BREAKING NEWS

नवाब मलिक ने केंद्र पर लगाया आरोप, कहा- निर्यात कंपनियों को महाराष्ट्र को रेमडेसिविर देने से किया मना ◾कोरोना से निपटने में असफल रही केंद्र सरकार, पूर्व PM के सुझावों को मोदी के पास भेजेगी कांग्रेस : CWC ◾कोरोना की स्थिति को लेकर राहुल का मोदी पर निशाना, 'श्मशान और कब्रिस्तान दोनों...जो कहा सो किया'◾बंगाल में 1:30 बजे तक 54.67 % हुआ मतदान, शांतिनगर क्षेत्र में TMC, भाजपा समर्थकों के बीच हुई झड़प◾सोनिया गांधी ने केंद्र पर निशाना साधा, बोलीं- वैक्सीन के लिए आयुसीमा घटाकर 25 साल करे सरकार ◾PM मोदी बोले-2 मई को बंगाल की जनता 'दीदी' को देगी 'भूतपूर्व मुख्यमंत्री' का प्रमाणपत्र◾चारा घोटाला मामले में आजाद हुए लालू, रांची HC ने दी RJD सुप्रीमो को जमानत, जल्द होंगे जेल से रिहा ◾ओडिशा CM का PM मोदी को पत्र, कोरोना संकट के बीच कुछ कदम उठाने के दिए सुझाव◾CM गहलोत ने जनता के नाम संदेश में कहा- कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक, सरकार नहीं रखेगी कोई कमी◾भारत में कोरोना का तांडव, एक दिन में 2 लाख 34 हज़ार लोग हुए संक्रमित, 1341 ने गंवाई जान◾PM मोदी ने की संत समाज से अपील, कहा- कुंभ को कोरोना संकट के चलते रखा जाए ‘प्रतीकात्मक’ ◾विश्व में कोरोना केस की संख्या 13.96 करोड़ के पार, मरने वालों का आंकड़ा 29.9 लाख से अधिक ◾सोनिया गांधी की अगुवाई में CWC की बैठक आज, कोरोना महामारी से पैदा हुए हालात पर होगी चर्चा ◾पश्चिम बंगाल : 6 जिलों की 45 सीटों पर वोटिंग जारी, PM मोदी ने लोगों से भारी संख्या में मतदान की अपील की◾राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 की हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

केंद्र सरकार किसानों को एक लाख करोड़ रुपये की अतिरिक्त आमदनी मुहैया कराएगी : धर्मेंद्र प्रधान

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार किसानों को एक लाख करोड़ रुपये की अतिरिक्त आमदनी मुहैया कराएगी और यह रकम अपशिष्ट को ऊर्जा में तब्दील करने से हासिल होगी। प्रधान ने बतौर सदस्य, राज्यसभा में राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लिया। 

उन्होंने कहा ‘‘हमने गोबर धन योजना शुरू की है। गाय का गोबर, कृषि अपशिष्ट, शहर का, वनों का तथा अपशिषट, बायोमास में पाये जाने वाला कार्बन... सब कुछ ऊर्जा में तब्दील किया जाएगा। कुछ ही दिन में गाजीपुर में लगा कचरे का ढेर भी साफ कर दिया जाएगा। इसी ऊर्जा से अर्जित होने वाली एक लाख करोड़ रुपये की राशि किसानों के खातों में डाली जाएगी।’’ 

प्रधान ने कहा कि सरकार 20,000 करोड़ रुपये में एथेनाल की खरीद करने की एक योजना लेकर आई है जिससे भी किसानों की आमदनी बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा ‘‘हमने 2020-21 में 325 करोड़ लीटर एथेनाल खरीदने की योजना बनाई है। हमने खरीद शुरू कर दी है जिस पर 20,000 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह जरूरत का 8.5 फीसदी होगा। आने वाले दिनों में हम इसे 20 फीसदी तक ले जाएंगे।’’ 

लंबे समय तक सत्ता में रहने के बावजूद फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून न लाने और अब इस मुद्दे को लेकर वर्तमान सरकार पर सवाल उठाने के लिए कांग्रेस पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्रधान ने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद से मोदी सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर अनाज की खरीद में उल्लेखनीय वृद्धि की है। 

प्रधान ने कांग्रेस से सवाल किया ‘‘क्यों पहले एमएसपी कानून नहीं लाया गया। आपकी चार पीढ़ियों ने देश पर शासन किया। कई राज्यों पर आपने यह सोच कर शासन किया कि यह आपकी जागीर है। आप क्यों एमएसपी पर कानून नहीं लाए? आप हमसे सवाल करते हैं कि हमने एमएसपी कहां दिया ? आपके समय में यानी 2013-14 में किसानों को बतौर एमएसपी 97,110 करोड़ रुपये दिए गए थे। हमारे समय में 2020-21 में हमने 2.60 लाख करोड़ रुपये एमएसपी के तौर पर दिए। आप उनसे सवाल करते हैं जो पूरी ईमानदारी के साथ किसानों के लिए काम करते हैं।’’ 

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के समय में धान उत्पादकों को इस साल 1.72 लाख करोड़ रुपये बतौर एमएसपी भुगतान किए गए जबिक 2013-14 में यह राशि 63,000 करोड़ रुपये ही थी। प्रधान ने कहा कि कांग्रेस मोदी सरकार के प्रयासों की सराहना कर ही नहीं सकती क्योंकि उसने वंशवाद को बढ़ावा देने के अलावा और कुछ नहीं किया है।