BREAKING NEWS

CM अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा किया स्वीकार, राज्यपाल को भेजा◾अमेरिका ने हाफिज सईद की पूर्व में हुई गिरफ्तारियों को बताया 'दिखावा', कहा- गतिविधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा◾योगी सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है : सुरजेवाला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के पूर्व विभाग से महत्वपूर्ण फाइलें गायब◾प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस में बिताई रात, प्रशासन से दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम◾चंद्रकांत पाटिल का दावा : चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता BJP होंगे शामिल◾एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण◾सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी ,जमानत लेने से किया इनकार, बोलीं- जेल जाने को तैयार हूं◾योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस ◾जारी रहेगी MS Dhoni की धूम, मैनेजर बोले - माही की अभी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं◾कर्नाटक : विधानसभा विश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बिना सोमवार तक स्थगित ◾रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾

देश

आईलीग क्लबों ने PM मोदी को लिखा पत्र, एआईएफएफ के खिलाफ जांच आयोग के गठन का आग्रह किया

 भारतीय फुटबाल के समक्ष छाया संकट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया जब आईलीग के छह क्लबों ने उनसे जांच आयोग का गठन करने और अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की कार्यशैली की जांच करने का आग्रह किया। मोहन बागान के प्रबंध निदेशक स्वप्न साधन बोस के हस्ताक्षर वाले पत्र में आईलीग क्लबों ने प्रधानमंत्री से ‘हस्तक्षेप करने और खेल को बचाने’ की अपील की है।

 मोहन बागान के अलावा ईस्ट बंगाल, चर्चिल ब्रदर्स, एफसी गोवा, गोकुलम केरल एफसी, मिनर्वा पंजाब एफसी और ऐजल एफसी अन्य क्लब हैं जिन्होंने प्रधानमंत्री ने हस्तक्षेप का आग्रह किया है। क्लबों ने पत्र में लिखा, ‘‘हाल के समय में मीडिया में आई खबरें और एआईएफएफ के प्रेस में जारी बयान संकेत देते हैं कि एआईएफएफ 2013 में अस्तित्व में आई आईएसएल को देश की सबसे सीनियर लीग बनाना चाहता है जबकि 2007 में भारत की पहली पेशेवर फुटबाल लीग के रूप में शुरू हुई आईलीग को दूसरी टीयर और दूसरे दर्जे की टीम बनाने की कोशिश की जा रही है।’’ 

पत्र के अनुसार, ‘‘भारतीय फुटबाल के स्तर में तेजी से गिरावट आई है, फुटबाल भारत सहित दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है लेकिन इसकी लोकप्रियता की बराबरी जहां तक राष्ट्रीय इकाई का सवाल है तो जरूरी और अच्छे प्रशासन के साथ नहीं की गई है।’’ 

एआईएफएफ अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल ने पिछले हफ्ते आईलीग क्लबों को आश्वासन दिया था कि उनका भविष्य सुरक्षित है और कहा था कि वे एएफसी से संपर्क करेंगे जिससे कि दो से तीन साल और आईलीग तथा आईएसएल एक साथ काम करते रहें। इसके एक दिन बाद नाराज क्लबों ने उनके अधिकतर प्रस्ताव मान लिए थे। क्लबों ने हालांकि इंडियन सुपर लीग को भारतीय फुटबाल में शीर्ष स्तर का दर्जा देने के विवादास्पद कदम पर स्पष्टीकरण मांगा था।