BREAKING NEWS

बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर से पहले सभी पक्षकारों को विश्वास में लिया जाए : कांग्रेस ◾चीन में कोरोनावायरस संक्रमण से अभी तक कोई भारतीय प्रभावित नहीं : विदेश मंत्रालय ◾सभी शरणार्थियों को CAA के तहत दी जाएगी नागरिकता : पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख ◾खेलो इंडिया की तर्ज पर हर वर्ष खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स आयोजित होगा : प्रधानमंत्री मोदी ◾हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं, शांति हर सवाल का जवाब : PM मोदी ◾उल्फा (आई) ने गणतंत्र दिवस पर असम में हुए विस्फोटों की जिम्मेदारी ली ◾गणतंत्र दिवस पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी को संविधान की प्रति भेजी ◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो की मौजूदगी में भारत ने मनाया 71वां गणतंत्र दिवस ◾71वां गणतंत्र दिवस के मोके पर राष्ट्रपति कोविंद ने राजपथ पर फहराया तिरंगा◾गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾

कैप्टन अमरेंद्र द्वारा औद्योगिक बिजली दरों का मामला विचारने के लिए उच्च स्तरीय बैठक

लुधियाना-पटियाला  : पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने औद्योग जगत के लिए सस्ती बिजली दरों का मामला विचार-विमर्श के लिए उच्च स्तरीय बैठक करते हुए 2 वरिष्ठ मंत्रियों को आदेश दिया है कि वे मंगलवार को औद्योगपतियों और कारखानेदारों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात करके सरकार के औद्योग को 5 रूपए प्रति यूनिट के वायदे को जल्द लागू करवाने के साथ-साथ उनकी आशंकाओं को दूर करें। सीएम अमरेंद्र सिंह ने बिजली मंत्री राणा गुरजीत सिंह और वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल को यह भी कहा कि वे औद्योगपतियों से मुलाकात करके बिजली दरों को पिछले वक्त से ना लागू करने के इलावा अन्य संबंधित मामलों को हल करने के लिए रास्ता निकाले। आज की विशेष बैठक उपरांत प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री ने औद्योग जगत को आ रही मुश्किलों और रैगुलेटर द्वारा तय की गई बिजली दरें लागू करने से संंबंधित पैदा हो रही समस्याओं का गंभीर नोटिस लिया है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया है कि उनके द्वारा औद्योग जगत को 5 रूपए प्रति यूनिट बिजली देने के किए गए वायदे को लागू करने में हो रही अब देरी ना की जाएं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार राज्य के अंदर एक जनवरी 2018 से नए बिजली ढांचे को यर्थात रूप देने के लिए तैयार है। बैठक में विचारे गए अहम अन्य मुददों में पंजाब राज बिजली रैगुलेटरी कमीशन द्वारा घोषित बिजली दरों को 1अप्रैल 2017 से लागू किया जाना शामिल था। अगर तय दरें मौजूदा रूप में लागू होती है तो 600 करोड़ रूपए का वितीय बोझ है।

जबकि उद्योग द्वारा तय बिजली दरों का विरोध किया जा रहा है जो अपने यूनिट का लोड ठीक करवाने के लिए और अधिक वक्त चाहते है। सीएम ने यह भी कहा कि देखने में आया है कि अधिकांश औद्योगों द्वारा अपनी ईकाईयों के लोड कम करवा लिए गए है। जबकि छोटी ईकाईयों विशेषकर बीमार यूनिट जोकि कम समय चलते है को भी नई 2 निश्चित दरों के ढांचे में बुरी तरह लडख़ड़ाई है। इन यूनिटों द्वारा बिजली दरों को सीमित करने की मांग रखी गई थी, जिनको मंगलवार की मीटिंग के दौरान दोनों मंत्रियों द्वारा विचार-विमर्श किया जाएंगा।

औद्योग को 5 रूपए प्रति यूनिट मुहैया करवाने के वायदे को दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने चुनावी घोषणा पत्र द्वारा रैगुलर निश्चित दरें लागू करने के साथ पैदा होने वाले अंतर के लिए सरकार एक हद तक सबसिटी मुहैया करवाने पर भी विचार कर रही है। प्रवक्ता के अनुसार बिजली के सहउत्पादन और बीमार औद्योगिक ईकाईयों का मामला भी कमीशन के पास उठाया जाएंगा। मीटिंग में अन्य के अलावा वितमंत्री मनप्रीत सिंह बादल, बिजली मंत्री राणा गुरजीत सिंह और सीएम के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्य सचिव करण अवतार सिंह और मुख्य सचिव बिजली सतीश चंद्रा समेत पावर कॉम के चेयरमैन कम मैनेजिंग डायरेक्टर ऐ वेणु प्रसाद भी मौजूद थे।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ

- सुनीलराय कामरेड