BREAKING NEWS

कांग्रेस को गुजरात निकाय चुनाव में लगा झटका, हारने वालों में एक विधायक समेत सात नेताओं के बेटे भी शामिल ◾चुनाव से पहले ममता बनर्जी को एक और बड़ा झटका, TMC नेता जितेंद्र तिवारी भाजपा में हुए शामिल ◾निजी क्षेत्र की नौकरियों में हरियाणा वासियों को मिलेगा 75 फीसदी कोटा, सरकार जल्द जारी करेगी नोटिफिकेशन◾संयुक्त किसान मोर्चा का ऐलान, चुनाव वाले राज्यों में टीमें भेजकर लोगों से भाजपा को हराने की करेंगे अपील◾कंगना रनौत का तीखा तंज : मेरे खिलाफ वारंट जारी करवाने में जावेद चाचा ने ली सरकार की मदद ◾असम चुनाव में कांग्रेस नीत महागठबंधन भाजपा का करेगा अंतिम संस्कार : बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट ◾प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर हमला - केंद्र की नीतियां सिर्फ अमीर लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए है◾UNHRC में भारत ने फिर पाकिस्तान को किया बेनकाब, आतंकवादी बनाने का अड्डा करार दिया ◾मालदा रैली में बोले योगी-घुसपैठियों को बाहर करने की बात पर तिलमिला जाती है बंगाल सरकार◾असम में बोलीं प्रियंका-सत्ता में आने पर रद्द करेंगे CAA, सरकारी नौकरी तथा मुफ्त बिजली का भी वादा◾मोदी सरकार ने बिना सोचे समझे लिए फैसले, इस वजह से भारत में बेरोजगारी चरम पर है : मनमोहन सिंह ◾गुजरात निकाय चुनावों के शुरूआती नतीजों में BJP बनी हुई है सबसे बड़ी पार्टी◾कांग्रेस vs कांग्रेस : ISF के साथ गठबंधन पर आनंद शर्मा के सवालों पर अधीर रंजन का 'पलटवार'◾पीएम मोदी की तारीफ करने पर गुलाम नबी आजाद के खिलाफ कांग्रेस में मचा घमासान, फूंका पुतला◾BJP ने साधा कांग्रेस पर निशाना, कहा- पार्टी का न ही कोई ईमान न ही विचारधारा, डूब चुका जहाज ◾मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 : PM मोदी बोले-समुद्री अर्थव्यवस्था को बढ़ाने में बड़ी सफलता हासिल करेगा भारत◾गुजरात निकाय चुनावों की मतगणना जारी, बीजेपी को बढ़त, कांग्रेस पीछे ◾प्रियंका के असम दौरे का दूसरा दिन, चाय बागानों में मजदूरों के साथ तोड़ी चाय की पत्तियां◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हज़ार से ज्यादा लोग हुए संक्रमित, 91 लोगों ने गंवाई जान◾खंडवा से BJP सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का निधन, PM मोदी ने जताया दुख◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

क्या किसान आंदोलन में हो रही विदेशी फंडिंग? NIA समेत जांच में जुटी कई एजंसियां

कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच हुए कई वार्ताओं के बाद भी अन्नदाताओं की समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। वहीं विदेशी फंडिंग को लेकर जांच आंदोलन पर एनआईए के अलावा अन्य एजेंसियों की भी नजर है। विरोध प्रदर्शन को हवा देने के मामले में एनआईए , ईडी, आयकर विभाग सहित अन्य एजेंसियां मिलकर काम कर रही हैं।

सूत्रों का कहना है कि फंडिंग की कड़ियों को विभिन्न स्तर पर खंगाला जा रहा है। देश के भीतर व बाहर इसके स्रोत तलाशने के लिए एनआईए, ईडी, आईटी सहित अन्य संबंधित एजेंसियो का समन्वय बना हुआ है। एक अधिकारी ने कहा कि पूछताछ में शामिल न होने वाले संबंधित पक्षो को दोबारा समन भेजा जाएगा।

कांग्रेस मुख्यालय में आज राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कृषि कानूनों पर जारी करेंगे बुकलेट

सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय में 12 दिसंबर को एनआईए, ईडी, आईटी, सीबीआई और एफसीआरए डिवीजन के अधिकारियों की एक बड़ी बैठक हुई थी। इसके बाद ये प्लान तैयार हुआ कि सिख फॉर जस्टिस, बब्बर खालसा इंटरनेशनल, खालिस्तान जिन्दाबाद फोर्स, खालिस्तान टाइगर फोर्स की ओर से की जा रही फंडिंग पर ध्यान रखा जाए और इन संगठनों के जरिए भारत में किन एनजीओ को मदद मिल रही है इसपर भी नजर रखी जाए।

खुफिया एजेंसियों का मानना है कि किसान आंदोलन में सिख फॉर जस्टिस, खालिस्तान जिन्दाबाद फोर्स, बब्बर खालसा इंटरनेशनल और खालिस्तान टाइगर फोर्स जैसे अलगाववादी संगठन पैसे के जरिए मदद कर रहे हैं। इस बाबत 15 दिसंबर 2020 को गृह मंत्रालय की शिकायत पर एक एफआईआर दर्ज की गई।