BREAKING NEWS

डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के खिलाफ की जाएगी सख्त कार्रवाई : CM केजरीवाल◾शिया वक्फ बोर्ड ने तबलीगी जमात पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- 1 लाख से ज्यादा लोग मारने की बनाई थी योजना◾कोरोना वायरस : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में आवश्यक उपकरणों का स्टॉक मौजूद, PPE और वेंटिलेटर की खरीद शुरु◾देश में कोरोना फैलने के लिए अनिल देशमुख ने दिल्ली पुलिस को ठहराया जिम्मेदार◾कोरोना संकट से जारी जंग में मदद के तौर पर केंद्र सरकार ने राज्यों के लिए आपात पैकेज की दी मंजूरी◾महाराष्ट्र कैबिनेट ने उद्धव ठाकरे को MLC बनाने का लिया निर्णय, राज्यपाल को भेजेंगे प्रस्ताव ◾कोरोना संकट : ओडिशा सरकार ने 30 अप्रैल तक बढ़ाई लॉकडाउन की अवधि, केंद्र से किया ये अनुरोध◾गुजरात में कोरोना के 55 नए मरीज, अकेले अहमदाबाद के 50 लोग हुए संक्रमित◾PM मोदी ने किया ट्रम्प का समर्थन, कहा- मुश्किल वक्त ही दोस्तों को लाती है करीब◾जमात प्रमुख मौलाना साद के ठिकाने का हुआ खुलासा, पुलिस फिलहाल नहीं करेगी पूछताछ ◾झारखंड में कोरोना वायरस से 1 की मौत, मरीजों की संख्या एक दिन में तिगुनी हुई ◾Coronavirus : अमेरिका में मरने वालों की संख्या 14000 के पार, 11 भारतीयों के मौत की पुष्टि◾चीन में कोविड-19 के 63 नए मामलें सामने आए, अबतक करीब 3,335 लोगों की हुई मौत ◾पूरे विश्व कोरोना वायरस का कहर जारी, अब तक वायरस से संक्रमितों की संख्या 15 लाख से अधिक हुई ◾कोविड-19 : देश में 5,734 संक्रमित मामलों की पुष्टि वहीं 166 लोगों की अब तक मौत◾Covid-19 : दवा मिलने पर भारत के फैसले से डोनाल्ड ट्रम्प के सुर बदले नजर आए, कहा- थैंक्यू PM मोदी ◾कोरोना संकट : सरकार ने 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में पांच-पांच सौ रूपये की सहायता राशि डाली ◾देश में कोरोना का कहर जारी, वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या पांच हजार के पार,140 से ज्यादा लोगों की मौत◾जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों के खिलाफ होगा मामला दर्ज, दिया हुआ समय-सीमा समाप्त : अनिल विज ◾Covid 19 : लखनऊ समेत 15 जिलों में चुनिंदा इलाकों को किया जायेगा सील◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एनआरसी को एनपीआर के रूप में पेश करने की साजिश कर रही है सरकार: कांग्रेस

कांग्रेस ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के प्रायोगिक तौर पर भरवाए जा रहे फॉर्म पर सवाल उठाते हुए बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि यह एनआरसी को एनपीआर में रूप में लाने की सरकार की साजिश है। पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता अजय माकन ने यह भी कहा कि अगर सरकार एनपीआर को एनआरसी के साथ जोड़ने का कदम पीछे नहीं लेती है तो कांग्रेस इसका पुरजोर विरोध करेगी। 

उन्होंने कहा कि संप्रग सरकार ने सिर्फ एनपीआर पर कदम बढ़ाया था और इसे एनआरसी से कभी नहीं जोड़ा। कांग्रेस नेता ने कहा, ''एनपीआर और एनआरसी में फर्क करने की जरूरत है। एनपीआर सामान्य निवासी के लिए है। सामान्य निवासी के लिए सबसे अहम है कि वह व्यक्ति जिस स्थान का पता दे रहा है वहां पर वह एक साल में छह महीने तक रहा हो या फिर आगे छह महीने तक रहना चाहता हो।'' 

उन्होंने कहा, ''भाजपा ने चिदंबरम जी का जो वीडियो जारी किया उसमें स्पष्ट रूप से सामान्य निवासी की बात की गई है। भाजपा ने पिछले पांच साल में सामान्य निवासी की बात ही नहीं की। उन्होंने हमेशा एनआरसी की बात की है। वे लोग एनपीआर की बात ही नहीं करते थे।'' उन्होंने दावा किया, ''एनपीआर में 14 साधारण जानकारियां ली जाती थीं। 2020 एनपीआर के लिए इसी साल प्रीटेस्ट हुआ है जिसमें बड़ी संख्या में फॉर्म भरवाए गए हैं। प्रीटेस्ट फॉर्म (प्रायोगिक तौर पर फॉर्म भरवाना) की बात सरकार ने खारिज नहीं की है।'' 

माकन ने कहा, ''इस प्रीटेस्ट फॉर्म में माता-पिता के जन्मस्थान के बारे में जानकारी मांगी गई है। मुझसे पूछेंगे तो मेरे माता-पिता का जन्म पाकिस्तान में हुआ था, मैं उनका विवरण कहां से लाऊंगा। इसमें मोबाइल नम्बर और आधार नम्बर भी मांगे जा रहे हैं।'' उन्होंने आरोप लगाया, '' यह एनआरसी को एनपीआर के रूप में पेश करने की साजिश है।''