BREAKING NEWS

कोविड टीकाकरण में बना विश्व रिकॉर्ड, एक दिन में लगे सवा दो करोड़ से ज्यादा टीके◾उप्र में पांच साल में बेरोजगारी दर 17 प्रतिशत से घटकर चार-पांच प्रतिशत रह गई : योगी◾जीएसटी काउंसिल बैठक: कई दवाईयां GST मुक्त, पेट्रोल-डीजल पर लिया ये फैसला◾बिना समझौते के बनी तालिबान सरकार, दुनिया सोच-समझकर फैसला ले : PM मोदी◾बंटवारे के समय बरती जाती सावधानियां तो करतापुर साहिब पाकिस्तान में नहीं भारत में होता: राजनाथ सिंह ◾शोएब ने न्यूजीलैंड पर खेल की हत्या करने का लगाया आरोप, बाबर आजम बोले- श्रृंखला रद्द होने से निराश हूं◾प्रियंका की यूपी सरकार से मांग, कहा- मूसलाधार बारिश से नुकसान झेलने वाले किसानों को मिले मुआवजा◾नितिन गडकरी हर महीने यूट्यूब से चार लाख रुपये कमा रहे, बताया कैसे मिल रहा फायदा◾दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 33 नए मामले सामने आए, 56 लोग ठीक हुए और 1 की मौत◾स्मृति ईरानी का कांग्रेस पर तंज, कहा- उन्होंने कभी अमेठी का भला नहीं किया ◾अब्बास नकवी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- UP में अपराधियों की हिरासत” बनाम “अपराध की हिफाज़त” बड़ा मुद्दा◾न्यूजीलैंड ने की पाकिस्तान की फजीहत, मैच से ठीक पहले कीवी टीम ने रद्द किया दौरा◾बिहार चुनाव में EVM और DM ने की बेईमानी, UP में रहना होगा सावधान : अखिलेश यादव◾PM मोदी के जन्मदिन को लेकर कांग्रेस का तंज- कौन सी उपलब्धि का मनाया जाए जश्न ◾PM मोदी के जन्मदिन पर मेगा वैक्सीनेशन अभियान, दोपहर तक लगी 1 करोड़ से ज्यादा डोज ◾सचिन वाजे का खुलासा- तबादले के आदेश रुकवाने के लिए देशमुख और अनिल परब को मिले 40 करोड़ रुपए ◾अगले लोकसभा चुनाव से पहले भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा राम मंदिर, दिसंबर 2023 से होंगे दर्शन◾SCO समिट में बोले PM मोदी- दुनिया के लिए कट्टरता एक बड़ी चुनौती, अफगानिस्तान है इसका उदाहरण◾यूपी में मानसून की भीषण तबाही जारी, अबतक 42 लोगों की मौत, ये जिले है सबसे ज्यादा प्रभावित ◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 23 करोड़ के करीब, साढ़े 46 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विभिन्न मंत्रालयों से पूंजी व्यय में तेजी लाने को कहा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को विभिन्न मंत्रालयों और विभागों से पूंजी खर्च को निर्धारित लक्ष्य के मुकाबले अधिक करने तथा व्यवहारिक परियोजनाओं के लिये सार्वजनिक-निजी भागीदारी की संभावना टटोलने की कोशिश करने को कहा।

उन्होंने बुनियादी ढांचा रूपरेखा पर चर्चा के लिये वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान मंत्रालयों और उनके अधीन आने वाले केंद्रीय लोक उपक्रमों (सीपीएसई) से सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसएमई) के बकाये का यथाशीघ्र निपटान करने का भी आग्रह किया।

बुनियादी ढांचा रूपरेखा पर यह वित्त मंत्री की मंत्रालयों तथा विभागों के साथ पांचवीं समीक्षा बैठक थी।

आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार बैठक में मंत्रालयों तथा उनके सीपीएसई के पूंजी व्यय, बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन की स्थिति और बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश बढ़ाने के उपायों पर चर्चा हुई।

विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘मंत्रालयों और उनके सीपीएसई के पूंजीगत व्यय प्रदर्शन की समीक्षा करते हुए, वित्त मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि महामारी के बाद अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये बढ़ा हुआ पूंजीगत व्यय महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा तथा मंत्रालयों को अपने पूंजीगत व्यय में तेजी लाने के लिए प्रोत्साहित किया।’’

मंत्रालयों से पूंजी व्यय निर्धारित लक्ष्य से अधिक करने का उद्देश्य लेकर चलने का आग्रह किया गया।

वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में 5.54 लाख करोड़ रुपये के पूंजी व्यय का प्रावधान किया गया है। यह 2020-21 के बजटीय अनुमान से 34.5 प्रतिशत अधिक है।

सीतारमण ने कहा कि हालांकि, बजटीय प्रावधानों से पूंजी व्यय में वृद्धि के प्रयासों को सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों द्वारा समर्थन दिया जाना है।

उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचे पर खर्च सिर्फ केंद्र सरकार का बजटीय खर्च नहीं है और इसमें राज्य सरकारों तथा निजी क्षेत्र द्वारा किया जाने वाला बुनियादी ढांचा खर्च शामिल है। इसमें अतिरिक्त बजटीय संसाधनों के माध्यम से सरकारी व्यय भी शामिल है।

वित्त मंत्री ने कहा कि इसीलिए मंत्रालयों को नये तरीकों से वित्त पोषण के जरिये परियोजनाओं के लिये वित्त की व्यवस्था करने पर सक्रिय रूप से काम करना है और बुनियादी ढांचे के खर्च को बढ़ाने के लिए निजी क्षेत्र को सभी प्रकार की सहायता प्रदान करना है।

उन्होंने मंत्रालयों से यह भी कहा कि वे व्यवहारिक परियोजनाओं के लिये सार्वजनिक-निजी भागीदारी की संभावना टटोले।