BREAKING NEWS

खतौली सीट पर फैल हुई BJP की रणनीति, रालोद प्रत्याशी मदन भैया ने भाजपा को इतने वोटों से पछाड़ा, देखें पूरा समीकरण ◾गुजरात में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद भूपेंद्र पटेल फिर से संभालेंगे मुख्यमंत्री पद, 12 दिसंबर को लेंगे शपथ ◾HP: 'मोदी लहर' में फैल हुए 'जयराम ठाकुर', कहा- मैं जनादेश का करता हूं सम्मान...राज्यपाल को सौंप रहा हूं इस्तीफा ◾ संजय सिंह ने कहा- 10 साल में राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल किया, गुजरात के लोगों के शुक्रगुजार हैं ◾Gujarat Election: EVM में गड़बड़ी का आरोप लगाकर कांग्रेस प्रत्याशी भरत सोलंकी ने की आत्महत्या की कोशिश◾गुजरात चुनाव : AAP के मुख्यमंत्री पद के चेहरे इसुदान गढ़वी की हार, भाजपा को 18,000 मतों से मिली शिकस्त ◾मोदी गढ़ में फिर 'डबल इंजन' सरकार, शाह ने कहा- गुजरात की जनता ने 'फ्री की रेवड़ी' और 'खोखले वादों' को नकारा◾Gujarat: 'कमल' की जीत पर बोले पवार- गुजरात में चल गया 'मोदी मेजिक'... लेकिन 2024 में नहीं चलेगा ◾Tata स्टील को सुप्रीम कोर्ट से लगा बड़ा झटका, जानिए 35000 करोड़ का क्या है मामला◾Mainpuri: डिंपल यादव ने किया बड़ा फेर- बदल, जीत दर्ज कर ले गई लोकसभा सीट◾अखिलेश यादव ने शिवपाल को दिया समाजवादी पार्टी का झंडा, सपा में प्रसपा के विलय की तेज हुई अटकलें ◾'भारत जोड़ो यात्रा' पहुंचेगी पश्चिम बंगाल में..., राहुल औऱ प्रियंका निभाएंगे अहम भूमिका, जानें पूरी रणनीति◾आजम खान के गढ़ में हुआ बड़ा उलटफेर, रामपुर किला ढहाने की ओर भाजपा◾राजधानी में दिलदहला देने वाली घटना, एक नाले से सूटकेस में बंद महिला का मिला शव, जानें पुलिस ने क्या कहा◾गुजरात में BJP को मिली रिकॉर्ड तोड़ जीत, अब 12 दिसंबर को होगा शपथ ग्रहण◾Gujarat Election Result: गुजरात जीत पर राजनाथ सिंह, बोले- जनता करती है पीएम मोदी पर विश्वास◾CM नीतीश कुमार के लिए नन्हे से बच्चे ने गाया गीत, लगा दो आग गुलशन में, मेरे सरकार आए हैं◾Himachal Result: हिमाचल में BJP की हार का कारण बने ये बड़े मुद्दे, बड़े चेहरे भी हो गए फेल◾मैनपुरी सीट पर 'डिंपल' ने लहराया परचम, शिवपाल ने कहा- नेताजी के विकास की वजह से 'सपा' ने तोड़ा रिकार्ड◾हिमाचल में चला 'हाथ का पंजा', हरियाणा के पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा- कांग्रेस राज्य में बनाएगी सरकार◾

पुरानी कांग्रेस चाहिए तो खड़गे, बदलाव के लिए मैं खड़ा हूं... जानें और क्या कह गए थरूर

कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में शामिल शशि थरूर ने शनिवार को एक बार फिर कहा कि पार्टी के वरिष्ठ सहयोगी मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ उनकी कोई लड़ाई नहीं है। हालांकि, पार्टी नेताओं को उनके संदेश में मैंने यह जरूर कहा है कि अगर कांग्रेस को पुरानी कांग्रेस चाहिए तो मैं खड़गे को वोट दूंगा और अगर बदलाव चाहिए तो मैं खड़ा हूं। बता दें कि राजस्थान कांग्रेस में घमासान के बाद अशोक गहलोत के दौड़ से बाहर होते ही मुकाबला शशि थरूर बनाम खड़गे के बीच है. कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 17 अक्टूबर को चुनाव होना है। 

शनिवार को समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए शशि थरूर ने कहा, "यह युद्ध नहीं है। हम विभिन्न विचारधाराओं से संबंधित हो सकते हैं। इसलिए हमारी पार्टी के सदस्यों को निर्णय लेने दें। मैं सदस्यों से केवल इतना कह रहा हूं कि यदि आप संतुष्ट हैं तो पार्टी के कामकाज, कृपया खड़गे साहब को वोट दें, लेकिन अगर आप बदलाव चाहते हैं और चाहते हैं कि पार्टी अलग तरह से काम करे, तो मुझे चुनें।

थरूर का यह बयान 80 वर्षीय खड़गे के गांधी परिवार के समर्थन को लेकर चर्चाओं के बीच आया है। इससे पहले खड़गे ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता पद से इस्तीफा दे दिया था। ऐसे में माना जा रहा है कि उनका कांग्रेस अध्यक्ष बनना लगभग तय है।

नामांकन के समय दिखाया गया अंतर

30 सितंबर को नामांकन के दौरान जहां खड़गे के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं, थरूर के साथ नए चेहरों और पार्टी कार्यकर्ताओं की भीड़ नजर आई. उधर, अशोक गहलोत और जी-23 समूह के सदस्यों ने भी खड़गे को अपना समर्थन दिया है। वहीं दिग्विजय सिंह ने नामांकन दाखिल करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि खड़गे को मेरा समर्थन है.