BREAKING NEWS

डॉक्टरों की देशभर में प्रदर्शन, महाराष्ट्र में 40,000 डॉक्टर हड़ताल पर ◾डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग वाली याचिका पर सुनवाई कल : सुप्रीम कोर्ट ◾17वीं लोकसभा का पहला सत्र प्रारंभ, PM मोदी सहित नवनिर्वाचित सांसदों ने ली शपथ ◾संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष महत्वपूर्ण, संख्या को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं : PM मोदी ◾वर्ल्ड कप में भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, लगा बधाईयों का तांता, अमित शाह ने बताया एक और स्ट्राइक ◾IMA की हड़ताल में शामिल होंगे दिल्ली के अस्पताल, AIIMS ने किया किनारा ◾ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक◾विश्व कप 2019 Ind vs Pak : भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन से रौंदा◾IMA के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली के कई अस्पतालों में नहीं होगा काम ◾सभी वर्गों को भरोसे में लेकर करेंगे सबका विकास : PM मोदी◾PM मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ कूटनीतिक और रणनीतिक रिवायत को बदला : जितेन्द्र सिंह◾प्रणव मुखर्जी से मिले नीतीश कुमार◾बिहार में AES की रोकथाम और इलाज के लिए हरसंभाव सहायता देगा केंद्र : हर्षवर्द्धन◾कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को विदेशों से मिला धन, निजी फायदे के लिए उसका किया इस्तेमाल : NIA◾Top 20 News - 16 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक राष्ट्र, एक चुनाव पर बात करने के लिए PM मोदी ने सभी दलों के प्रमुखों को किया आमंत्रित◾प्रदर्शनकारी डॉक्टरों ने कहा, CM जगह तय करें लेकिन बैठक खुले में होनी चाहिए ◾बिहार : मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों का आंकड़ा पहुंचा 93 ◾नए चेहरों के साथ संसद में आए नई सोच, तभी बनेगा नया भारत : PM मोदी◾धर्मयात्रा नहीं राजनीति करने आए है उद्धव ठाकरे : इकबाल अंसारी◾

देश

मानसरोवर यात्रियों के सामान की खच्चर से ढुलाई पर HC ने लगायी रोक

नैनीताल : उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्रियों के सामान की खच्चर से ढुलाई के संबंध में यात्रा की नोडल एजेंसी कुमांऊ मंडल विकास निगम (केएमवीएन) द्वारा जारी निविदा पर रोक लगा दी है। इससे आज से शुरू मानसरोवर यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को खासी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। 

यात्रा के पहले जत्थे में 59 श्रद्धालु शामिल हैं। न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया ने एक अयोग्य निविदाकर्ता को यात्रियों के सामान को खच्चर से ढोने के लिये अधिकृत किये जाने से संबंधित याचिका पर कल सुनवाई करते हुए इस संबंध में केएमवीएन द्वारा जारी निविदा पर रोक लगा दी । 

याचिका में आरोप लगाया गया है कि यात्रियों के सामान की ढुलाई का ठेका न्यूनतम कीमत की पेशकश करने वाले के बजाय दूसरे निविदाकर्ता को दे दिया गया। याचिका दायर करने वाले धारचूला के कुंदन सिंह भंडारी ने दावा किया कि केएमवीएन द्वारा आमंत्रित की गयी आनलाइन निविदा में उसने यात्रियों के सामान को खच्चर से ढोने के लिये रू 1.45 प्रति किलोग्राम प्रति किलोमीटर का भाव भरा था जो न्यूनतम था जबकि धारचूला के अशोक सिंह ने रू 1.70 का भाव दिया था । 

भंडारी ने कहा कि बातचीत के बाद यात्रियों के सामान के ढुलान का भाव रू 1.25 पर तय हो गया जिसके बाद उसने स्टांप पेपर पर बांड पर दस्तखत कर पांच लाख रू निगम में जमा करा दिये । याचिकाकर्ता ने कहा कि लेकिन बाद में नैनीताल के जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने दूसरे न्यूनतम निविदाकर्ता अशोक कुमार को बुलाया और उससे सामान की ढुलाई का भाव 86 पैसे पर तय कर लिया तथा उसे काम सौंप दिया । 

भंडारी द्वारा इस निर्णय को उच्च न्यायालय में चुनौती दी गयी जिस पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति धूलिया ने निगम की निविदा प्रक्रिया पर रोक लगा दी और उसे इस संबंध में एक जवाब दाखिल करने को कहा है ।  

न्यायालय का यह आदेश ऐसे समय में आया है जब यात्रा शुरू हो गयी है और इससे उत्तराखंड के लिपुलेख दर्रे के जरिये कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है ।