BREAKING NEWS

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बोले-देश में नहीं हुआ कोरोना वायरस का कम्युनिटी ट्रांसमिशन◾ इंडिया ग्लोबल वीक में बोले PM मोदी-वैश्विक पुनरुत्थान की कहानी में भारत की होगी अग्रणी भूमिका◾कुख्यात अपराधी विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद मां ने कहा- हर वर्ष जाते है महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए ◾मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे के बारे में शुरुआत से लेकर गिफ्तारी तक का जानिए पूरा घटनाक्रम◾काशीवासियों से बोले PM मोदी- जो शहर दुनिया को गति देता हो, उसके आगे कोरोना क्या चीज है◾ कांग्रेस ने PM मोदी से किया सवाल, पूछा- क्या गलवान घाटी पर भारत का दावा कमजोर किया जा रहा?◾उज्जैन पुलिस की पीठ थपथपाते हुए बोले CM शिवराज-जल्दी UP पुलिस को सौंपा जाएगा विकास दुबे◾चित्रकूट की खदानों में बच्चियों के यौन शोषण पर बोले राहुल-क्या यही सपनों का भारत है◾देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमितों के 24,879 नए मामले और 487 लोगों ने गंवाई जान ◾कानपुर में 8 पुलिसर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास दुबे उज्जैन में गिरफ्तार◾ दुनिया में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरने वालों आंकड़ा 5 लाख 48 हजार के पार ◾कानपुर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के सहयोगी प्रभात और बउआ को पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान मार गिराया ◾PM मोदी वाराणसी की संस्थाओं के प्रतिनिधियों से आज 11 बजे वीडियो कांफ्रेंस पर संवाद करेंगे◾चीन की अत्यंत आक्रामक कार्रवाई का जवाब भारत ने सर्वश्रेष्ठ तरीके से दिया है :अमेरिका ◾जम्मू कश्मीर के बांदीपुरा में आतंकवादियों ने BJP नेता, उनके पिता और भाई की गोली मारकर हत्या की◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 6,603 नये मामले, 198 और लोगों की गई जान ◾अमेरिका के दबाव के आगे झुका चीन , कोरोना की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए WHO टीम को दी अनुमति ◾मोदी सरकार 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' को तेजी से बढ़ा रही आगे , पर कांग्रेस गैरजिम्मेदार विपक्ष: भाजपा◾राहुल ने PM मोदी पर साधा निशाना, कहा- 'सच के लिए लड़ने वालों को धमकाया नहीं जा सकता◾कानपुर : मुखबिरी के आरोप में चौबेपुर थाने के पूर्व SO विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना संकट से निपटने के लिए भारत का दक्षेस देशों के लिए ऑनलाइन मंच का प्रस्ताव

भारत ने कोरोना वायरस (कोविड-19) से मिलकर मुकाबला करने के प्रयासों के तहत सभी दक्षेस देशों के लिए एक साझा ‘‘ऑनलाइन मंच’’ का प्रस्ताव दिया है। इस मंच के जरिये दक्षेस देशों के बीच बीमारी से जुड़ी सूचनाओं, ज्ञान, विशेषज्ञता एवं एक दूसरे की अच्छी पहल का आदान-प्रदान किया जा सकेगा। विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है ।

गुरुवार को दक्षेस देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले स्वास्थ्य विशेषज्ञों एवं पेशेवरों ने कोरोना वायरस के मुद्दे पर वीडियो कांफ्रेंसिंग पर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 मार्च को दक्षेस देशों के नेताओं से संवाद के दौरान कहा था कि दक्षेस के सदस्य देशों के स्वास्थ्य पेशेवर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग से संवाद कर सकते हैं।

विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, ‘‘ भारत ने सभी दक्षेस देशों के लिये एक ऑनलाइन मंच साझा करने का प्रस्ताव दिया है ताकि कोविड-19 से जुड़ी सूचनाएं, ज्ञान, विशेषज्ञता एवं इससे मुकाबले के संबंध में अच्छी पहल का आदान-प्रदान किया जा सके ।’’इसमें बताया गया कि इस मंच के निर्माण की दिशा में पहले ही काफी काम हो चुका है और यह इस संबंध में गतिविधियों एवं संवाद के बहुद्देश्यीय माध्यम के रूप में काम करेगा।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 450 अंक तेज, निफ्टी 8,900 अंक के करीब

इन गतिविधियों में आपदा प्रतिक्रिया कर्मियों के ऑनलाइन प्रशिक्षण, ज्ञान साझा करना, बीमारी की निगरानी की विशेषज्ञता का आदान-प्रदान करना और नये उपचार संबंधी संयुक्त शोध आदि शामिल हैं। मंत्रालय के बयान के अनुसार, भारतीय पक्ष ने प्रस्ताव किया कि जब तक यह ऑनलाइन मंच पूरी तरह से काम नहीं करने लगता, तब तक सभी दक्षेस देशों के स्वास्थ्य सेवाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले विशेषज्ञों का नेटवर्क व्हाट्सएप/ईमेल सुविधा स्थापित कर सकता है ताकि वास्तविक आधार पर दक्षेस देशों के बीच जरूरी सूचनाओं का आदान-प्रदान किया जा सके।

बयान में कहा गया है कि सभी दक्षेस देशों के स्वास्थ्य प्रतिनिधियों ने उत्साहपूर्वक और रचनात्मक हिस्सेदारी की और क्षेत्र में कोरोना वायरस से उत्पन्न चुनौतियों को मिलकर हराने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। संवाद के दौरान भारत की ओर से बीमारी की निगरानी, लोगों के बीच संपर्कों की पहचान, यात्रा प्रतिबंध, खतरे का मूल्यांकन, उपचार, पृथक रहने के उपायों, मरीजों से जुड़े प्रबंधन आयाम, स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा सहित विभिन्न आयामों पर प्रस्तुति दी गई। इसी तरह सभी दक्षेस देशों के प्रतिनिधियों ने कोविड-19 से मुकाबला करने के अपने अनुभवों को साझा किया।