BREAKING NEWS

Yasin Malik News: टेरर फंडिंग मामले में यासीन मलिक को हुई उम्रकैद की सजा! 10 लाख का लगाया गया जुर्माना◾यासिन मलिक को उम्रकैद की सजा मिलने के बाद घाटी में मचा कोहराम! हिंसा की वजह से बंद हुआ इंटरनेट ◾ओडिशा में दुर्घटना को लेकर मोदी बोले- इस घटना से काफी दुखी हूं, जल्द स्वस्थ होने की करता हूं कामना◾वहीर पारा को जमानत मिलने पर महबूबा मुफ्ती बोलीं- मैं आशा करती हूं वह जल्द ही बाहर आ जाएंगे◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 26 मई को महिला जनप्रतिनिधि सम्मेलन-2022 का उद्घाटन करेंगे◾UP विधानसभा में भिड़े केशव मौर्य और अखिलेश यादव.. जमकर हुई तू-तू मैं-मैं! CM योगी को करना पड़ा हस्तक्षेप◾सपा का हाथ थामने पर जितिन प्रसाद ने कपिल सिब्बल पर किया कटाक्ष, कहा- कैसा है 'प्रसाद'?◾Chinese visa scam: कार्ति चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें! धन शोधन के मामले में ED ने दर्ज किया मामला ◾ज्ञानवापी मामले को लेकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई, दायर हुई नई याचिका पर हुआ बड़ा फैसला! ◾यासीन मलिक की सजा पर कुछ देर में फैसला, NIA ने सजा-ए-मौत का किया अनुरोध◾Sri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया ने नया वित्त मंत्री नियुक्त किया, पीएम रानिल विक्रमसिंघे को सोपी यह कमान ◾पाकिस्तान में बन रहे गृह युद्ध के हालात... इमरान खान पर लटक रही गिरफ्तारी की तलवार, जानें पूरा मामला ◾SP के टिकट पर राज्यसभा जाएंगे कपिल सिब्बल.. नामांकन दाखिल! डैमेज कंट्रोल में जुटे अखिलेश? ◾पेरारिवलन से MK स्टालिन की मुलाकात पर बोले राउत-ये हमारी संस्कृति और नैतिकता नहीं◾यूक्रेन के मारियुपोल में इमारत के भूतल में मिले 200 शव, डोनबास में जारी है पुतिन की सेना के ताबड़तोड़ हमले ◾हिंदू पक्ष ने Worship Act 1991 को बताया असंवैधानिक...., SC में नई याचिका हुई दायर, जानें क्या कहा ◾J&K : बारामूला मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने ढेर किए 3 पाकिस्तानी आतंकी, पुलिस का 1 जवान शहीद ◾बिहार में फिर कहर बनकर टूटी जहरीली शराब, गया और औरंगाबाद में अब तक 11 की मौत◾राज्यसभा के लिए SP ने फाइनल किए नाम, सिब्बल के जरिए एक तीर से दो निशाने साधेंगे अखिलेश?◾केंद्रीय मंत्री के ट्विटर से गायब हुए मुख्यमंत्री... नीतीश संग जारी मतभेद पर RCP ने कही यह बात, जानें मामला ◾

भारी बारिश और बर्फबारी के दौरान केदारनाथ धाम में फंसे उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत

नई दिल्ली : देहरादून के मौसम विज्ञान केंद्र की तरफ से उत्तराखंड के पहाड़ी इलाके में अगले 24 घंटों तक भारी बारिश और तूफान की आशंका जताई गई है। भारी बारिश और बर्फबारी के चलते उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत केदारनाथ धाम में फंस गए हैं। इस खराब मौसम के कारण ना हेलिकॉप्टर उड़ान भर पा रहा है और ना ही वापसी का पैदल मार्ग सुरक्षित है। फिलहाल मौसम के साफ होने का इंतजार किया जा रहा है।

https://twitter.com/ANI/status/993713486810120193

हरीश रावत के साथ सांसद प्रदीप टम्टा भी फंस हुए हैं। गौरतलब है कि मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए प्रशासन ने केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में रोक दिया है। केदारनाथ में लगातार बारिश और बर्फबारी के चलते तीन इंच से अधिक बर्फ जम गई है। सोमवार को केदारनाथ में पूरे दिन ही मौसम का मिजाज बिगड़ा रहा। सुबह 10 बजे के बाद शुरू हुई बारिश और बर्फबारी करीब साढ़े पांच घंटे तक जारी रही। मौसम खराब होने बावजूद बाबा केदार के भक्तों के उत्साह में कमी नहीं आई।

कई श्रद्धालु भी फंसे श्रद्धालु बरसाती ओढ़कर अपनी बारी का इंतजार करते रहे। वहीं खराब मौसम के चलते सोमवार को भी केदारनाथ के लिए संचालित हेलिकॉप्टर सेवा भी साढ़े पांच घंटे प्रभावित रही। 6:30 बजे से गुप्तकाशी, फाटा व शेरसी हेलिपैड से सात हेली कंपनियों के हेलिकॉप्टर धाम के लिए उड़ान भरने लग गए थे लेकिन 10 बजे से दोपहर बाद 3.30 बजे तक खराब मौसम के कारण यह सेवा बंद रही।

आपको बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री ने सोमवार को पैदल मार्ग से केदारनाथ धाम पहुंच बाबा केदारनाथ के दर्शन किए। दर्शन से पूर्व केदारनाथ धाम के पंडा समाज एवं व्यापारियों से पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा चर्चा की गई। केदारनाथ धाम के व्यापारी और पंडा समाज ने लेजर शो में केदारनाथ मंदिर को पर्दे के रूप में उपयोग करने और इस मौके पर मोदी सरकार का प्रचार करने पर सरकार की निंदा की। केदारनाथ धाम में गुजरात सरकार के पोस्टर लगे होने पर पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा भी आश्चर्य व्यक्त किया गया।

चारधाम यात्रा रोकी मौसम खराब होने के कारण केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में ही रोक दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, केदारनाथ में भारी बर्फबारी हुई है। इसके अलावा बद्रीनाथ और हेमकुंड में भी बर्फबारी हुई है। बद्रीनाथ हाईवे लामबगड़ में अवरूद्ध हो गया है। इसके अलावा यमुनोत्री हाइवे पर मलबा आने से यात्रा प्रभावित हुई है।

व्यापारियों में नाराजगी केदारनाथ मंदिर को जाने वाले पैदल मार्ग को चौड़ा करके वहां से स्थानीय व्यापारियों की दुकानें हटाई गईं, उससे भी वहां के व्यापारियों में नाराजगी दिखी। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि बड़ी संख्या में पहुंच रहे तीर्थ यात्रियों के लिए शौचालय की व्यवस्था तक पर्याप्त नहीं है, जिस कारण केदारनाथ धाम में गंदगी का अंबार लगा हुआ है और ना ही घोड़े-खच्चर वालों के लिए कोई खास व्यवस्था की गई है।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ