BREAKING NEWS

केंद्र ने एक मार्च से कोविड-19 टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण की घोषणा की ◾ममता ने PM मोदी को खत लिख सबके लिए टीके खरीदने में मदद मांगी ◾सिर्फ मोटेरा स्टेडियम का नामकरण मोदी पर हुआ, परिसर पटेल के ही नाम पर रहेगा : सरकार ◾मोटेरा स्टेडियम का नाम PM मोदी के नाम पर रखना उनकी दूरदृष्टि को सम्मान देने का प्रयास : जे पी नड्डा ◾CM योगी आदित्यनाथ से नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने मुलाकात की ◾दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 8वीं तक के छात्रों को नहीं देनी होगी परीक्षा : शिक्षा निदेशालय ◾एसकेएम राष्ट्रपति कोविंद को लिखा पत्र, गिरफ्तार किसानों की बिना शर्त रिहाई की मांग की ◾25 फरवरी को पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे जे पी नड्डा , कई कार्यक्रमों में करेंगे शिरकत ◾स्टेडियम का नाम बदलने को लेकर राहुल का केंद्र पर तंज, कहा- नरेंद्र मोदी स्टेडियम में एक अडाणी छोर- रिलायंस छोर ◾राजनाथ सिंह को मिले किसानों से बात करने की आजादी, तो हो जाएगा सम्मानजनक फैसला : नरेश टिकैत◾भारत और चीन की सीमा पर सैनिकों का पीछे हटना दोनों पक्षों के लिए लाभकारी : थल सेना प्रमुख ◾'बनावटी' जानकारी वाले नेता है राहुल, भारतीयों का अपमान करना पसंदीदा शगल है : जावड़ेकर ◾इशांत को 100वें टेस्ट की उपलब्धि मैच में राष्ट्रपति और गृहमंत्री द्वारा सम्मान के साथ मिला ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ ◾सरकार का काम व्यवसाय करना नहीं, उसका ध्यान जन कल्याण पर होना चाहिए : PM मोदी ◾अक्षर की जादुई फिरकी के आगे ढेर हुई रुट कंपनी, पहली पारी में महज 112 रन पर सिमटा इंग्लैंड ◾CM योगी का राहुल का तीखा हमला- देश को इतना खतरा आतंकवादियों से नहीं जितना ऐसी मानसिकता से है ◾1 मार्च से होगा शुरू कोरोना वैक्सीन का दूसरा चरण, 60 साल से अधिक उम्र वालों को लगेगा टीका◾ममता बनर्जी ने PM मोदी को बताया सबसे बड़ा दंगाबाज,कहा- उनकी किस्मत डोनाल्ड ट्रंप से भी बुरी होगी◾नरेंद्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जायेगा मोटेरा स्टेडियम, अमित शाह ने खासियतें बताते हुए किये ये ऐलान ◾गिरिराज का राहुल पर तंज, जो काम आपके नाना जी से नहीं हुआ, वो PM मोदी ने किया ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वैक्सीन के परिवहन के लिए DGCA ने जारी किये दिशा-निर्देश, जानिये कैसे पैक होंगे टीके

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने शुष्क बर्फ में कोविड-19 टीकों के परिवहन के लिए विमान सेवा कंपनियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं। महानिदेशालय के आज जारी परिपत्र में कहा गया है कि यात्री केबिन में यदि शुष्क बर्फ के साथ टीकों की ढुलाई की अनुमति तभी होगी जब उसमें आम यात्री सवार न हों। साथ ही केबिन क्रू तथा अनिवार्य सदस्यों के लिए सुरक्षा के लिए जरूरी निर्देश दिये गये हैं। 

कोविड-19 के लिए दुनिया भर में विकसित विभिन्न टीकों को माइनस आठ से माइनस 70 डिग्री सेंटीग्रेड के बीच रखने की जरूरत होती है। इसे देखते हुये उनके परिवहन और भंडारण के दौरान तापमान कम रखने के लिए कई प्रकार के उपाय किये जाते हैं। शुष्क बर्फ यानी ठोस कार्बन डाई-ऑक्साइड काफी सस्ता आसानी से उपलब्ध विकल्प है, लेकिन माइनस 78 डिग्री सेंटीग्रेड से अधिक तापमान पर यह लगातार गैस में बदलता रहता है। इससे विमान के अंदर वायु दाब में बदलाव और कार्बन डाई-ऑक्साइड गैस की अधिकता की समस्या आ सकती है। 

डीजीसीए ने एयरलाइंस से कहा है कि वे विमान निर्माता कंपनियों के मैन्युअल के अनुरूप यह तय करें कि कार्गो कंपार्टमेंट में और केबिन में अधिकतम कितना शुष्क बर्फ रखा जा सकता है। इसके लिए तकनीकी दिशा-निर्देश क्या हैं। साथ ही कार्बन डाई-ऑक्साइड गैस से किसी को नुकसान न हो इसके लिए चालक दल के सदस्यों को प्रशिक्षित किया जाना अनिवार्य किया गया है। केबिन में अन्य अनिवार्य सदस्यों की उपस्थिति की स्थिति में हर समय अतिरिक्त ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया गया है।  

ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन का भारत में कहर जारी, संक्रमित लोगों की संख्या हुई 82