BREAKING NEWS

कुछ लोग बिना अनुमति के कर रहे हैं प्रदर्शन : प्रकाश जावड़ेकर◾दिल्ली चुनाव प्रचार से कांग्रेस के बड़े चेहरे गायब, भाजपा और आप ने झोंकी ताकत ◾बीटिंग रिट्रीट: सशस्त्र बलों के बैंडों की 26 प्रस्तुतियों के साथ गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न ◾राजनीतिक धुंधलके में पैदा हुआ 'जिन्न' : प्रशांत किशोर◾दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए साझा रैली करेंगे शाह और नीतीश, 2 फरवरी को बुराड़ी में जनसभा◾केजरीवाल बताएं, झूठ का पर्दाफाश करने पर दिल्ली का अपमान कैसे : शाह◾राहुल गांधी वायनाड में “संविधान बचाओ मार्च’ की करेंगे अगुवाई◾दिल्ली पुलिस ने जारी किए जामिया में हिंसा करने वाले 70 व्यक्तियों के चित्र ◾पृथ्वीराज चव्हाण ने लगाया PM मोदी पर आरोप, बोले- एनसीसी कैडेटों को संबोधित करते हुए किया आचार संहिता का उल्लंघन ◾प्रशांत किशोर के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने को लेकर अटकलें जोरों पर ◾राजद्रोह के आरोप में शरजील इमाम को 5 दिन की पुलिस रिमांड, वकीलों ने देशद्रोही बताते हुए लगाए नारे ◾TOP 20 NEWS 29 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾CAA को लेकर कन्हैया कुमार ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार देश में भड़की आग में घी डालने का काम कर रही◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : EC ने अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा को भाजपा की स्टार प्रचारक की सूची से बाहर किया ◾दिल्ली चुनाव : CM केजरीवाल बोले- भाजपा का मुझे ‘‘आतंकवादी’’ कहना बेहद दुखद◾कांग्रेस नेता चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात◾दिल्ली चुनाव : जे पी नड्डा बोले- दिल्ली में पोस्टरबाजी वाली सरकार नहीं, डबल इंजन की भाजपा सरकार चाहिए◾बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल भाजपा में हुई शामिल, दिल्ली विधानसभा चुनाव में करेंगी प्रचार ◾राहुल ने प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री पर साधा निशाना, कहा- अर्थव्यवस्था को लेकर हैं अनभिज्ञ ◾निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट ने दोषी मुकेश कुमार की दया याचिका की ख़ारिज ◾

जेटली राजनीतिक दिग्गज, देश के लिए अमूल्य संपत्ति थे : लोकसभा अध्यक्ष

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भाजपा के कद्दावर नेता अरुण जेटली को रविवार को अंतिम श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें ऐसी विराट शख्सियत करार दिया जिनकी प्रेरणादायी और बौद्धिक उपस्थिति देश के लिए एक अमूल्य संपत्ति थी। 

बिरला निगमबोध घाट पर मौजूद थे जहां जेटली का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। बिरला ने कहा जेटली ने भारतीय राज्य-व्यवस्था और राष्ट्र निर्माण पर गहरा प्रभाव डाला, जिसने न केवल शासन के मूल सिद्धांतों को परिभाषित किया, बल्कि आम आदमी के जीवन को भी प्रभावित किया। 

लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी बयान में बिरला के हवाले से कहा गया, 'अरुणजी एक विराट शख्सियत थे जिनकी प्रेरणादायी और बौद्धिक उपस्थिति देश के लिए एक अमूल्य संपत्ति थी। एक राजनीतिक दिग्गज, जिसने राजनीतिक विभाजनों के बीच आदर और विश्वास अर्जित किया।'

बिरला ने कहा कि पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री को उनकी संवेदनशीलता और मुद्दों की समझ के लिए भी याद किया जाएगा।