BREAKING NEWS

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में आयोजित भोज में शामिल नहीं होंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने बांग्लादेश को 18 रन से हराया, लगातार दूसरी जीत दर्ज की ◾TOP 20 NEWS 24 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾

CAA लागू करने में प्रभावी बदलाव के लिए सुझाव लेने को तैयार है सरकार : रामदास आठवले

बेंगलुरु : रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने सोमवार को कहा कि एनआरसी केवल असम के लिए है, समूचे देश के लिए नहीं और उन्होंने संकेत दिया कि अगर दिक्कतें आती हैं तो नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू करने में प्रभावी बदलाव के बारे में सुझावों के लिए सरकार तैयार है। 

आठवले ने कहा, ‘‘एनआरसी केवल असम के लिए है, यह पूरे भारत के लिए नहीं है। अब भारत सरकार ने भी कहा है कि इस संबंध में कहीं से भी, किसी भी सुझाव के बारे में उनको अवगत कराया जा सकता है...।’’ उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी भी एनआरसी और सीएए का समर्थन करती है। लेकिन, अगर कहीं कोई समस्या है तो निश्चित तौर पर भारत सरकार को इस कानून में कुछ चीजों में संशोधित करने के बारे में सोचना चाहिए। 

राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के मुद्दे पर, खासतौर से मुस्लिम समुदाय के लोगों की आशंकाओं को दूर करने की कोशिश करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दिल्ली में एक रैली में कहा था कि उनकी सरकार ने 2014 में पहली बार सत्ता में आने के बाद से कभी इस पर चर्चा नहीं की। उन्होंने स्पष्ट किया कि इस विवादास्पद मुद्दे (एनआरसी) पर न तो उनकी सरकार ने, ना ही कैबिनेट या संसद ने चर्चा की है।