BREAKING NEWS

Independence Day 2022 : पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देने वाले वैश्विक नेताओं का किया आभार व्यक्त ◾Independence Day 2022 : सीमा पर तैनात भारत और पाकिस्तान के सैनिकों ने मिठाइयों का किया आदान प्रदान ◾Independence Day 2022 : विश्व नेताओं ने स्वतंत्रता के 75 वर्षों में भारत की उपलब्धियों की सराहना की◾Independence Day 2022 : लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने दिया 'जय अनुसंधान' का नारा,नवोन्मेष को मिलेगा बढ़ावा◾स्वतंत्रता दिवस पर गहलोत ने फहराया झंडा! CM ने कहा- देश के स्वर्णिम इतिहास से प्रेरणा ले युवा ◾क्रूर तालिबान का सत्ता में एक साल पूरा : कितना बदला अफगानिस्तान, गरीबी का बढ़ा दायरा ◾नगालैंड : स्वतंत्रता दिवस पर उग्रवादियों के मंसूबे नाकाम, मुठभेड़ में असम राइफल्स के दो जवान घायल◾शशि थरूर के टी जलील की विवादित टिप्पणी पर भड़के, कहा- देश से ‘तत्काल' माफी मांगनी चाहिए◾विपक्ष का मोदी पर तीखा वार, कहा- महिलाओं के प्रति अपनी पार्टी का रवैया देखें प्रधानमंत्री◾स्वतंत्रता दिवस की 76 वी वर्षगांठ पर सीएम ने किया 75 ‘आम आदमी क्लीनिक’ का उद्घाटन ◾Bihar: 76वें स्वतंत्रता दिवस पर बोले नीतीश- कई चुनौतियों के बावजूद बिहार प्रगति के पथ पर अग्रसर ◾मध्यप्रदेश : आपसी झगड़े के बीच बम का धमाका, एक की मौत , 15 घायल◾बेटा ही बना पिता व बहनों की जान का दुश्मन, संपत्ति विवाद के चलते की धारदार हथियार से हत्या ◾स्वतंत्रता दिवस पर मोदी की गूंज! पीएम ने कहा- हर घर तिरंगा’ अभियान को मिली प्रतिक्रिया...... पुनर्जागरण का संकेत◾उधोगपति मुकेश अंबानी के परिवार को जान से मारने की धमकी, जांच शुरू◾स्वतंत्रता दिवस पर बोले केजरीवाल- 130 करोड़ लोगों को मिलकर नए भारत की नीव रखनी है, मुफ्तखोरी को लेकर कही यह बात ◾Independence Day 2022 : देश में सहकारी प्रतिस्पर्धी संघवाद की जरूरत : पीएम मोदी ◾कांग्रेस नेता पवन खेड़ा का केंद्र पर कटाक्ष- पीएम अपने आठ साल का ब्यौरा देंगे लेकिन मोदी ने जनता को किया निराश◾Independence Day: आजादी अमृत महोत्सव पर योगी बोले- 76वें स्वतंत्रता दिवस पर...संसदीय लोकतंत्र पर गर्व होना चाहिए ◾ देश की विविधता पर गर्व करने की जरूरत : पीएम मोदी ◾

सिख फॉर जस्टिस द्वारा संसद के ऊपर खालिस्तान का झंडा फहराने के ऐलान के बाद दिल्ली में हाई अलर्ट

संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू होने के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। खुफिया एजेंसियों के अनुसार प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस ने शीतकालीन सत्र के पहले दिन संसद के ऊपर खालिस्तान का झंडा फहराने का फैसला किया था। 

एसएफजे द्वारा संसद भवन पर खालिस्तानी झंडा फहराने पर इनाम घोषित 

एसएफजे के प्रवक्ता गुरपतवंत पन्नू ने एक वीडियो संदेश में पंजाब के किसानों से संसद का घेराव करने का आग्रह किया है। उसने संसद भवन पर 'खालिस्तानी और भगवा झंडे' फहराने के लिए 1.25 लाख अमरीकी डालर के इनाम की भी घोषणा की।

दिल्ली पुलिस के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "ऐसे मौकों (संसद सत्र) में, हम और अधिक सतर्क हो जाते हैं। हम किसी भी खतरे का मुकाबला करने के लिए अपनी उपस्थिति और जांच में वृद्धि करते हैं।"

 2019 में केंद्र सरकार ने एसएफजे पर लगाया था प्रतिबंध

संसद परिसर और उसके आसपास भारी पुलिस बल देखा जा सकता है। विशेष रूप से, केंद्र ने जुलाई 2019 में एसएफजे पर प्रतिबंध लगा दिया था, जो अपने अलगाववादी एजेंडे के तहत सिख जनमत संग्रह 2020 के लिए जोर देता है। पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसे आईएसआई समर्थित संगठन की भारत विरोधी और अलगाववादी योजनाओं की दिशा में पहला कदम बताया था। 

इस साल की शुरुआत में भी, एसएफजे ने 26 जनवरी को दिल्ली में प्रतिष्ठित लाल किले के ऊपर झंडा फहराने वाले व्यक्ति को 2.5 लाख अमरीकी डालर देने की घोषणा की थी। उसी दिन कृषि सुधार कानूनों का विरोध करने वाले हजारों किसानों ने सुरक्षा का उल्लंघन किया था।