BREAKING NEWS

क्या राहुल द्रविड़ बन सकते है भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच ? हेड coach के लिए किया आवेदन◾राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ मंडाविया करेंगे बैठक, वैक्सीन की दूसरी डोज समेत कई मुद्दों पर होगी चर्चा ◾UP चुनाव में एक नई हाई-प्रोफाइल पार्टी की होगी एंट्री, हिंदी भाषी क्षेत्र में धूम मचाने के लिए पूरी तरह तैयार TMC◾कांग्रेस ने नफरत के खिलाफ ‘वैचारिक युद्ध’ का लिया निर्णय, AICC मीटिंग में हुए ये तीन अहम फैसले ◾लालू ने नीतीश को बताया 'सबसे अहंकारी', कांग्रेस के साथ तकरार के लिए 'छुटभैए' नेताओं को ठहराया जिम्मेदार ◾आर्यन का गोसावी के साथ संबंधों से इनकार, NCB ने जमानत का किया विरोध, लगाए ये बड़े इल्जाम ◾योगी का केजरीवाल पर तंज- राम को गाली देने वालों को अब आ रही अयोध्या की याद, पहले संभालिए दिल्ली ◾शिक्षित युवा पाकिस्तान के साथ अपनी पहचान क्यों चुनते हैं? केंद्र पता लगाए: महबूबा मुफ्ती◾अखिलेश यादव ने सरकार पर लगाया आरोप, कहा-भाजपा का 'झूठ का फूल' अब बना 'लूट का फूल' ◾मलिक ने लगाई आरोपों की झड़ी, कहा- सेलिब्रिटीज के फोन टैप करवाते हैं वानखेड़े, चलाते हैं 'वसूली गिरोह'◾नवाब मलिक के दावों को क्रांति वानखेड़े ने बताया गलत, बोलीं-मेरे पति एक ईमानदार अफसर◾पंजाब की सियासत में अमरिंदर खेलेंगे दाव? पूर्व मुख्यमंत्री कल कर सकते हैं नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा ◾लखीमपुर हत्याकांड : SC का आदेश- गवाहों को दें सुरक्षा, जांच में तेजी लाए सरकार◾कांग्रेस-RJD की लड़ाई को सुशील मोदी ने बताया 'नूराकुश्ती', बोले-चुनाव के बाद हो जाएंगे एक◾दिल्ली : NCB प्रमुख से मुलाकात करने पहुंचे वानखेड़े, मलिक के आरोपों पर बोले DDG- करेंगे आवश्यक कार्रवाई ◾अनिल विज का मुफ्ती पर तीखा हमला- PAK की जीत पर पटाखे फोड़ने वालों का DNA नहीं हो सकता भारतीय ◾BJP खुद को मानती है केंद्रीय जांच एजेंसियों का आका, याद रखें कि लोकतंत्र में हमेशा होता है बदलाव : शिवसेना◾सोनिया की अगुवाई में AICC मीटिंग, कहा- सरकार की ज्यादतियों के खिलाफ और तेज करनी चाहिए लड़ाई ◾जम्मू-कश्मीर में आतंक गतिविधियों का सिलसिला जारी, बांदीपोरा विस्फोट में 5 नागरिक घायल◾समीर वानखेड़े ने फर्जी दस्तावेज से हासिल की सरकारी नौकरी, होनी चाहिए जांच : नवाब मलिक◾

स्वास्थ्य मंत्री ने AIIMS के डॉक्टरों का बड़े पैमाने पर तबादले वाली खबरों का बताया गलत, कही ये बात

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को मीडिया के एक वर्ग में जारी उन खबरों को ‘भ्रामक’ करार दिया, जिनमें कहा गया था कि स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि एम्स-दिल्ली के डॉक्टरों का बड़े पैमाने पर तबादला होगा। खबरों के मुताबिक मंत्री ने शनिवार को एम्स के 66वें स्थापना दिवस पर यह बात कही थी।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ''खबर में कहा गया है कि सरकार जल्द ही देश भर के सभी एम्स में एक समान चिकित्सा मानकों को लागू करने के लिए एक स्थानांतरण नीति लागू करेगी। इस नीति के तहत एम्स-दिल्ली के डॉक्टरों का बड़े पैमाने पर नए एम्स में स्थानांतरण किया जाएगा, जबकि एम्स-दिल्ली में नए डॉक्टरों की नियुक्ति की जाएगी।''

बयान में कहा गया है, ''यह स्पष्ट किया जाता है कि कल एम्स नयी दिल्ली के 66वें स्थापना दिवस समारोह में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के बयान के हवाले से विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरें गलत और भ्रामक हैं। केंद्रीय मंत्री ने कल इस तरह के बयान नहीं दिए थे। ये खबरें गलत हैं और तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया गया है।''