BREAKING NEWS

सोनिया ने केंद्र को बताया 'असंवेदनशील', किसानों के साथ रवैये और महंगाई जैसे मुद्दों पर किया सरकार का घेराव ◾World Corona Update : अब तक 26.7 करोड़ से ज्यादा लोग हुए संक्रमित, मृतकों की संख्या 52.7 लाख से अधिक◾लालू यादव के घर बजेंगी शहनाई, तेजस्वी यादव की शादी हुई पक्की, दिल्ली में आज या कल होगी सगाई ◾RBI ने रेट रेपो 4 प्रतिशत पर रखा बरकरार, लगातार 9वीं बार नहीं हुआ कोई बदलाव◾ओमीक्रॉन पर आंशिक रूप से असरदार है फाइजर वैक्सीन, स्टडी में दावा- बूस्टर डोज कम कर सकती है संक्रमण ◾UP चुनाव : आज योगी और राजभर जनसभा को करेंगे संबोधित, प्रियंका पहला महिला घोषणा पत्र जारी करेंगी ◾बिहार में PM मोदी, अमित शाह और प्रियंका चोपड़ा को लगी वैक्सीन! तेजस्वी यादव ने शेयर की लिस्ट◾मनी लॉन्ड्रिंग केस: ED के सामने आज पेश होंगी जैकलीन फर्नांडीज, गवाह के तौर पर दर्ज कराएंगी बयान ◾Today's Corona Update : भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 8,439 केस सामने आए, 195 लोगों की मौत◾जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच एनकाउंटर शुरू, इलाके की गयी घेराबंदी ◾किसानों की होगी घर वापसी या जारी रहेगा आंदोलन? एसकेएम की बैठक में आज होगा फैसला ◾ओमिक्रॉन के खतरे के बीच ओडिशा के सरकारी स्कूल में 9 छात्र कोरोना से संक्रमित, किया गया क्वारंटीन ◾अनिल मेनन बनेंगे नासा एस्ट्रोनॉट, बन सकते हैं चांद पर पहुंचने वाले पहले भारतीय◾PM मोदी ने SP पर साधा निशाना , कहा - लाल टोपी वाले लोग खतरे की घंटी,आतंकवादियों को जेल से छुड़ाने के लिए चाहते हैं सत्ता◾ किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए राकेश टिकैत ने कही ये बात◾DRDO ने जमीन से हवा में मार करने वाली VL-SRSAM मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले◾केंद्र की गलत नीतियों के कारण देश में महंगाई बढ़ रही, NDA सरकार के पतन की शुरूआत होगी जयपुर की रैली: गहलोत◾अमरिंदर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, अजय माकन को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने पर उठाए सवाल◾SKM की बैठक खत्म, क्या समाप्त होगा आंदोलन या रहेगा जारी? कल फाइनल मीटिंग◾

जासूसी के प्रोजेक्ट में जांच एजेंसियां कैसे और क्या मॉनिटरिंग करेंगी

केंद्र सरकार ने आज बड़ा फैसला लिया है जिसमे देश की दस ख़ुफ़िया एजेंसियों को देश भर की सभी कंप्यूटर और इंटरसेप्ट करने की क्षमता दी है। लेकिन अब केंद्र सरकार के इस फैसले से ख़ुफ़िया एजेंसियों को ईमेल ही नहीं बल्कि देश भर के कंप्यूटर में रखा हर तरह का डाटा पर नजर राखी जा सकेगी बता दें ये कोई चौंकाने वाली बात नहीं।

क्योंकि ऐसा ही माजरा पहले भी देखने को मिला था। जब कांग्रेस की सरकार थी। तब सेंट्रल मॉनिटरिंग सिस्टम नाम की व्यव्स्था थी जो आज भी एक रहस्य के जैसा ही है। इंटरसेप्ट यानी आपको कंप्यूटर तक पहुंचने वाला डेटा इसको कोइ जांच एंजेंसी इंटरसेप्ट करके ये पता लगा सकती है की क्या-क्या हो रहा है किसके साथ कैसी बातचीत चल रही है। चाहे बातचीत कैसी भी हो वीडियो कॉल या भी वॉइस कॉल या फिर चिटचैट की तरह ही क्यों न हो मॉनिटरिंग यानी एजेंसी चाहे तो आपके कंप्यूटर तक पहुंच कर इसकी निगरानी कर सकती है।

लगतार अपनी पेनी नजर बनाये रखती है। की आप अपने कंप्यूटर पर क्या कर रहे हो। अगर आप अपना डेटा सिक्योर करके रखते है तो भी तो एजेंसी इसे एन्क्रिप्ट करके इसमें से सारी की सारी जानकारिया प्राप्त कर लेती है। और इतना ही नहीं जहा से आप इंटरनेट खरीदते हैं वह इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर आपकी सारी की सारी जो भी अपने चलाया है उसकी पूरी हिस्ट्री सरकारी एजेंसी को दे देती है। इसके पीछे सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी का हवाला दिया है।