BREAKING NEWS

हिंसा के बाद किसान आंदोलन में पड़ी दरार, दो संगठनों ने खुद को किया अलग◾26 जनवरी हिंसा: राकेश टिकैत, अन्य किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज◾गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की ◾संयुक्त किसान मोर्चा की सफाई - असामाजिक तत्वों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को नष्ट करने की कोशिश की◾दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड में हिंसा के संबंध 200 लोगों को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी ◾BCCI प्रमुख सौरव गांगुली को सीने में दर्द, अपोलो हॉस्पिटल में कराया गया एडमिट ◾नेपाल में कोविड टीकाकरण का पहला चरण शुरू, भारत ने तोहफे में दी है 10 लाख वैक्सीन डोज◾ किसान ट्रैक्टर परेड: गणतंत्र दिवस पर हिंसा की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल◾दो दिवसीय दौरे पर केरल पहुंचे राहुल, मलप्पुरम में गर्ल्स स्कूल के भवन का किया उद्घाटन ◾किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोविड-19 वैक्सीन प्री-बुकिंग : 60 करोड़ टीके का ऑर्डर दे चुका है भारत, 1 अरब के लिए बात जारी

कोरोना महामारी से बचाव और उपचार के लिए वैक्सीन बनाने के निरंतर प्रयास जारी है। दुनिया में कई वैक्सीन दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल में पहुंच चुकी हैं और टीकों के बाजार में आने से महीनों पहले खरीद की रेस शुरू हो चुकी है। कई बड़े और अमीर देश अपने नागरिकों के लिए प्री-बुकिंग में जुटे हैं। हालांकि, भारत ने इसमें अच्छी बढ़त बना ली है। 

भारत वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग क्षमता का इस्तेमाल करते हुए 60 करोड़ डोज का ऑर्डर दे चुका है और 1 अरब अन्य डोज के लिए बातचीत में जुटा है, जो कि कम से कम आधी आबादी के टीकाकरण के लिए पर्याप्त है। शरीर में एंटीबॉडी विकसित करने के लिए अधिकतर संभावित वैक्सीन के 2 डोज लेने होंगे। बता दें कि कोरोना वैक्सीन की प्री-बुकिंग की दौड़ में केवल अमेरिका भारत से आगे चल रहा है। दरअसल, अमेरिका ने 81 करोड़ डोज का प्री-ऑर्डर दे दिया है और 1.6 अरब डोज के लिए मोलभाव में जुटा है। 

दुनिया की पूरी आबादी को कवर करने के लिए पर्याप्त वैक्सीन उत्पादन में 3 से 4 साल का वक्त लगेगा, अमीर और मिडिल आय वाले देश, जिनके पास मैन्युफैक्चरिंग क्षमता भी है, पहले से ही वैक्सीन की खरीदारी में जुट गए हैं। अमेरिका ने 81 करोड़ डोज का ऑर्डर कंफर्म कर लिया है, अन्य 1.6 अरब डोज को लेकर बातचीत चल रही है। इसके बाद भारत है जिसने 60 करोड़ डोज की बुकिंग कर ली है और अन्य 1 अरब डोज खरीदने की प्रक्रिया में शामिल है।

यूरोपीय यूनियन ने 40 करोड़ डोज बुक किए हैं और 1.565 अरब की बुकिंग के लिए बातचीत जारी है। लेकिन यदि आबादी को कवर करने की फीसदी के मामले को देखें तो कनाडा ने आबादी के मुकाबले 527 फीसदी वैक्सीन बुकिंग की है और इसके बाद यूके ने 277% प्री बुकिंग की है।