BREAKING NEWS

पंजाब: डिप्टी CM रंधावा का अमरिंदर पर हमला, बोले- कैप्टन अवसरवादी है, जनता को धोखा दिया◾क्रूज ड्रग्स मामला: आर्यन खान की जमानत याचिका बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल, क्या अब मिलेगी बेल? ◾अमरिंदर को भाजपा का खुला समर्थन, दुष्यंत गौतम बोले- राष्ट्र को सर्वोपरि रखने वालों के साथ गठबंधन को तैयार ◾SP-SBSP ने मिलाया हाथ, क्या योगी शासन के अंत की हो रही शुरुआत, राजभर बोले- अबकी बार BJP साफ ◾यूपी: सफाई कर्मी की पुलिस कस्टडी में हुई मौत, परिवार से मिलने आगरा जा रहीं प्रियंका को पुलिस ने लिया हिरासत में◾अखिलेश के तंज पर PM मोदी का पलटवार, कहा- ‘समाजवाद’ से ‘परिवारवाद’ के रास्ते पर उतर आई है सपा ◾आर्यन खान को लगा झटका, जमानत याचिका हुई खारिज, अब क्या करेंगे शाहरुख खान ?◾अभिधम्म दिवस पर बोले PM मोदी- तिरंगे पर जो ‘धम्म चक्र’ है, वह देश को आगे ले जाने की शक्ति है◾राहुल गांधी ने सरकार पर लगाया आरोप, कहा- संविधान,महर्षि वाल्मीकि के विचार और दलितों पर हो रहे हैं हमले ◾100 करोड़ टीकाकरण के आंकड़े को छूने पर BJP करेगी पूरे देश में कार्यक्रम, नड्डा जाएंगे गाजियाबाद ◾लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर SC ने यूपी सरकार को लगाई फटकार, कहा- गवाहों के बयान में हो रही है देरी◾पाकिस्तान के कश्मीर प्रेम को मिला इस देश का समर्थन, बोला- हम खुलकर सपोर्ट करते है◾हरीश रावत ने पार्टी नेतृत्व से किया आग्रह, कहा- पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए◾अमित शाह आज बारिश से प्रभावित उत्तराखंड का करेंगे दौरा, राहत और बचाव कार्यो की करेंगे समीक्षा◾एयरपोर्ट में एक ईंट तक नहीं लगाई और कैंची लाए भाजपाई, अखिलेश बोले- पायलट बनने से प्लेन नहीं होता आपका ◾PM मोदी CBI और CVC की संयुक्त बैठक में बोले- भ्रष्टाचार लोगों के अधिकारों को छीन लेता है, नए भारत को यह स्वीकार नहीं◾कश्मीर घाटी से प्रवासियों के भागने की खबरों के बीच बोले मनीष तिवारी- 1990 को फिर से न दोहराने दें◾बिहार : कांग्रेस और राजद में बढ़ती जा रही तल्खी, उपचुनाव के बाद दोनों पार्टियों की राह हो जाएगी अलग ◾फेसबुक में होने जा रहा बड़ा बदलाव, रिपोर्ट का दावा- नए नाम के साथ कंपनी होगी रीब्रांड, जल्द हो सकती है घोषणा ◾शोपियां में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान 2 आतंकवादियों को किया ढेर, इलाके में घेराबंदी कर तलाश अभियान जारी ◾

कोरोना महामारी का असर : व्यापक विमर्श के बाद होगा 12th बोर्ड की परीक्षाओं पर निर्णय

बारहवीं बोर्ड की परीक्षाओं के बारे में अंतिम निर्णय व्यापक विचार-विमर्श के साथ वर्तमान स्थिति और छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा। यह जानकारी सोमवार को सरकारी सूत्रों ने दी। सूत्रों ने बताया कि बोर्ड परीक्षा के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों और विचार व सुझाव लेने को कहा था। इसके बाद रविवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक आयोजित की गई थी।

डिजिटल माध्यम से आयोजित इस बैठक में सिंह के अलावा केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे के अलावा राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के शिक्षा मंत्रियों व सचिवों ने भी हिस्सा लिया था। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने 21 मई को एक बैठक की अध्यक्षता की थी जिसमें उन्हें शिक्षा मंत्रालय की ओर से परीक्षाओं के बारे में किए शिक्षकों और अभिभावकों के साथ किए गए विचार-विमर्श और परीक्षा संपन्न कराने के विकल्पों के बारे में अवगत कराया गया था।

सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर छात्रों की सुरक्षा और उनके भविष्य को देखते हुए सरकार को कोई फैसला लेना है। उन्होंने शिक्षा मंत्रालय को सभी राज्यों और वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक करने और सलाह-मश्विरा करने को कहा था। एक सूत्र ने बताया, ‘‘अंतिम निर्णय व्यापक विमर्श की प्रक्रिया पर आधारित होगा और इस दौरान वर्तमान परिस्थितियों और छात्रों के भविष्य को देखते हुए सबसे अच्छा विकल्प अपनाया जाएगा।’’

रविवार की बैठक के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा था कि बारहवीं कक्षा की बोर्ड की लंबित परीक्षा कराने के संबंध में राज्यों के बीच व्यापक सहमति है और इस बारे में जल्द सुविचारित एवं सामूहिक निर्णय एक जून तक लिया जाएगा। बोर्ड ने दो विकल्पों का प्रस्ताव किया, जिसमें अधिसूचित केंद्रों पर 19 प्रमुख विषयों की नियमित परीक्षा लेने या छात्रों के पंजीकरण वाले स्कूलों में लघु अवधि की परीक्षा लेने की बात कही गई।

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राज्य सरकारों से 25 मई तक विस्तृत सुझाव भेजने का आग्रह किया। वहीं, सूत्रों ने दावा किया कि ज्यादातर राज्य दूसरे विकल्प के पक्ष में है जबकि कुछ राज्य इनके मिले-जुले स्वरूप की बात कह रहे हैं । गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण 14 अप्रैल को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं और 10वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षा को रद्द कर दिया गया था।

यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हुई बैठक में किया गया था। ये परीक्षाएं 4 मई से 14 जून के बीच होनी थीं। इसी तरह, राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) और अन्य राष्ट्रीय परीक्षा आयोजित करने वाले संस्थानों ने भी व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अपनी प्रवेश परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है।

कोरोना मरीजों की मौत पर मुआवजे को लेकर SC में सुनवाई, याचिका पर केन्द्र से मांगा जवाब