BREAKING NEWS

PM नरेंद्र मोदी ने की सेनेगल के राष्ट्रपति मैकी सॉल के साथ द्विपक्षीय बातचीत◾अखिलेश यादव ने BJP सरकार पर लगाया भय फैलाकर लोकतंत्र चलाने का आरोप◾कश्मीर मुद्दे पर आज पाकिस्तान को संबोधित करेंगे इमरान खान◾अमित शाह ने की नक्सलियों के खिलाफ चल रहे अभियानों की समीक्षा, बैठक में कई राज्यों के CM भी रहे शामिल◾INX मीडिया केस: अग्रिम जमानत ठुकराए जाने के खिलाफ चिदंबरम की अपील पर SC का सुनवाई से इनकार◾पूर्व PM मनमोहन सिंह की हटाई गई SPG सुरक्षा, अब मिलेगा सिर्फ Z+ कवर◾मायावती ने कांग्रेस पर बोला तीखा हमला, Article 370 का समर्थन करने की बताई वजह◾सुबोधकांत सहाय बोले- कांग्रेस अनुच्छेद 370 हटाने का नहीं, उसके तरीके का विरोध कर रही◾PM मोदी आज G-7 सम्मेलन के दौरान डोनाल्ड ट्रंप से करेंगे मुलाकात, कश्मीर मुद्दे पर चर्चा संभव◾अधीर रंजन चौधरी का विवादित बयान, बोले- सत्यपाल मलिक को J-K बीजेपी का अध्यक्ष बना देना चाहिए◾कुमारस्वामी ने मुझे दुश्मन समझा और इससे सारी समस्याएं पैदा हुई : सिद्धारमैया◾आईएनएक्स मीडिया मामले में चिदंबरम की अर्जी पर SC में सुनवाई आज, हाईकोर्ट के आदेश को दी है चुनौती◾मंदी को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा का केंद्र सरकार पर हमला, कहा-इस गड़बड़ी का कारण क्या है? ◾जसप्रीत बुमराह की आंधी में उड़ा वेस्ट इंडीज, एंटीगा टेस्ट में 318 रन से जीता भारत◾राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत अन्य नेताओं ने सिंधू को शानदार जीत पर बधाई दी ◾PM मोदी ने संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस के साथ ‘सार्थक चर्चा’ की◾J&K : केंद्र सरकार ने राज्य के लिए की 85 विकास योजनाओं की शुरुआत◾फ्रांस में PM मोदी ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन से की मुलाकात◾विपक्ष, प्रेस को जम्मू कश्मीर में लोगों पर बल के बर्बर प्रयोग का अहसास हुआ : राहुल◾जेटली के निधन से भाजपा में ‘दिल्ली-4’ दौर हुआ समाप्त ◾

देश

राष्ट्रीय सुरक्षा, आतंकवाद जैसे अति महत्वपूर्ण मुद्दों का सामना कर रहा है भारत : जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को विपक्ष के इस तर्क को खारिज कर दिया कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर चुनाव नहीं लड़ा जाना चाहिए। सुरक्षा और आतंकवाद दीर्घकाल में सर्वाधिक महत्वपूर्ण मुद्दे हैं जबकि अन्य सभी चुनौतियों का शीघ्र समाधान हो सकता है। उन्होंने कहा भारत के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती जम्मू कश्मीर का मुद्दा है क्योंकि यह राष्ट्र की संप्रुभता की चिंता से जुड़ा हुआ है।

जेटली ने ‘क्यों जम्मू-कश्मीर, और आतंकवाद के लिए नया दृष्टिकोण एक प्रमुख राजनीतिक मुद्दा बना रहेगा’ शीर्षक से अपनी एक फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘‘भारत के विपक्ष का तर्क है कि चुनाव ‘वास्तविक मुद्दों’ पर लड़ना होगा और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर चुनाव नहीं लड़ा जाना चाहिए। मेरा तर्क है कि राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंकवाद दीर्घकाल में सर्वाधिक महत्वपूर्ण मुद्दे हैं। अन्य सभी चुनौतियों का जल्द समाधान किया जा सकता है।’’

विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पुलवामा में सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत और पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना के जवाबी हमले को लेकर राजनीति कर रहे हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंकवाद को चुनावी बहस का विषय बनाने का कारण देते हुए जेटली ने कहा, ‘‘यह देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा से संबंधित है।’’

 उन्होंने आरोप लगाया कि दो क्षेत्रीय दल (पीडीपी और नेकां) ने निराशाजनक भूमिका निभाई है और विपक्षी पार्टियों के मौजूदा नेतृत्व के पास शायद ही कोई रोडमैप है, सिवाय विनाश के रास्ते पर चलने के अलावा। जेटली ने आरोप लगाया कि चुनाव प्रचार के दौरान, जब भी पुलवामा में आतंकवादी हमले और बालाकोट में हवाई हमले से संबंधित मुद्दों को उठाया जाता है तो भारत का विपक्ष बैकफुट पर आ जाता है। उन्होंने कहा, ‘‘एक मजबूत सरकार और स्पष्टता वाला एक अकेला नेता कश्मीर मुद्दे को सुलझाने में सक्षम है। इसके लिए अतीत की ऐतिहासिक भूलों को सुधारने की जरूरत होगी।’’