BREAKING NEWS

दिल्ली में घटे कोरोना टेस्ट के दाम, अब 500 की जगह इतने रुपये में करवा सकते हैं RT-PCR TEST ◾ इंडिया गेट पर बने अमर जवान ज्योति की मशाल अब हमेशा के लिए हो जाएगी बंद, जानिए क्या है पूरी खबर ◾IAS (कैडर) नियामवली में संशोधन पर केंद्र आगे नहीं बढ़े: ममता ने फिर प्रधानमंत्री से की अपील◾कल के मुकाबले कोरोना मामलों में आई कमी, 12306 केस के साथ 43 मौतों ने बढ़ाई चिंता◾बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾पंजाब: धुरी से चुनावी रण में हुंकार भरेंगे AAP के CM उम्मीदवार भगवंत मान, राघव चड्ढा ने किया ऐलान ◾पाकिस्तान में लाहौर के अनारकली इलाके में बम ब्लॉस्ट , 3 की मौत, 20 से ज्यादा घायल◾UP चुनाव: निर्भया मामले की वकील सीमा कुशवाहा हुईं BSP में शामिल, जानिए क्यों दे रही मायावती का साथ? ◾यूपी चुनावः जेवर से SP-RLD गठबंधन प्रत्याशी भड़ाना ने चुनाव लड़ने से इनकार किया◾SP से परिवारवाद के खात्मे के लिए अखिलेश ने व्यक्त किया BJP का आभार, साथ ही की बड़ी चुनावी घोषणाएं ◾Goa elections: उत्पल पर्रिकर को केजरीवाल ने AAP में शामिल होकर चुनाव लड़ने का दिया ऑफर ◾BJP ने उत्तराखंड चुनाव के लिए 59 उम्मीदवारों के नामों पर लगाई मोहर, खटीमा से चुनाव लड़ेंगे CM धामी◾संगरूर जिले की धुरी सीट से भगवंत मान लड़ सकते हैं चुनाव, राघव चड्डा बोले आज हो जाएगा ऐलान ◾

दुश्मन के हर नापाक हमले को ​मात देने के लिए भारतीय वायुसेना जल्द खरीदेगी 10 एंटी-ड्रोन सिस्टम

जम्मू के बाहरी क्षेत्र में हुए ड्रोन हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने दुश्मन की हर नापाक चाल को अंजाम देने से पहले ही उसे काउंटर करने के लिए एक खास योजना बनाई है। दरअसल, सूत्रों के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय सीमा के निकट भविष्य में ऐसे किसी भी तरह के ड्रोन हमले को नाकाम करने के लिए 10 ड्रोन-विरोधी सिस्टम खरीदने का फैसला किया है। 

वायुसेना ने काउंटर निहत्थे विमान प्रणाली (सीयूएएस) के लिए भारतीय विक्रेताओं के लिए सूचना के लिए एक अनुरोध (आरएफआई) जारी किया है जो ड्रोन को गिराने के लिए लेजर निर्देशित ऊर्जा हथियारों से लैस हो सकता है। 27 जून को, जम्मू वायु सेना स्टेशन पर ड्रोन हमला किया गया था, जहां दो मानव रहित हवाई वाहनों का इस्तेमाल बम गिराने के लिए किया गया था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है।

आरएफआई ने कहा: सीयूएएस का उद्देश्य शत्रुतापूर्ण यूएएस का पता लगाना, ट्रैक करना, पहचानना, नामित करना और बेअसर करना है। लेजर निर्देशित ऊर्जा हथियार (लेजर-डीईडब्ल्यू) अनिवार्य रूप से एक मारक विकल्प के रूप में आवश्यक है।

इसमें कहा गया है कि सिस्टम को ग्लोबल नेविगेशन सैटेलाइट जैमर सिस्टम (जीएनएसएस) और रेडियो फ्रीक्वेंसी जैमर को सॉफ्ट किल ऑप्शन के रूप में और लेजर-आधारित डायरेक्टेड एनर्जी वेपन (लेजर-डीईडब्ल्यू) को ड्रोन को नष्ट करने के लिए हार्ड किल विकल्प के रूप में सुसज्जित किया जाना चाहिए।

आरएफआई ने कहा इसे आसपास के पर्यावरण को न्यूनतम संपाश्र्विक क्षति पहुंचाते हुए मानव रहित विमानों के लिए प्रभावी नो फ्लाई जोन लागू करने के लिए एक बहु-सेंसर, बहु-मार समाधान प्रदान करना चाहिए। इसे ऑपरेटर के लिए एक समग्र वायु परिस्थिति चित्र उत्पन्न करना चाहिए और उपयोगकर्ता परिभाषित उपयोगकर्ता के आधार पर अलर्ट उत्पन्न करना चाहिए।

वायु सेना ने कहा कि ये एंटी-ड्रोन सिस्टम क्रॉस कंट्री क्षमता वाले स्वदेशी वाहनों पर लगे मोबाइल कॉन्फिगरेशन में आवश्यक हैं और स्वदेशी विद्युत विद्युत आपूर्ति (ईपीएस) प्रणाली द्वारा संचालित हैं। एंटी-ड्रोन सिस्टम में वाहन से इंटीग्रल पावर सॉल्यूशन और रूफ टॉप/ओपन ग्राउंड पर माउंटिंग सहित सभी सब सिस्टम को डिसमाउंट करने का प्रावधान होना चाहिए।

उन्होंने कहा पूरी प्रणाली सड़क और हवाई परिवहन योग्य होनी चाहिए। डिजाइन में त्वरित तैनाती और निकासी के लिए मॉड्यूलरिटी शामिल होनी चाहिए।आरएफआई निर्दिष्ट करता है कि एक मिनी मानव रहित विमान प्रणाली के लिए रडार में 5 किमी की सीमा के साथ 360 डिग्री कवरेज होना चाहिए।