BREAKING NEWS

राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾

देश

देश में बाढ़ का कहर , चार राज्यों में अब तक 225 लोगों की मौत

तिरुवनतंपुरम/मुंबई/बेंगलुरु : देश के बाढ़ प्रभावित चार राज्यों केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में मंगलवार को मृतकों की संख्या बढ़कर 225 हो गई। 

इनमें से केवल केरल में आठ अगस्त के अब तक 91 लोगों की मौत हुई है। राज्य में और बारिश होने का अनुमान है। हालांकि कर्नाटक और महाराष्ट्र में मौसम में सुधार हुआ है जिसके बाद बचाव एवं राहत अभियान तेज कर दिए गए हैं। 

ओडिशा में पिछले सप्ताह से भारी बारिश हो रही है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार को बाढ़ जैसे हालात देखे गए और आगामी दो दिनों में और बारिश होने की संभावना है। 

केरल के अलावा, कर्नाटक में 54, महाराष्ट्र में 49 और गुजरात में 31 लोग बाढ़ और वर्षा जनित हादसों में मारे गए। उत्तर प्रदेश में भी बारिश जनित घटनाओं में दो लोगों के मरने की खबर है जहां कई इलाकों में रातभर भारी बारिश हुई। 

केरल में एर्णाकुलम, इडुक्की और अलप्पुझा के लिये ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है क्योंकि राज्य के मध्य इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान है। 

तिरुवनंतपुरम में भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक के संतोष ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर निम्न दबाव क्षेत्र मजबूत होने से राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश होने का अनुमान है। 

राज्य सरकार के अपडेट के अनुसार आठ अगस्त से अब तक मरने वालों की संख्या 91 पहुंच गयी और इसमें और इजाफा होने की आशंका है क्योंकि 59 लोग अब भी लापता हैं। 

अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर और सांगली जिलों में बचाव अभियान पूरा हो गया है। पानी घटने से अब प्रभावित लोगों को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति करने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी महाराष्ट्र के पांच जिलों में नौ दिनों में मृतक संख्या बढ़कर 49 हो गई है।

 

कर्नाटक सरकार की ओर से मंगलवार को जारी आधिकारिक अपडेट के अनुसार राज्य में बाढ़ एवं भारी बारिश से प्रभावित जिलों और जलाशयों में धीरे-धीरे जलस्तर घटने से स्थिति में सुधार हो रहा है। 

इसके अनुसार, ‘‘बाढ़ की स्थिति अब सामान्य हो रही है। बाढ़ प्रभावित जिलों में अब पानी धीरे-धीरे घटना शुरू हो गया है और बाढ़ की स्थिति में सुधार हो रहा है।’’ 

कर्नाटक सरकार ने स्वतंत्रता दिवस समारोह ‘‘सादे’’ तरीके से मनाने का फैसला किया है क्योंकि राज्य के अधिकतर हिस्से बाढ़ और लगातार बारिश से प्रभावित हैं। 

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को मृतक संख्या बढ़कर 54 हो गई और करीब चार लाख लोगों को 1151 राहत शिविरों में रखा गया है। 

पिछले सात दिन में नौसेना ने ‘वर्षा राहत’ अभियान के तहत महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों से 14,000 लोगों को बचाया है। 

ओडिशा में लगातार बारिश के चलते बौध, बोलांगीर, कालाहांडी, कंधमाल और सोनपुर जिलों में कुछ जगहों पर पटरियों पर पानी भर जाने के कारण ट्रेन सेवाएं प्रभावित हुईं। राष्ट्रीय राजधानी में भी मंगलवार को बारिश हुई। हिमाचल प्रदेश में भी कई जगहों पर भारी बारिश हुई।