BREAKING NEWS

आखिर कब थमेगा कोरोना का कहर ! दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा संख्या 3 करोड़ 6 लाख के पार◾LAC विवाद के बीच सियाचिन में तैनात सैनिकों के खाने की पौष्टिकता में कोई कमी नहीं◾कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए पीएम मोदी ने सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बुलाई बैठक◾आज का राशिफल (20 सितम्बर 2020)◾एक्ट्रेस पायल घोष ने डायरेक्टर अनुराग कश्यप पर यौन शोषण के आरोप लगाए, कंगना बोलीं अरेस्ट करो◾IPL-13: चेन्नई सुपर किंग्स का जीत से आगाज, 5 विकेट से मुंबई को दी शिकस्त ◾J&K : पाकिस्तानी सैनिकों ने फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, भारतीय जवानों ने दिया मुहतोड़ जवाब◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 11.88 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 21,907 नए केस◾दिल्ली में कोरोना का कहर बरकरार, पिछले 24 घंटे में 4,071 नए केस, 38 की मौत ◾ IPL 2020 : मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को दिया 163 रनों का लक्ष्य, लुंगी नगिदी ने झटके 3 विकेट◾विदेश मंत्री एस जयशंकर की मां सुलोचना सुब्रमण्यम का निधन, पिछले कुछ समय से थीं बीमार◾ UPSC की तर्ज पर RPSC-RSSB की भर्ती होगी पूरी, CM गहलोत ने दिए निर्देश◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 5287 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 3.48 लाख के पार पहुंची◾कोरोना वायरस: अगले हफ्ते पुणे में शुरू होगा ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल◾पत्रकार राजीव शर्मा ने जासूसी कर डेढ़ साल में कमाए 40 लाख रुपये, हर जानकारी के बदले मिले 1000 डॉलर◾भारत को कोरोना से लड़ाई में ऐतिहासिक उपलब्धि, स्वस्थ मरीजों के मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ बना शीर्ष◾चीन के लिए रक्षा संबंधी जासूसी करने वाले पत्रकार समेत एक चीनी महिला और नेपाली युवक गिरफ्तार◾कृषि बिल को लेकर चिदंबरम का बड़ा हमला : हर पार्टी तय करे कि वह किसानों के साथ है या भाजपा के साथ◾J&K में एक साल के लिए बिजली-पानी के बिल हुए आधे, व्यापारियों के लिए 1350 करोड़ के पैकेज का ऐलान ◾आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद राज्यपाल धनखड़ का ममता पर प्रहार, कहा - राज्य बना अवैध बम बनाने का घर◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

GST का हुआ एक साल पूरा, र्थव्यवस्था में गेम चेंजर साबित हुई नई व्यवस्था : वित्त मंत्रालय!

नई दिल्ली : गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) को एक साल हो गया है। एक जुलाई 2017 को सरकार ने 70 साल पुराना टैक्स स्ट्रक्चर खत्म कर दिया था। इसकी जगह जीएसटी लागू किया था। वित्त मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा, पहला साल इसके कार्यान्वयन की चुनौतियों और नीति नियंताओं व कर प्रशासकों की उत्सुकता व क्षमता दोनों के लिए उल्लेखनीय रहा, जिन्होंने उभरती चुनौतियों का यथोचित उपाय किया।

वित्त मंत्रालय ने कहा, लेकिन गौर करने की बात यह है कि भारतीय कर प्रणाली में इस अभूतपूर्व सुधार में भारतीय करदाताओं के भागीदार बनने की तत्परता से दुनिया के लिए जीएसटी एक मिसाल बन गई है। नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली लागू होने से पहले भारत में केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और स्थानीय निकायों द्वारा लगाए जाने वाले करों का एक गड़बड़झाला था।

मंत्रालय ने कहा, जीएसटी का भारतीय अर्थव्यवस्था पर सही मायने में अभूतपूर्व प्रभाव पड़ा है और यह एक गेम चेंजर साबित हुआ है, क्योंकि इससे कई स्तरों पर लगने वाले अप्रत्यक्ष करों की जटिल व्यवस्था बदल गई है और उसकी जगह एक सरल, पारदर्शी और प्रौद्योगिकी से प्रेरित कर व्यवस्था आ गई है। वित्त मंत्रालय ने कहा, अंतर्राज्यीय व्यापार की बाधाएं दूर होने से भारत में एकल बाजार व्यवस्था कायम होगी। विभिन्न स्तरों पर लगने वाले करों को समाप्त करके और लेन-देन लागत को कम करके यह देश में व्यापार को सुगम बना देगा और मेक इन इंडिया कार्यक्रम को प्रोत्साहन देगा। जीएसटी से एक राष्ट्र एक कर और एक बाजार व्यवस्था कायम होगी।