BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : कोरोना वायरस के 41,327 नए मामले आये सामने , 29 मरीजों की मौत◾भारत के टीकाकरण कार्यक्रम ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में काफी ताकत दी : PM मोदी ◾BJP ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह को पार्टी से किया निष्कासित, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल◾Covid -19 को लेकर WHO ने किया बड़ा खुलासा - कोरोना वायरस पूरी तरह से समाप्त नहीं होगा◾महाराष्ट्र कोरोना : बीते 24 घंटों में आए 41 हजार से ज्यादा नए मामले, शहर में मिली थोड़ी रहत ◾PM मोदी के नेतृत्व की वजह से 157 करोड़ टीके लगाने वाला पहला देश बना भारत - पूनियां◾ जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर किया ग्रेनेड से हमला, पुलिसकर्मी और आम नागरिक घायल ◾अमित शाह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार फिर से करेंगे मैराथन दौरा◾ मुंबई 1993 ब्लास्ट के आरोपी सलीम गाजी की कराची में हुई मौत, डॉन छोटा शकील का रहा करीबी ◾राजस्थान सरकार का अलवर सामूहिक दुष्कर्म की जांच CBI को सौंपने का निर्णय, हाई लेवल मीटिंग में लिया गया फैसला◾ उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए आप ने जारी की 150 उम्मीदवारों की सूची, जानें किसे मिला टिकट◾निषाद पार्टी एक बार फिर BJP के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव, जानिए कितनी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी nishad ◾केंद्र के पश्चिम बंगाल की झांकी को बाहर करने के फैसले पर ममता ने जताई नाराज़गी, PM मोदी को लिखा पत्र◾कोरोना के कारण डिजिटल हुई प्रचार की लड़ाई, सभी पार्टियों के ‘वॉर रूम’ में जारी जंग, BJP ने बनाई बढ़त ◾धर्म संसद: गिरफ्तारी के बाद भी खाना नहीं खा रहे यति नरसिंहानंद, केवल 'रस आहार' पर अड़े◾हस्तिनापुर से चुनावी रण में उतरने को तैयार मॉडल अर्चना, आत्मविश्वास से परिपूर्ण, कहा- भयभीत नहीं, आगे बढ़ूंगी ◾केजरीवाल ने उत्पल को अपनी पार्टी में शामिल होने का दिया न्योता, AAP के इस दांव से क्या BJP हो सकती है चित◾समाजवादी पार्टी की उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 30 उम्मीदवारों की सूची जारी ◾आगामी विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी ने अपराधियों और दंगाइयों को टिकट दिए : CM योगी ◾सिद्धू के साथ जारी सियासी उठापठक के बीच CM चन्नी के भाई बगावत पर उतरे, जानें क्यों खफा हुए मुख्यमंत्री के भाई ◾

झारखंड में आयोग, निगम को मिलेंगी वित्तीय शक्तियां

रांची : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज कहा कि राज्य में रह रहे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के लोगों को आसानी से रिण उपलब्ध कराने के लिए आयोग और निगम आदि को वित्तीय शक्ति प्रदान की जायेगी। श्री दास ने यहां झारखंड मंत्रालय में ‘ट्रांसफॉर्मेशन ऑफ एसपिरेशनल डिस्ट्रिक्ट इन झारखंड’ विषय पर आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में राज्य के वरीय अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में आदिवासी सहकारिता निगम, अनुसूचित जाति आयोग को फंड उपलब्ध कराया जायेगा।

इसके अलावा पिछड़ वर्ग के लिए भी वित्त निगम बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इससे अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़े वर्ग के लोगों को छोटे-मोटे उद्योग और व्यवसाय के लिए आसान लोन मिल सकेगा। इन लोगों को अब बैंकों के चक्कर नहीं काटने होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव सूचकांक में वृद्धि लाकर ही सच्चे अर्थों में विकास के लक्ष्य को पाया जा सकता है। पिछले तीन साल में राज्य में टीम झारखंड बनाकर काफी अच्छे कार्य किये गये हैं जिसके सकारात्मक परिणाम भी दिखायी दे रहे हैं। स्वास्थ्य और शिक्षा के मामले में जहां झारखंड काफी पीछे था।

आज नीति आयोग के द्वारा तय मानकों में स्वास्थ्य के क्षेत्र में तेजी से सुधार के मामले में नंबर वन राज्य है। श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में शिक्षा के मानकों में भी काफी सुधार आया है। आने वाले दिनों में इनमें और सुधार आयेगा। लोगों को छोटे-छोटे काम से जोड़कर उनकी आमदनी बढ़यी जा सकती है।

राज्य के अति पिछड़ छह जिलों में 30-30 महिलाओं का 10-10 समूह बनाकर उन्हें चप्पल-जूते बनाने का प्रशिक्षण देने के साथ ही उन्हें कच्चा माल उपलब्ध कराया जायेगा। इससे तैयार माल को समूह की महिलायें सीधे बाजार में बेच सकेंगी जबकि जो माल बचेगा उसे सरकार खरीद लेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले वर्षों में दलितों, आदिवासियों तथा अन्य पिछड़ वर्ग में शिक्षा को बढ़ने के लिए विशेष प्रयास करना होगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में साक्षरता दर को राष्ट्रीय औसत दर तक लाने के लिए एक क्रैश कार्यक्रम बनाना होगा। इसके साथ ही परंपरागत व्यवसायों को अधिक लाभप्रद बनाया जायेगा। श्री दास ने कहा कि झारखंड में काफी अच्छे कलाकार हैं लेकिन असंगठित हैं। इन्हें संगठित कर इनकी कला को बाजार उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके लिए पर्यटन स्थलों पर हाट बनाये जा रहे हैं।

इनके जरिए इन्हें रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ऐसा मानती है कि इन कलाकारों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए राज्यस्तरीय मिशन होना चाहिए जो उन्हें अच्छी ऋण व्यवस्था, अच्छी विपणन व्यवस्था, तकनीक आदि योगदान देकर उनकी आर्थिक गतिविधियों में मदद दे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम झारखंड के रूप में राज्य में काफी तेजी से विकास हो रहा है। आने वाले दिन में और सुधार दिखेगा। राज्य स्तर पर बनी टीम झारखंड के तर्ज पर जिला और प्रखंड स्तर पर भी टीम झारखंड बनाकर काम करें। इससे काम में और तेजी आयेगी। श्री दास ने कहा कि नीति आयोग ने भी झारखण्ड के विकास को सराहा है और इसे देश के दूसरे राज्यों के लिए नजीर बताया है।

उन्होंने बैठक में उपस्थित उपायुक्तों से हर सप्ताह प्राथमिकता वाली योजनाओं की समीक्षा करने को भी कहा। बैठक में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, पुलिस महानिदेशक डी.के.पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव डी.के.तिवारी, अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, सभी विभागों के प्रधान सचिव, सचिव समेत अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ