BREAKING NEWS

मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, कभी माफी नहीं मांगने वाला : राहुल गांधी◾'भारत बचाओ रैली' में बोलीं सोनिया गांधी- भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा नागरिकता संशोधन कानून◾संविधान और देश को विभाजन से बचाने के लिए पूरा देश आवाज उठाए: प्रियंका गांधी ◾'भारत बचाओ' रैली से पहले राहुल गांधी का ट्वीट, कहा- BJP सरकार की तानाशाही के खिलाफ बोलूंगा◾पीएम मोदी निर्मल गंगा के दर्शन करने पहुंचे कानपुर, एयरपोर्ट पर CM योगी ने किया स्वागत ◾केजरीवाल को मिला प्रशांत किशोर की कंपनी आई-पैक का साथ, विधानसभा चुनाव में AAP के लिए करेंगे काम◾पति ने मेट्रो के आगे कूदकर की आत्महत्या, पत्नी ने बेटी को फांसी लगाने के बाद की खुदकुशी ◾CAB : असम के गुवाहाटी में सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू में दी गई ढील◾दिल्ली के मुंडका में लकड़ी के गोदाम में लगी भीषण आग, दमकल की 20 गाड़ियां मौके पर मौजूद◾भारत में CAB से पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित है अमेरिका◾आज कानपुर दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अविरल-निर्मल गंगा पर करेंगे मंथन◾एनएसएफ ने CAB विधेयक के खिलाफ आज छह घंटे का बंद का आह्वान किया ◾बजट 1 फरवरी को हो सकता है पेश : सूत्र ◾BJP की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से की राहुल गांधी की शिकायत ◾दिल्ली में अभी चुनाव हुए तो भाजपा को मिलेंगी 42 सीटें◾अवसाद में निर्भया कांड के दोषी, खाना-पीना कम किया : तिहाड़ जेल के सूत्र◾योगी ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से 11 रुपये, पत्थर मांगे ◾सर्जिकल स्ट्राइक की इजाजत देने से पहले पर्रिकर ने कहीं थीं दो बातें : दुआ◾‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी को लेकर भाजपा . कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर ◾महिलाओं की सुरक्षा को लेकर केजरीवाल बोले - हरसंभव कार्य कर रहा हूँ◾

देश

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बोली- सरकार सहकारी बैंकों में सुधारों को लेकर प्रतिबद्ध

 nirmala sitaraman

पंजाब एवं महाराष्ट्र सहकारी बैंक (पीएमसी) बैंक संकट के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को दोहराया कि सहकारी बैंकों को नियंत्रण में रखने के लिये सरकार जरूरी विधायी बदलावों को लेकर प्रतिबद्ध है। वित्त मंत्री ने कहा कि पीएमसी बैंक संकट के बाद से वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक अधिकारियों के बीच तीन बैठकें हो चुकी हैं। 

देश की बैंकिंग प्रणाली में जमाकर्ताओं का भरोसा बनाये रखने के लिये ये प्रयास किये जा रहे हैं। समाचार पत्र ‘दि इंडियन एक्सप्रेस’ के अड्डा कार्यक्रम को संबोधित करते हुये वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘जहां कहीं भी जरूरत होगी, हम कानून में बदलाव करेंगे। यह बदलाव इस तरह का होगा कि आप जब भी अपने को बैंक बतायेंगे तो आपको बैंकिंग नियमन कानून के सिद्धांतों के तहत काम करना होगा।’’ 

उन्होंने कहा कि सरकार तुरंत समग्र समाधान के साथ आगे नहीं आ रही है लेकिन सरकार इस मामले में सहकारी बैंकों के लिये बेहतर निगरानी और नियमन की दिशा में आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार और रिजर्व बैंक तौर तरीकों पर इस तरह बात कर रहे हैं कि वित्तीय संस्थानों को अधिकतम संभव तरीके से चलाया जा सके ताकि लोगों का बैंकों में अपना धन रखने में विश्वास बढ़े।