BREAKING NEWS

लोकसभा में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने उठाया चुनावी बॉन्ड का मुद्दा◾साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की समिति में मिली जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण◾दिल्ली : महाराष्ट्र में शिवसेना संग गठबंधन पर सीडब्ल्यूसी ने लगाई मुहर ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रकिया 1 दिसंबर से पहले हो जाएगी पूरी : संजय राउत ◾दिल्ली : सोनिया गांधी के आवास पर सीडब्ल्यूसी की बैठक, महाराष्ट्र पर चर्चा की संभावना◾झारखंड विधानसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा के लिए सीटें बचाना हुआ मुश्किल , 'अपने' दे रहे कड़ी टक्कर ◾पेट्रोल, डीजल के दाम में वृद्धि पर लगा ब्रेक, देखें पूरी लिस्ट◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾दिल्ली में निशुल्क यात्रा की योजना लागू होने के बाद से महिला यात्रियों की हिस्सेदारी 10 फीसदी बढ़ी ◾तीसहजारी कांड : दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल की प्रगति रिपोर्ट, SIT जांच में मांगा सहयोग◾लोकसभा से चिट फंड संशोधन विधेयक 2019 को मंजूरी◾महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर साफ हुई, जल्द बन सकती है शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की सरकार ◾मंत्रिमंडल ने 1.2 लाख टन प्याज आयात की मंजूरी दी : सीतारमण◾NC, PDP ने कश्मीर में सामान्य हालात बताने पर केंद्र की आलोचना की◾पृथ्वी-2 मिसाइल का रात के समय सफलतापूर्वक परीक्षण ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर जल्द मिलेगी गुड न्यूज : राउत ◾सकारात्मक चर्चा हुई, जल्द सरकार बनेगी : चव्हाण◾'हिटलर की बहन' वाले बयान पर बेदी का मुख्यमंत्री पर पलटवार◾यशवंत सिन्हा ने 22 से 25 नवंबर तक कश्मीर यात्रा की घोषणा की ◾

देश

सरकार पुलवामा पर खुफिया चूक के आरोप का जवाब देने को बाध्य : चिदंबरम

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने शनिवार को कहा कि पुलवामा हमले को लेकर एक मीडिया रिपोर्ट में खुफियागीरी की विफलता के आरोप पर सरकार जवाब देने को बाध्य है क्योंकि घटना और उसके बाद के घटनाक्रम को नजरअंदाज करना या भूल जाना खतरनाक होगा। उन्होंने ‘द वीक’ की एक खबर का हवाला देते हुए पूछा, ‘‘दिल्ली और राज्य की राजधानियों में स्थापित ‘मल्टी एजेंसी सेंटर’ (मैक) का क्या हुआ?’’

पूर्व केंद्रीय गृह एवं वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘ खुफिया रिपोर्टों के हवाले से 'वीक' पत्रिका ने तीन मार्च के अंक में कहा है कि ‘पुलवामा हमला खुफिया चूक थी’।’’

चिदंबरम ने ट्विटर पर कहा कि सरकार 'वीक' पत्रिका के आरोपों का जवाब देने और मल्टी एजेंसी सेंटर की भूमिका का खुलासा करने के लिए बाध्य है। पुलवामा और उसके बाद की घटनाओं को नजरअंदाज करना या कुछ दिनों के बाद भूल जाना बेहद खतरनाक होगा। गौरतलब है कि 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के फिदाई हमलावर ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें बल के 40 कर्मी शहीद हो गए।