BREAKING NEWS

विधानसभा चुनाव : राहुल गांधी कल पहली बार बंगाल में चुनावी रैली को करेंगे संबोधित◾केंद्र सरकार की नसीहत - रेमडेसिविर घर पर उपयोग के लिए नहीं है, गंभीर रोगियों के लिए है ◾CM दफ्तर में हुई कोरोना की एंट्री, मुख्यमंत्री योगी ने खुद को किया आइसोलेट ◾कोविड-19 के टीके की कमी पर केंद्र का जवाब - समस्या वैक्सीन की नहीं बल्कि बेहतर योजना की है ◾दिल्ली सरकार के आदेश - कोविड रोगियों को भर्ती करते समय नियमों का कड़ाई से हो पालन, वरना होगी कार्यवाही ◾हरिद्वार के कुंभ मेले से लौटने वाले लोग कोविड-19 महामारी को बढ़ा सकते हैं : संजय राउत◾उत्तराखंड : CM तीरथ रावत बोले-कुंभ से नहीं हो सकती मरकज की तुलना◾BJP सरकार बनने के बाद गोरखा लोगों की चिंता होगी खत्म, दीदी ने विकास पर लगाया फुल स्टाप : अमित शाह ◾CM येदियुरप्पा ने कर्नाटक में लॉकडाउन पर दिया बड़ा बयान, हाथ जोड़कर लोगों से की ये अपील ◾इन 10 राज्यों में कोरोना की रफ्तार सबसे खतरनाक, 80 प्रतिशत नये मामलों ने बढ़ाया डर◾कोरोना के मद्देनजर CM केजरीवाल की केंद्र से मांग- रद्द की जाएं CBSE की परीक्षाएं◾ममता के बाद BJP उम्मीदवार राहुल सिन्हा पर भी लगी पाबंदी, चुनाव आयोग ने 48 घंटे का लगाया बैन ◾चुनाव आयोग के बैन के खिलाफ ममता का धरना शुरू, रात 8 बजे के बाद दो रैलियों को करेंगी संबोधित ◾राउत ने ममता को बताया ‘बंगाल की शेरनी', कहा-EC ने BJP के कहने पर लगाई प्रचार पर रोक◾देश में कोरोना संक्रमण के करीब 1 लाख 62 हजार नए मामलों की पुष्टि, 879 लोगों ने गंवाई जान ◾विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 13.64 करोड़ के पार, प्रभावित देशों में भारत दूसरे स्थान पर ◾कोरोना की चौथी लहर से चल रही जंग के बीच CM केजरीवाल ने 14 अस्पतालों को किया कोविड अस्पताल घोषित ◾सोनिया गांधी ने PM मोदी से की मांग,कोरोना की दवाओं को GST से रखा जाए बाहर ◾कोलकाता में अमित शाह जनसंपर्क अभियान की करेंगे शुरुआत, नुक्कड़ सभाओं का किया जाएगा आयोजन ◾निर्वाचन आयोग के फैसले पर भड़की TMC, ममता बनर्जी आज कोलकाता में देंगी धरना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

CWC बैठक में तनातनी, अशोक गहलोत और आनंद शर्मा में जुबानी जंग, असंतुष्ट नेताओं पर उठाए सवाल

कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की शुक्रवार को हुई बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा के बीच पार्टी के आंतरिक चुनावों को लेकर गर्मजोशी से शब्दों का आदान-प्रदान हुआ। पार्टी के एक सूत्र के अनुसार, कांग्रेस के दोनों वरिष्ठ नेताओं के बीच नोंक-झोंक देखने को मिली।

बैठक में शर्मा, गुलाम नबी आजाद और पी. चिदंबरम ने सीडब्ल्यूसी पद के लिए चुनाव का मुद्दा उठाया। चुनाव के मुद्दे के बाद, गहलोत ने बिना नाम लिए असंतुष्टों पर तीखा प्रहार किया और कहा कि पार्टी के कुछ नेता भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निपटने के तरीके पर चर्चा करने के बजाय, संगठनात्मक चुनाव की मांग करते रहते हैं।

सूत्र ने यह भी कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि पार्टी के नेता संगठनात्मक चुनाव जैसे अप्रासंगिक मुद्दों पर चर्चा करने में समय बर्बाद कर रहे हैं। गहलोत ने कहा, हमें मामले और इसके फैसलों को पार्टी अध्यक्ष पर छोड़ देना चाहिए।

उन्होंने पार्टी नेताओं से सवाल पूछते हुए कहा, आप पार्टी नेतृत्व (सोनिया गांधी) पर विश्वास करते हैं या नहीं? गहलोत को पार्टी की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, तारिक अनवर और केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी का समर्थन प्राप्त था।

गहलोत पर निशाना साधते हुए शर्मा ने कहा कि पार्टी के कुछ सदस्य वरिष्ठ नेताओं का अपमान करते रहते हैं। वरिष्ठ नेताओं के बीच मौखिक विवाद के बाद, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हस्तक्षेप करते हुए दोनों समूहों को शांत किया।

हालांकि एक संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के नेताओं ने कहा कि सीडब्ल्यूसी में ऐसा कोई मौखिक विवाद नहीं हुआ है। बता दें कि सीडब्ल्यूसी कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई है। सीडब्ल्यूसी की बैठक के बाद, कांग्रेस महासचिव (संगठन) के. सी. वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी के पास किसी भी कीमत पर इस साल जून तक एक निर्वाचित अध्यक्ष होगा।

वेणुगोपाल ने साढ़े तीन घंटे चली बैठक के बाद एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, सीडब्ल्यूसी ने मई में होने वाले संगठनात्मक चुनावों पर चर्चा की, लेकिन सीडब्ल्यूसी सदस्यों ने सर्वसम्मति से अंतरिम प्रमुख सोनिया गांधी से अनुरोध किया कि पार्टी चुनाव आने वाले महीनों में कई राज्यों के विधानसभा चुनावों के बीच नहीं होने चाहिए।

उन्होंने कहा कि सीडब्ल्यूसी सदस्यों ने संगठनात्मक चुनावों के पुननिर्धारण करने का अनुरोध किया। वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, गलतफहमी न पालें और अफवाहों पर ध्यान न दें। सुरजेवाला ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, जिन नेताओं के नाम लिए गए हैं, वे असंतुष्ट नहीं हैं।

वे हमारे सम्मानित नेता हैं और वे हमारे परिवार के सदस्य हैं। और हम सभी एकमत हैं कि पार्टी चुनाव कार्यक्रम को एक महीने के लिए टाल दिया जाए। वेणुगोपाल ने संगठनात्मक चुनाव के मुद्दे पर वरिष्ठ नेताओं के बीच हुई कथित बहस के बारे में कहा, सीडब्ल्यूसी में कोई बड़ी बहस नहीं हुई है।

हम पार्टी  चुनाव इसके संविधान के अनुसार करेंगे और इसका शेड्यूल बहुत जल्द जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा, विधानसभा चुनाव (केरल, तमिलनाडु, असम, पश्चिम बंगाल, और पुदुचेरी में) आने के कारण शेड्यूल में कुछ बदलाव की आवश्यकता थी और इस पर विचार किया गया। वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी इसी के अनुसार चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करेगी।