BREAKING NEWS

दिल्ली की जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल खत्म ◾CJI गोगोई ने सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या पर फैसले के साथ इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज कराया ◾प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾ऑड-ईवन योजना का अंतिम दिन आज, स्कीम को आगे बढ़ाने पर संशय बरकरार◾तीस हजारी कांड : पथराव करने वाले वकील ही थे, क्या गारंटी?◾INX मीडिया मामला: चिदंबरम की जमानत याचिका पर आज आ सकता है कोर्ट का फैसला◾

देश

आईएनएक्स मीडिया मामला : चिदम्बरम ने उच्चतम न्यायालय में नयी अर्जी लगायी

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में अपने खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट और 26 अगस्त तक सीबीआई की हिरासत में भेजने के निचली अदालत के फैसले को चुनौती देते हुए शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय में नयी अर्जी दाखिल की। 

वरिष्ठ कांग्रेस नेता को 21 अगस्त को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तार किया था। उसी दिन निचली अदालत ने इस मामले में उनके विरूद्ध गिरफ्तारी वारंट किया था। 

निचली अदालत ने उन्हें बृहस्पतिवार तक के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया। निचली अदालत ने कहा कि आईएनएक्स मीडिया मामले में हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ करना बिल्कुल उचित है। 

अपनी नयी अर्जी में चिदम्बरम ने निचली अदालत के आदेश के विरूद्ध दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाए बगैर ही शीर्ष अदालत में पहुंच जाने को यह कहते हुए सही ठहराया कि ‘याचिकाकर्ता की गिरफ्तारी/उन्हें हिरासत में लिया जाना और प्रतिवादी एजेंसी की हिरासत में भेजा जाना 20 अगस्त, 2019 के फैसले का प्रत्यक्ष परिणाम है..... जिसमें याचिकाकर्ता की अग्रिम जमानत खारिज कर दी गयी और इस मामले के गुण-दोष पर ही कुछ टिप्पणियां की गयी।’’ 

उन्होंने कहा कि यह अर्जी उनकी आजादी से जुड़ी है जो अवैध रूप से बाधित की गयी है। अर्जी में कहा गया है, ‘‘ यह याचिकाकर्ता का ऐसा मामला है जहां 21 अगस्त 2019 को जारी गैर जमानती वारंट पर याचिकाकर्ता की गिरफ्तारी / उन्हें हिरासत में लिया जाना तथा 22 अगस्त, 2019 के आदेश पर उनकी हिरासत पूरी तरह क्षेत्राधिकार और कानून के प्राधिकार के बाहर है।’’ 

चिदम्बरम ने अंतरिम राहत के तौर पर निचली अदालत के दो आदेशों पर उच्च न्यायालय के आदेश के विरूद्ध उनकी अपीलों के निस्तारण तक स्थगन की मांग की है।