BREAKING NEWS

कर्नाटक में Omicron के दो मामले आए सामने : एक दक्षिण अफ्रीकी नागरिक, एक स्थानीय व्यक्ति◾विपक्ष ने सरकार को कोरोना के मुद्दे पर घेरा, बूस्टर खुराक पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की◾शीतकालीन सत्रः राज्यसभा से निलंबित सदस्यों के मुद्दे पर सरकार-विपक्ष में हो रही वार्ता◾भारत के पहले Omicron संक्रमित मरीज की ये बात आई सामने, 27 नवंबर को जा चुका है दुबई◾सुरजेवाला का ममता पर पलटवार, पूछा- आपकी प्राथमिकता प्रधानमंत्री के खिलाफ लड़ना है या कांग्रेस के खिलाफ ?◾पंजाबः चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा-हमारी ‘चंगी सरकार’ वादों पर खरी उतरी◾कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने भारत में भी दी दस्तक, कर्नाटक में मिले हैं दो मामले◾काले अंग्रेज वाले बयान पर केजरीवाल का चन्नी पर पलटवार, सांवले रंग का व्यक्ति झूठे वादे नहीं करता... ◾केजरीवाल को प्यार करते हैं पंजाब के लोग, चड्ढा बोले- सही समय पर होगी पार्टी के CM पद के चेहरे की घोषणा ◾'किस चश्मे से यूपी में दिखता है बढ़ता अपराध' अखिलेश के वार पर अमित शाह का पलटवार◾ममता के बाद प्रशांत किशोर का कांग्रेस पर हमला, कहा- विपक्ष का नेतृत्व कांग्रेस का दैवीय अधिकार नहीं...◾कांग्रेस के बिना बीजेपी के खिलाफ गठबंधन संभव नहीं : दिग्विजय सिंह◾SC की फटकार के बाद हरकत में आई दिल्ली सरकार, कल से अगले आदेश तक बंद रहेंगे स्कूल ◾सांसदों के निलंबन को लेकर राहुल गांधी का ट्वीट, 'जो सरकार डरे, वो अन्याय ही करे'◾हार के डर से BJP खेल रही 'धार्मिक कार्ड', मायावती बोली- पार्टी के आखिरी हथकंडे से जनता रहे सावधान ◾विपक्ष के रवैये पर भड़के सभापति नायडू, कहा-1962 से हो रहा निलंबन, पहली बार नहीं हुआ ऐसा ◾प्रदूषण को लेकर SC की AAP सरकार को फटकार, जब बड़े घर पर हैं तो बच्चों के लिए क्यों खोले स्कूल? ◾शीतकालीन सत्र के चौथे दिन भी जारी रहा विपक्ष का प्रदर्शन, सांसद बोले- निलंबन वापसी तक देते रहेंगे धरना ◾Petrol-Diesel Price : दिल्ली में आज से नई कीमत लागू, जानिए आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम◾विश्व में ओमीक्रॉन के बढ़ते प्रकोप के बीच SII ने कोविशील्ड की बूस्टर डोज के लिए DCGI से मांगी मंजूरी ◾

कोरोनिल पर पतंजलि के दावे से IMA ने बताया 'सरासर झूठ', स्वास्थ्य मंत्री से की स्पष्टीकरण की मांग

पतजंलि की कोरोनिल टैबलेट को विश्व स्वास्थ्य संगठन से प्रमाण पत्र मिलने की बात को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने सोमवार को सरासर झूठ करार देते हुए आश्चर्य प्रकट किया और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन से इस बाबत स्पष्टीकरण की मांग की। 

पतंजलि का दावा है कि कोरोनिल दवा कोविड-19 को ठीक कर सकती है और साक्ष्यों के आधार पर इसकी पुष्टि की गई है। डब्ल्यूएचओ ने स्पष्ट किया है कि उसने किसी भी पारंपरिक औषधि को कोविड-19 के उपचार के तौर पर प्रमाणित नहीं किया है। 

योग गुरु रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद ने 19 फरवरी को कहा था कि डब्ल्यूएचओ की प्रमाणन योजना के तहत कोरोनिल टेबलेट को आयुष मंत्रालय की ओर से कोविड-19 के उपचार में सहायक औषधि के तौर पर प्रमाण पत्र मिला है। 

हालांकि, पतंजलि के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण ने बाद में ट्वीट कर सफाई दी थी और कहा था, “हम यह साफ कर देना चाहते हैं कि कोरोनिल के लिए हमारा डब्ल्यूएचओ जीएममी अनुपालन वाला सीओपीपी प्रमाण पत्र डीजीसीआई, भारत सरकार की ओर से जारी किया गया। यह स्पष्ट है कि डब्ल्यूएचओ किसी दवा को मंजूरी नहीं देता। डब्ल्यूएचओ विश्व में सभी के लिए बेहतर भविष्य बनाने के वास्ते काम करता है।” 

सोमवार को आईएमए की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, “देश का स्वास्थ्य मंत्री होने के नाते, पूरे देश के लोगों के लिए झूठ पर आधारित अवैज्ञानिक उत्पाद को जारी करना कितना न्यायसंगत है। क्या आप इस कोरोना रोधी उत्पाद के तथाकथित क्लिनिकल ट्रायल की समयसीमा बता सकते हैं?” 

आईएमए ने कहा, “देश मंत्री से स्पष्टीकरण चाहता है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग को स्वतः संज्ञान लेने के लिए भी पत्र लिखेगा। यह भारतीय चिकित्सा परिषद के नियमों का उल्लंघन है। डब्ल्यूएचओ से प्रमाणन की सरासर झूठी बात पर गौर करके इंडियन मेडिकल एसोसिशन स्तब्ध है।” 

गौरतलब है कि हरिद्वार स्थित पतंजलि आयुर्वेद ने कोविड-19 के उपचार के लिए कोरोनिल के प्रभावकारी होने के संबंध में शोध पत्र जारी करने का दावा भी किया था। 

देश में पिछले 24 घंटो के दौरान कोरोना के 14199 नए मामले सामने आए, 83 मरीजों की मौत