BREAKING NEWS

दिल्ली एयरपोर्ट से 28 करोड़ की 7 घड़ियां जब्त, मात्र एक की कीमत 27 करोड़, मुम्बई एयरपोर्ट से 80 करोड़ का ड्रग्स पकड़ा! ◾दक्षिण भारत में अपना प्रचार करने के दौरान बोले थरूर - कांग्रेस को युवाओं की पार्टी बनाना मकसद ◾66 बच्चों की मौत के बाद सिरफ के खिलाफ चलाया गया वापस लेने का अभियान◾कौन हिंदू बिना मूंछ दाढ़ी रखता हैं, रामायण के इस्लामीकरण पर 'आदिपुरूष' डायरेक्टर को लीगल नोटिस ◾एनी एरनॉक्स ने जीता नोबेल पुरस्कार, बाधाओं को उजागर करने वाली लेखनी के लिए दिया गया पुरस्कार◾कोर्ट से जमानत लेकर फरार हुआ यूटयूबर बॉबी कटारिया, हाथ पर हाथ धरी रह गई उत्तराखंड पुलिस की तैयारी◾बाजवा के बाद पाक सेना का जनरल कौन ? सेना को लेकर इमरान पर बरसे ख्वाजा आसिफ ◾उत्तराखंड हिमस्खलन त्रासदी : खराब मौसम के चलते रेस्क्यू ऑपरेशन में देरी, 9 लाश बरामद, बाकी की तलाश जारी ◾सचिन पायलट की खामोशी ने बढ़ाया सियासी सस्पेंस, किसके 'हाथ' है राजस्थान?◾TRS में टूट की अटकलें ? राष्ट्रीय पार्टी की घोषणा कार्यक्रम में नहीं पहुंची बेटी के कविता, सियासी हलचल तेज ◾Mexico News : मेक्सिको के सिटी हॉल में अंधाधुंध फायरिंग, मेयर समेत 18 की मौत◾शिवसेना सिंबल पर चुनाव आयोग का फैसला जल्द, शिंदे गुट की टिकी निगाह ◾मोहन भागवत के बयान पर भड़के लालू , कहा - सज्जन बिन मांगा ज्ञान बांटने चले आते है ◾बिहार उपचुनाव : दोनों सीटों पर महिलांए तय करेंगी भाजपा का भविष्य, जेडीयू ने अनंत सिंह की पत्नी पर खेला दांव ◾Mulayam Singh Health Update : हालत में बही भी कोई सुधार नहीं, CRRPT सपोर्ट पर रखा ◾नागपुर में संघ के हेडक्वार्टर को घेरने की कोशिश, ईलाके में धारा144 लागू, ◾थाईलैंड : चाइल्ड सेंटर में सामूहिक गोलीबारी, 32 लोगों की मौत, मृतकों में 22 बच्चे शामिल◾छत्तीसगढ़ : बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने की तीन साधुओं की बेरहमी से पिटाई◾महाराष्ट्र : सीएम शिंदे की रैली के आगे फीकी पड़ी उद्धव ठाकरे की दशहरा रैली ◾उत्तर प्रदेश : मैनपुरी में B.SC छात्रा की रेप के बाद हुई हत्या, बहन ने कहा-गला घोंटाकर मारा गया ◾

देश के पहले CDS बिपिन रावत का कैसा रहा 42 साल लंबा सैन्य सफर, जानें उनके बारे में बेहद खास बातें

देश के सबसे बड़े सैन्य पद पर विराजमान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत का आज तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, जिसमें बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत 14 लोग सवार थे। 

अब गुरुवार को सारी सूचना देंगे राजनाथ सिंह 

अभी तक की जानकारी के अनुसार, फिलहाल तीन लोगों को रेस्क्यू किया गया है और अन्य लोगों के शहीद होने की खबर आई है। यहां पर बता दें कि अभी तक बिपिन रावत को लेकर किसी भी तरह की आधिकारिक सूचना नहीं आई है। लेकिन  वहीं, ऐसी जानकारी आ रही है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस मसले पर अब गुरुवार को सारी सूचना देंगे। पहले ऐसा कहा जा रहा था कि राजनाथ सिंह आज ही इस मसले पर संसद में अहम जानकारी साझा करेंगे। 

जनरल बिपिन रावत का भारतीय सेना में अभी तक का सफर खासा शानदार रहा है और उनके इस अनुभव से भारतीय सेना ने नई ऊंचाई को छुआ है। विशेषज्ञ उन्हें  ऊंचे और दुर्गम इलाकों में लड़ाई लड़ने का विशेषज्ञ मानते हैं।  

आइए जानते हैं CDS बिपिन रावत के बारे में कुछ खास बातें-  

बिपिन रावत को आर्मी में ऊंचाई पर जंग लड़ने और काउंटर-इंसर्जेंसी ऑपरेशन (Counterinsurgency) यानी जवाबी कार्रवाई के एक्सपर्ट के तौर पर जाना जाता है। साल 2016 में उरी में सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत के नेतृत्‍व में 29 सितंबर 2016 को पाकिस्‍तान में बसे आतंकी शिविरों को ध्‍वस्‍त करने के लिए सर्जिकल स्‍ट्राइक की गई थी। जिसको बिपिन रावत ने ट्रेंड पैरा कमांडों के माध्यम से अंजाम दिया था। 

Mi-17 चौपर : बेहद अत्याधुनिक होने के बावजूद रहा है खतरनाक रिकॉर्ड, कई बार हो चुका है भीषण क्रैश

सेना में एक लंबा और महत्वपूर्व सफर रहा बिपिन रावत का  

उरी में सेना के कैंप और पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए हमले में कई जवान शहीद होने के बाद सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी। आर्मी सर्विस के दौरान उन्होंने एलओसी, चीन बॉर्डर और नॉर्थ-ईस्ट में एक लंबा वक्त गुजारा है। बिपिन रावत ने कश्मीर घाटी में पहले नेशनल राइफल्स में ब्रिगिडेयर और बाद में मेजर-जनरल के तौर पर इंफेंट्री डिवीजन की कमान संभाली। 

सेना के इस मोर्चे पर बेहतर तालमेल बैठाने का कार्य किया  

साउथ कमांड की कमान संभालते हुए उन्होंने पाकिस्तान से सटी पश्चिमी सीमा पर मैकेनाइजड-वॉरफेयर के साथ-साथ एयरफोर्स और नेवी के साथ बेहतर तालमेल बैठाया। चाइनीज बॉर्डर पर बिपिन रावत कर्नल के तौर पर इंफेंट्री बटालियन की कमान भी संभाल चुके हैं। 

बिपिन रावत को इंडियन मिलिट्री एकेडमी (आईएमए) में 'स्वर्ड ऑफ ऑनर' से नवाजा जा चुका है। रावत चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष के साथ-साथ भारतीय सेना के 27वें सेनाध्यक्ष के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। 

बिपिन रावत ने 1978 में आर्मी ज्वॉइन की थी 

बता दें कि बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च, 1958 को उत्तराखंड के पौड़ी में एक गढ़वाली राजपूत परिवार में हुआ था। बिपिन रावत ने 1978 में आर्मी ज्वॉइन की थी। बिपिन रावत ने 2011 में चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से मिलिट्री मीडिया स्टडीज में पीएचडी की डिग्री हासिल की।  

01 जनवरी 2020 को बने देश के पहले CDS  

बिपिन रावत ने 01 सितंबर 2016 को आर्मी के वाइस चीफ का पद संभाला और 31 दिसंबर 2016 को इंडियन आर्मी के 26वें चीफ की जिम्मेदारी मिली। वहीं, 30 दिसंबर 2019 को उन्हें भारत के पहले सीडीएस (CDS) के रूप में नियुक्त किया गया। बिपिन रावत ने 01 जनवरी 2020 को CDS का पदभार ग्रहण किया।