BREAKING NEWS

कर्नाटक संकट : सिद्धारमैया ने कहा-SC के पिछले आदेश के स्पष्टीकरण तक फ्लोर टेस्ट करना उचित नहीं◾कर्नाटक : CM कुमारस्वामी ने पेश किया विश्वास मत प्रस्ताव◾CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान- अनधिकृत कॉलोनियों के मकानों की होगी रजिस्ट्री◾मुंबई पुलिस ने दाऊद इब्राहिम ने भतीजे रिजवान कासकर को किया गिरफ्तार◾मायावती के भाई आनंद कुमार के खिलाफ IT विभाग की कार्रवाई, 400 करोड़ का प्लॉट जब्त◾येद्दियुरप्पा ने किया दावा, बोले- सौ फीसदी भरोसा है कि विश्वास मत प्रस्ताव गिर जाएगा◾22 जुलाई को दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर लॉन्च होगा चंद्रयान-2◾सरकार कुलभूषण जाधव की सुरक्षा और जल्द भारत लाने की कोशिश जारी रखेगी : जयशंकर ◾अयोध्या मामला : SC का आदेश, 2 अगस्त से होगी सुनवाई◾रामनाथ कोविंद ने नौ क्षेत्रीय भाषाओं में फैसले उपलब्ध कराने के प्रयासों की प्रशंसा की ◾कुलभूषण जाधव मामले में ICJ के फैसले की पकिस्तान PM इमरान ने की सराहना◾राहुल गांधी बोले- फिर उम्मीद जगी है कि जाधव एक दिन भारत लौटेंगे◾कर्नाटक : कांग्रेस विधायक रामालिंगा रेड्डी इस्तीफा लेंगे वापस, करेंगे सरकार के पक्ष में मतदान ◾कर्नाटक : कुमारस्वामी सरकार का फ्लोर टेस्ट आज◾हाफिज सईद की गिरफ्तारी का डोनाल्ड ट्रंप ने किया स्वागत, ट्वीट कर कही ये बात ◾पीएम मोदी सहित कई दिग्गज नेताओं ने कुलभूषण जाधव पर ICJ के फैसले का किया स्वागत◾कुलभूषण जाधव ICJ के फैसले पर सुषमा ने मोदी को कहा शुक्रिया◾ICJ में भारत की बड़ी जीत : 15-1 से कुलभूषण यादव के पक्ष में गया फैसला , फांसी पर रोक ◾ICJ : जाधव मामले में पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन किया, अब लगा तगड़ा झटका◾प्रधानमंत्री मोदी ने 47 से 56 वर्ष आयु वर्ग के भाजपा सांसदों से की मुलाकात ◾

देश

न्यायाधीश ने मालेगांव विस्फोट में इस्तेमाल प्रज्ञा ठाकुर की बाइक का परीक्षण किया

महाराष्ट्र के मालेगांव में सितंबर 2008 में हुए विस्फोट में इस्तेमाल बाइक को सोमवार को सबूत के तौर पर यहां एक विशेष अदालत के सामने पेश किया गया। इस बाइक की मालिक कथित रूप से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर हैं। वह इसी मामले में आरोपी है। 

विस्फोट स्थल से दो बाइकें और पांच साइकलों को जब्त किया गया था। इन्हें एक टैम्पो में रखकर दक्षिण मुंबई की सत्र अदालत लाया गया जहां विशेष एनआईए न्यायाधीश विनोद पडलकर ने इनका परीक्षण किया। न्यायाधीश, वकील और गवाह बाइकों और साइकिलों का परीक्षण करने के लिए टैम्पो पर चढ़ें। 

गवाह ने यह शिनाख्त कर दी की उसने 29 सितंबर 2008 को मालेगांव में विस्फोट के दिन घटनास्थल यह बाइक देखी थी। इस बाइक की मालिक कथित रूप से ठाकुर है। मालेगांव नासिक जिले का शहर है। अभियोजन के मुताबिक, बम में आईईडी से विस्फोट किया गया था और इसे सुनहरे रंग की एलएमएल फ्रीडम बाइक पर रखा गया था जो ठाकुर के नाम पर पंजीकृत है। ठाकुर अब भोपाल से भाजपा की सांसद है। 

मामले की शुरू में जांच महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) ने की थी और उसने दावा किया था कि ठाकुर ने अपने करीबी सहयोगी रामजी कलसांगरा को विस्फोट करने के लिए बाइक दी थी। कलसांगरा अब भी फरार है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 2011 में एटीएस से जांच अपने हाथों में ले ली थी। एनआईए ने 2016 में दायर अपने पहले अनुपूरक आरोप पत्र में ठाकुर को ‘क्लीन चिट’ दे दी थी। 

एनआईए ने कहा कि उनसे एटीएएस की ओर से रिकॉर्ड पर लाए गए सबूतों का फिर से मूल्यांकन किया है और इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि ठाकुर के नाम पर पंजीकृत बाइक उसके कब्जे में नहीं थी और इसका इस्तेमाल दो साल से कलसांगरा कर रहा था। 

केंद्रीय एजेंसी ने कहा कि ठाकुर का विस्फोट से संबंध नहीं है। ठाकुर ने विशेष अदालत से आरोप मुक्त करने का अनुरोध करने के लिए एनआईए की इसी दलील को आधार बनाया था, लेकिन 27 दिसंबर 2017 को अदालत ने ठाकुर की याचिका को खारिज कर दिया था और कहा था कि विस्फोट में इस्तेमाल गाड़ी ठाकुर की है और आरटीओ रिकॉर्ड में ठाकुर के नाम पर है।