BREAKING NEWS

UP: हाथरस पीड़ित का परिवार नहीं लड़ेगा विधानसभा चुनाव, कहा- पहले हमें इंसाफ दिलाओ◾UP चुनाव में JDU को नहीं मिला BJP का साथ, केसी त्यागी ने किया पार्टी के अकेले मैदान में उतरने का ऐलान ◾UP विधानसभा चुनाव: नेताओं को रिझाने के लिए कांग्रेस कर रही तरह-तरह के जतन ◾अखिलेश के चुनाव लड़ने पर BJP का तंज, नक़वी बोले-जुगाड़ से चल रही है विपक्ष का चौधरी बनने की जंग◾विश्व में कहीं खत्म नहीं हुआ कोरोना का आतंक, WHO ने ओमीक्रॉन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें क्या कहा? ◾World Corona: कोविड के वैश्विक मामलों में वृद्धि का दौर जारी, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 33.35 करोड़ के पार◾BJP ने मुलायम परिवार में लगाई बड़ी सेंध, भगवा दल में शामिल हुईं अपर्णा यादव ◾उत्तराखंड और गोवा चुनाव: BJP की CEC बैठक में उम्मीदवारों के नामों पर लगेगी मुहर, सीटों पर होगी चर्चा ◾कोविड 19 के गहराते संकट से जल्द मिलेगी राहत! कोरोना की तीसरी लहर को लेकर SBI के शोध में बड़ा दावा◾UP Assembly Election : सपा प्रमुख अखिलेश यादव लड़ेंगे विधानसभा चुनाव◾today's corona case: बीते 24 घंटों में कोविड के मामलों में हुई वृद्धि, सामने आए 2 लाख 82 हजार से ज्यादा नए मरीज◾UP : कोरोना गाइडलाइंस उल्लंघन मामले में सपा को राहत, चुनाव आयोग ने हिदायत देकर छोड़ा◾कोरोना ने डाला गणतंत्र दिवस समारोह पर असर, जानिए कौन होगा इस बार मुख्य अतिथि? ◾उत्तर भारत में अभी ठंड से ठिठुरन का सिलसिला रहेगा जारी, तो दिल्ली-UP समेत इन राज्यों में बारिश की संभावना◾उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में SP के लिए प्रचार करेंगी ममता बनर्जी◾भाजपा का दामन थाम सकती हैं मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव - सूत्र◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : राजनाथ ने ममता को बंगाल की झांकी न होने की बताई ये वजह !◾पंजाब : कांग्रेस के 4 नेताओं ने मंत्री को पार्टी से निकालने की मांग की, सोनिया गांधी को लिखा पत्र ◾विधानसभा चुनावों में डिजिटल माध्यम से रैलियां करेगी BJP◾केरल : कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पाबंदियों पर बृहस्पतिवार को फैसला लेगी राज्य सरकार ◾

भारतीय विमानपत्तन आर्थिक विनियामक प्राधिकरण संशोधन बिल 2021 लोकसभा में हुआ पेश

लोकसभा में बुधवार को भारतीय विमानपत्तन आर्थिक विनियामक प्राधिकरण संशोधन विधेयक 2021 पेश किया गया जिसमें ‘‘महाविमानपत्तन’’ की परिभाषा को संशोधित करने का प्रस्ताव किया गया है। निचले सदन में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने यह विधेयक पेश किया। इसके माध्यम से भारतीय विमान पत्तन आर्थिक विनियामक प्राधिकरण अधिनियम 2008 में संशोधन करने का प्रस्ताव किया गया है।

विधेयक के उद्देश्यों एवं कारणों में कहा गया है कि भारतीय विमानपत्तन आर्थिक विनियामक प्राधिकरण संशोधन विधेयक 2021 ‘महाविमानपत्तन’ की परिभाषा को संशोधित करने का प्रस्ताव करता है जिससे उसकी परिधि में विमानपत्तनों के समूह के लिये शुल्क (टैरिफ) का निर्धारण करने के लिये विस्तार किया जा सके। यह छोटे विमानपत्तनों के विकास को प्रोत्साहन प्रदान करेगा।

इसमें कहा गया है कि जिन विमानपत्तनों में अभी यातायात की संभावना कम है और हानि होने के कारण तर्कसंगत प्रतिस्पर्धी बोलियां आमंत्रित करने की संभावना नहीं है, वहां सार्वजनिक निजी भागीदारी से अधिक विमानपत्तनों का विकास सुदूर एवं दूरस्थ क्षेत्रों में वायु सम्पर्क का विस्तार करेगा।

इसमें कहा गया कि इस रुख से न केवल अधिक यातायात एवं लाभ प्रदान करने वाले विमानपत्तनों का विकास होगा बल्कि कम यातायात वाले एवं लाभ नहीं कमाने वाले विमानपत्तनों का भी विकास होगा। विधेयक में कहा गया कि इसलिये सरकार ने लाभ प्रदान करने वाले और लाभ नहीं प्रदान करने वाले विमानपत्तनों को जोड़ने का निश्चय किया है ताकि जिनका संभावित बोलीदाताओं के लिये सार्वजनिक निजी भागीदारी हेतु प्रस्ताव किया जा सके।