BREAKING NEWS

PM मोदी ने शपथ लेने पर जो बाइडेन और कमला हैरिस को दी बधाई ◾केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान नेताओं का रुख सकारात्मक, बोले- विचार करेंगे ◾लोकतंत्र की जीत हुई है : अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने पहले भाषण में कहा ◾जो बाइडेन बने अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति ◾कमला देवी हैरिस ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ लेकर रचा इतिहास ◾सरकार एक से डेढ़ साल तक भी कानून के क्रियान्वयन को स्थगित करने के लिए तैयार : नरेंद्र सिंह तोमर◾कृषि कानूनों पर रोक को तैयार हुई सरकार, अगली बैठक 22 जनवरी को◾TMC कार्यकर्ताओं ने रैली में की विवादित नारेबाजी, नारे से तृणमूल ने खुद को किया अलग◾चुनावों से पहले ममता को एक और झटका, BJP में शामिल हुए अरिंदम भट्टाचार्य◾कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर धरना दे रहे किसान ने खाया जहर, इलाज़ के दौरान हुई मौत◾PM वास्तविकता के प्रति आंखे खोले, शौचालय, आवास और ओडीएफ के 'आंकड़े' को नहीं दोहराना चाहिए : चिदंबरम ◾क्या 26 जनवरी को निकलेगी किसानों की ट्रैक्टर रैली? कमेटी पर उठ रहे सवालों पर CJI सख्त◾आवास योजना के तहत PM मोदी ने जारी की वित्तीय मदद, 2022 तक सबको घर देने का रखा लक्ष्य◾बंगाल : जलपाईगुड़ी सड़क हादसे में 13 की मौत और 18 गंभीर रूप से घायल, PM मोदी ने जताया शोक◾बजट से पहले मोदी कैबिनेट की तैयारी, 30 जनवरी को बुलाई सर्वदलीय बैठक ◾जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने तीन घुसपैठियों को मार गिराया, 4 जवान घायल ◾अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर बाइडन आज लेंगे शपथ, बयान देते समय हुए भावुक ◾TOP 5 NEWS 20 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान में अब तक 6.31 लाख स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया◾मोदी आज प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के लाभार्थियों को जारी करेंगे वित्तीय सहायता ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

CAA को लेकर बोले एस. जयशंकर- देश विहीन लोगों की संख्या घटाने की है कोशिश

दिल्‍ली में शनिवार को ग्‍लोबल बिजनेस समिट कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें विदेश मंत्री सुब्रह्मण्‍यम जयशंकर ने देश के अनेक मुद्दों पर अपना पक्ष रखा। जम्मू-कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र संस्था की टिप्पणी पर विदेश मंत्री कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के निदेशक पहले भी गलत हो चुके हैं। सीएए को लेकर उन्होंने कहा कि "हर कोई नागरिकता को एक संदर्भ में देखता है, मुझे कोई भी ऐसा देश बताइए जो कहता हो कि दुनिया के हर व्यक्ति का वहां स्वागत है।"

उन्होंने कहा कि यूएनएचआरसी सीमा पार के आंतकवाद के मुद्दों के इर्द-गिर्द घूमता रहता है जैसे कि उसके ठीक बगल के देश से कोई लेना-देना नहीं है। विदेश मंत्री ने कहा कि "कृपया समझने की कोशिश करें कि उनका संबंध कहां से है, यूएनएचआरसी के रिकॉर्ड को देखें कि वे पूर्व में कश्मीर मुद्दे से कैसे निपटे हैं।" 

विदेश मंत्री ने कहा कि सीएए पर हम जो बिंदु बनाते हैं वह यह है कि यह किसी का मामला नहीं हो सकता है कि सरकार और संसद के पास नागरिकता की शर्तें निर्धारित करने का अधिकार नहीं है। हमने इस देश में बड़ी संख्या में देशविहीन लोगों को कम करने की कोशिश की है।

लालू के समर्थकों ने रिम्स आइसोलेशन वार्ड का किया विरोध, कहा - राजद प्रमुख के जीवन को है खतरा

जब वे नागरिकता को देखते हैं तो हर किसी के पास एक संदर्भ होता है। भारत में सीएए स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाया है या गलत समझा गया है इस पर विदेश मंत्री ने कहा कि मीडिया के बाहर दुनिया के कुछ वर्ग हैं। उन्होंने कहा मैं सरकारी काम में संलग्न ब्रसेल्स में था, मेरे पास एक कमरे में 27 विदेशी मंत्री थे जिनसे मैं बात कर रहा था।

उन्होंने कहा कि हमने सीएए के जरिए देश विहीन लोगों की संख्या घटाने की कोशिश की, इसकी प्रशंसा होनी चाहिए। कोई भी यह नहीं कह सकता कि सरकार या संसद के पास नागरिकता की शर्तें निर्धारित करने का अधिकार नहीं है, हर सरकार ने यह किया है।