BREAKING NEWS

भारतीय क्षेत्र में चीनी अतिक्रमण पर चर्चा के लिए मनीष तिवारी ने लोकसभा में पेश किया स्थगन नोटिस◾त्रिपुरा में आज जनता को संबोधित करेंगे अमित शाह, चुनाव के नामांकन में दो दिन बाकी ◾Supreme Court को मिले पांच नए न्यायाधीश, CJI चंद्रचूड़ की मौजूदगी में ली शपथ, जजों की संख्‍या बढ़कर 32◾ Earthquake Turkey : तुर्की और सीरिया में 7.8 तीव्रता के भूकंप से चारों तरफ तबाही का मंजर ◾Ramcharitmanas controversy: विवाद के बीच Video शेयर कर अखिलेश यादव बोले- 'प्रभु राम का रथ, सपा का पथ'◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में 91 नए मामले दर्ज, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 1,817 ◾मैं रामचरितमानस में विश्वास नहीं करती, एक बड़े आंदोलन की जरूरत है, सपा विधायक पल्लवी पटेल ने चेतावनी दी◾योगी सरकार ने अडानी ग्रुप को दिया बड़ा झटका, 'प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने का टेंडर किया गया निरस्त'◾मनीष सिसोदिया का आरोप, कहा- भाजपा ने अपने पार्षदों को एमसीडी चुनाव बाधित करने का निर्देश दिया है◾Adani Group case: कांग्रेस के तीन राज्यसभा सदस्यों ने दिया कार्यस्थगन नोटिस ◾पश्चिम बंगाल : भाजपा को लगे एक के बाद एक झटके, पंचायत चुनाव से पहले छठा विधायक TMC में शामिल◾हिमाचल प्रदेश में हिमस्खलन की चपेट में आने से दो लोगों की मौत, एक लापता◾6 बेटियों का बाप बना दूल्हा... 65 साल के युवक ने 41 साल छोटी लड़की के साथ की शादी◾उत्तर प्रदेश : ट्रक से टकराई एसयूवी, तीन की मौत अन्य घायल ◾उत्तर प्रदेश : सगाई समरोह में हुई फायरिंग से एक युवक की मौत, अन्य व्यक्ति घायल ◾सुप्रीम कोर्ट को मिलेंगे आज पांच नए जज, CJI दिलाएंगे शपथ◾बिहार : मुखिया ने युवकों को बंधक बनाकर पीटा, एक की मौत दो जख़्मी होने पर आगजनी तथा तोड़फोड़ का माहौल ◾आज का राशिफल (06 फरवरी 2023)◾श्रीलंका के राष्ट्रपति विक्रमसिंघे के साथ मुरलीधरन 13 वें संशोधन पर चर्चा की ◾केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा- 'ग्लोबल वार्मिंग, जलवायु परिवर्तन से निपटने एकजुट हों जी-20 सदस्य देश'◾

जनरल मनोज मुकुंद नरवाने बने 28वें नए सेना प्रमुख, बिपिन रावत की मौजूदगी में संभाला पद

जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने आज 28वें सेना प्रमुख का कार्यभार संभाल लिया है। बिपिन रावत मौजूदगी में ही नरवाने ने पदभार को ग्रहण किया। लेफ्टिनेंट जनरल नरावने अभी तक उप-सेनाप्रमुख की जिम्मेदारी निभा रहे थे। सितंबर में उप सेना प्रमुख के तौर पर कार्यभार संभालने से पहले नरावने सेना की पूर्वी कमान का नेतृत्व कर रहे थे जो चीन से लगने वाली करीब 4000 किलोमीटर लंबी भारतीय सीमा पर नजर रखती है। 

अपने 37 साल के कार्यकाल के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल नरावने विभिन्न कमानों में शांति, क्षेत्र और उग्रवाद रोधी बेहद सक्रिय माहौल में जम्मू कश्मीर व पूर्वोत्तर में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वह जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स की बटालियन और पूर्वी मोर्चे पर इंफेंट्री ब्रिगेड की कमान संभाल चुके हैं। वह श्रीलंका में भारतीय शांति रक्षक बल का हिस्सा थे और तीन वर्षों तक म्यामां स्थित भारतीय दूतावास में रक्षा अताशे रहे। 

लेफ्टिनेंट जनरल नरावने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और भारतीय सैन्य अकादमी के छात्र रहे हैं। वह जून 1980 में सिख लाइट इन्फैंटरी रेजिमेंट के सातवें बटालियन में कमीशन प्राप्त हुए। उन्हें ‘सेना मेडल’, ‘विशिष्ट सेवा मेडल’ और ‘अतिविशिष्ट सेवा मेडल’ प्राप्त है।