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों की संख्या 4000 के पार, 109 लोगों की अब तक मौत◾BJP स्थापना दिवस पर PM मोदी, नड्डा और शाह ने कार्यकर्ताओं को दी शुभकामनाएं, कहा- एकजुट होकर देश को कोविड-19 से करें मुक्त◾भोपाल में कोविड-19 से 52 वर्षीय व्यक्ति की हुई मौत, कोरोना से मरने वालो का आकंड़ा 14 हुआ ◾ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन कोरोना वायरस से संबंधी जांचों के लिए अस्पताल में हुए भर्ती ◾अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमितो की संख्या 3,37,274 हुई, पिछले 24 घंटो में 1200 लोगों ने गवाई जान ◾प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर उनकी मां ने भी दीया जलाया◾लॉकडाउन: दिल्ली पुलिस ने शब-ए-बारात के दिन मुस्लिम समुदाय के लोगों से घरों में रहने का आग्रह किया◾

फडणवीस और अजित पवार का इस्तीफा प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के लिए बड़ा झटका : कांग्रेस

महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री और अजित पवार के उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर तीखा हमला बोला और कहा कि यह घटनाक्रम दोंनों के लिए बड़ा झटका है। 

पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने ‘‘पीटीआई-भाषा’’ से कहा कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी फडणवीस का इस्तीफा स्वीकार करें और शिवसेना-कांग्रेस-राकांपा गठबंधन को सरकार बनाने के लिए जल्द आमंत्रित करें। 

कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा, ‘‘ संविधान दिवस पर संविधान के मूल्यों और लोकतंत्र की जीत हुई है। यह भारतीय संविधान एवं लोकतंत्र के इतिहास में बड़ा दिन है।’’ 

उन्होंने दावा किया, ‘‘आज का फैसला भाजपा के चेहरे पर जोरदार तमाचा है। उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद स्पष्ट हो गया कि भाजपा का खेल पूरा हो गया है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के लिए बड़ा झटका है।’’ 

वेणुगोपाल ने कहा, ‘‘ यह बहुत शर्मनाक है कि प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा नेताओं ने अपनी सस्ती राजनीति के लिए राष्ट्रपति और राज्यपाल के कार्यालय का इस्तेमाल किया।’’ 

पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने पत्रकारों से कहा, ‘‘अवैध तरीके से मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री बने लोगों ने इस्तीफा दे दिया है। हमें उम्मीद है कि राज्यपाल अपने पद का दायित्व निभायेंगे। वह महाराष्ट्र विकास अघाड़ी को सरकार बनने का न्यौता दें।’’ 

उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर भी निशाना साधा और कहा, ‘‘अगर वह अपनी भूमिका पर विचार करते हैं तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए, लेकिन मुझे पता है वह ऐसा नहीं करेंगे।’’ 

इससे पहले पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘जनमत को अगवा करने वालों के अल्पमत की पोल खुल ही गई। अब साफ़ है कि भाजपा में चाणक्यनीति के मायने प्रजातंत्र का अपहरण है। ' 

उन्होंने कहा, 'देवेंद्र फडणवीस व अजित पवार को महाराष्ट्र की जनता से माफ़ी मांगनी चाहिए। उनकी सरकार झूठ व दलबदल पर आधारित थी जो ताश के पत्तों सी ग़िर गई।' 

सुरजेवाला ने कहा, आज का दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह की जबावदेही भी सुनिश्चित करने का है।'

 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘महाराष्ट्र में प्रजातंत्र का तमाशा क्यों बनाया? राज्यपाल को कठपुतली की तरह इस्तेमाल क्यों किया? राष्ट्रपति की गरिमा को ठेस क्यों पहुँचाई?’’ 

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी व अमित शाह जबाब दें कि देश के मंत्रिमंडल को पंगु क्यों बनाया? दलबदल और खरीद फरोख्त का नंगा तांडव क्यों? एक अल्पमत की सरकार बनाकर इतने दिन तक बहुमत का ड्रामा क्यों? भ्रष्टाचार के मुक़दमे वापस क्यों लिए? संविधान की धज्जियाँ क्यों उड़ाईं?’’