BREAKING NEWS

'Howdy Modi' कार्यक्रम : मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का किया आह्वान◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : PM मोदी ने 50 हजार से अधिक भारतीय अमेरिकी समुदाय को किया संबोधित◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : अब की बार, ट्रंप सरकार - PM मोदी◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : हमने आर्टिकल 370 को फेयरवेल दे दिया - PM मोदी◾Howdy Modi : मोदी ने ट्रंप को बताया विशेष शख्सियत, उनके योगदान की सराहना की ◾अमित शाह ने कश्मीर मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना◾ट्रंप-मोदी ने कहा, टेक्सास मे आज का दिन बेहद अहम◾Howdy Modi : मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा NRG स्टेडियम◾हम भारत की ऊर्जा सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने को प्रतिबद्ध : सऊदी अरब ◾अनुच्छेद 370 समाप्त होने से कश्मीर के जनजातीयों को मिलेगा आरक्षण का लाभ : रविशंकर◾भारतीय समय अनुसार रात 9 बजे 'हाउडी मोदी' में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे PM मोदी ◾कश्मीरी पंडितों का मोदी को पुरजोर समर्थन, सिखों ने कहा ‘शेर’◾TOP 20 NEWS 22 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शिवसेना का नाम लिए बिना बोले अमित शाह-महाराष्ट्र में NDA को मिलेगा तीन चौथाई बहुमत ◾पटना से पाक को राजनाथ की चेतावनी, कहा-1965 और 1971 की गलतियों को न दोहराए◾महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾बलोच, सिंधी और पख्तून समूहों को PM मोदी और डोनाल्ड ट्रंप से मदद की आस◾

देश

सस्ती दर पर स्वच्छ और हरित ऊर्जा प्रदान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध: प्रकाश जावड़ेकर

केन्द्रीय पर्यावरण,वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सस्ती दर पर स्वच्छ और हरित ऊर्जा प्रदान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है। 

जावड़ेकर ने कहा कि सरकार नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों का दोहन करके ऊर्जा की अधिकतम जरूरत को पूरा करना चाहती है ताकि एक निश्चित समय तक स्वच्छ ऊर्जा के लक्ष्य को हासिल किया जा सके और इसके लिए विभिन्न नीतियों और नियमों में लगातार सुधार किया जा रहा है। 

जावड़ेकर ने एक समीक्षा बैठक में पवन ऊर्जा परियोजनाओं के लिए प्रति मेगावाट 30,000 रुपये की दर से पट्टा किराया लेने की स्थिति में छूट देने का फैसला किया है। जावड़ेकर ने कहा कि उम्मीद है की इस कदम से पवन ऊर्जा परियोजनाओं में निवेश बढ़ेगा और सस्ती दरों पर पवन ऊर्जा प्रदान करने में मदद मिलेगी। 

मालूम हो कि, इस समय वन भूमि पर पवन ऊर्जा परियोजना स्थापित करने के लिए वर्तमान प्रक्रिया के अनुसार प्रतिपूरक वनीकरण और निर्धारित वर्तमान मूल्य (एनपीवी) के लिए अनिवार्य शुल्क अदा करना आवश्यक है। अनिवार्य शुल्क के अलावा, पवन ऊर्जा कंपंनियों को 30,000 रुपये प्रति मेगावाट की दर से पट्टा किराये की अतिरिक्त कीमत अदा करनी पड़ती थी। यह अतिरिक्त कीमत अन्य नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं जैसे सौर ऊर्जा और पनबिजली परियोजना के लिए अनिवार्य नहीं है। पवन ऊर्जा के जरिये स्वच्छ ऊर्जा उत्पादन के लिए अतिरिक्त कीमत से उपभोक्ता के स्तर पर बिजली की प्रति इकाई कीमत बढ़ जाती है। 

इस तरह की परियोजनाओं को बढ़वा देने से अंतराष्ट्रीय समझौतों की दिशा में सरकार की प्रतिबद्धता मजबूत होती है। वर्ष 2015 में पेरिस में की गई राष्ट्रीय प्रतिबद्धता में 2030 तक नवीकरणीय संसाधनों से 40 प्रतिशत बिजली बनाने की बात कही गई थी। हालांकि, इस समय भारत लक्ष्य से आगे निकल चुका है और यह सुनिश्चित करने के लिए सही रास्ते पर चल रहा है। जावड़ेकर ने कहा कि 2030 तक हमारी स्थापित क्षमता का 50 प्रतिशत से अधिक नवीकरणीय ऊर्जा से प्राप्त होगा।