BREAKING NEWS

अरुणाचल प्रदेश में चीन के गांव को बसाए जाने की रिपोर्ट पर सियासत तेज, राहुल ने PM पर साधा निशाना ◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए मामले 10 हजार से कम, 137 लोगों ने गंवाई जान ◾कांग्रेस मुख्यालय में आज राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कृषि कानूनों पर जारी करेंगे बुकलेट◾दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप लगातार जारी, मरीजों का आंकड़ा 9.55 करोड़ तक पहुंचा◾TOP 5 NEWS 19 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विदेशी आतंकियों की मौजूदगी से आतंकवाद विरोधी प्रयास हो रहे कमजोर : टी. एस. तिरुमूर्ति◾गुजरात : सूरत में सड़क किनारे सो रहे प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 13 लोगों की मौत ◾शुभेंदु अधिकारी ने ममता के गढ़ में चुनाव लड़ने का किया ऐलान बोले- 50 हजार वोटों से हारेंगी, नहीं तो छोड़ दूंगा राजनीति ◾किसान संगठनों और सरकार के बीच दसवें दौर की वार्ता अब बुधवार को होगी◾‘तांडव’ की टीम ने बिना शर्त माफी मांगी, कहा-भावनाएं आहत करने का कोई इरादा नहीं ◾सुशासन सरकार में पुलिस दोषियों के बजाये निर्दोष को जेल भेजने का काम करती है :तेजस्वी ◾आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह को मिली जिंदा जलाकर मारने की धमकी ◾एम्स निदेशक की जनता से अपील - मामूली साइड इफेक्ट से मत डरें, वैक्सीन आपको मारेगी नहीं ◾SC की टिप्पणी के बाद बोले किसान संगठन - ट्रैक्टर रैली निकालना किसानों का संवैधानिक अधिकार है◾बढ़ते क्राइम को लेकर तेजस्वी ने राज्यपाल से की मुलाकात, कहा- बिहारियों की बलि मत दिजीए CM नीतीश ◾नंदीग्राम से विधानसभा चुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी, कहा- दल बदलने वालों की नहीं है चिंता ◾केंद्र ने माल्या प्रत्यर्पण मामले में दी SC को सूचना, कहा- ब्रिटेन ने डिटेल सांझा करने से किया इंकार ◾'तांडव' वेब सीरीज विवाद को लेकर लखनऊ से मुंबई रवाना हुई UP पुलिस की टीम◾भारतीय किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी को संयुक्त किसान मोर्चा ने किया सस्पेंड◾SC की टिप्पणी पर बोले राकेश टिकैत-हम झगड़ा नहीं, गण का उत्सव मनाएंगे◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सीबीआई अधिकारियों की जंग में कूदे राहुल, पीएम मोदी पर बोला बड़ा हमला

सीबीआई के भीतर जिस तरह से आंतरिक कलह मची हुई है और सीबीआई के डायरेक्टर और डिप्टी डायरेक्टर एक दूसरे पर घूसखोरी के आरोप लगा रहे हैं उसपर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बड़ा बयान दिया है। राकेश अस्थाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद राहुल गांधी ने इस पूरे विवाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

राहुल गांधी ने एक ट्वीट में लिखा 'पीएम के पसंदीदा, गुजरात कैडर अधिकारी, गोधरा एसआईटी के चर्चित, सीबीआई में नंबर-2 पद पर घुसपैठ करने वाले, अब रिश्वतखोरी कांड में फंस गए हैं। मौजूदा प्रधानमंत्री की कमान में सीबीआई राजनीतिक दुश्मनी निभाने का हथियार बन गई है। यह संस्था लगातार गिरावट की ओर है जो खुद से खुद की लड़ाई लड़ रही है।'

गौरतलब है कि सीबीआई ने एक अप्रत्याशित कदम उठाते हुए अपने ही विशेष निदेशक राकेश अस्थाना पर एक मामले को रफा-दफा करने के लिए 3 करोड़ रुपए रिश्वत लेने के आरोप में एफआईआर दर्ज की है।

सीबीआई ने सतीश साना की शिकायत के आधार पर विशेष निदेशक अस्थाना, पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र कुमार, मनोज प्रसाद, कथित बिचौलिए सोमेश प्रसाद और अन्य अज्ञात अधिकारियों पर भी मामला दर्ज किया है।  इसके मुताबिक अधिकारी ने हैदराबाद के व्यापारी सतीश साना, जिसका नाम मीट कारोबारी मोइन कुरैशी की जांच से जुड़े मामले में सामने आया था, के मामले को खत्म करने के लिए 3 करोड़ रुपए की रिश्वत ली थी।

विशेष निदेशक राकेश अस्थाना पर 3 करोड़ रुपए घूस लेने के आरोप लगने के बाद अब अस्थाना ने अपनी ही संस्था के निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ केंद्रीय सतर्कता आयुक्त (सीवीसी) से शिकायत की है। अस्थाना का आरोप है कि वर्मा ने खुद 2 करोड़ रुपए रिश्वत ली, इसलिए अपने को बचाने के लिए उनके खिलाफ आरोप लगाए जा रहे हैं। दूसरी ओर, सीबीआई ने एक बयान में अस्थाना के आरोप को झूठ और बेबुनियाद बताया है।

दूसरी ओर, अस्थाना ने 19 अक्टूबर 2018 को सीवीसी को 'टॉप सीक्रेट' पत्र लिखकर निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। अस्थाना ने लिखा है कि सतीश साना के खिलाफ एक मामले को निपटाने के लिए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने 2 करोड़ रुपए की रिश्वत ली। साना ने एजेंसी को दी गई अपनी एक शिकायत में कहा है कि मनोज प्रसाद और उसके भाई सोमेश प्रसाद ने राकेश अस्थाना की मदद से उसका एक मामला निपटाया और इसके एवज में 3 करोड़ रुपए रिश्वत ली गई। अस्थाना ने अपने पत्र में कहा है कि मोइन कुरैशी के खिलाफ जांच रुकवाने के लिए सतीश साना ने आलोक वर्मा को 2 करोड़ रुपए दिए।

पत्र में अस्थाना ने यह भी कहा है कि जनवरी में पूछताछ के दौरान सतीश साना ने यह बात कबूल की थी कि कुरैशी का मामला रफा-दफा करने के लिए उसने तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसद सीएम रमेश से सिफारिश की थी, जो बाद में सीबीआई निदेशक से भी मिले थे। पत्र के मुताबिक, 'सतीश साना की ओर से आलोक वर्मा को दी गई रिश्वत की जानकारी कैबिनेट सचिव को 24.8. 2018 को दे गई थी।' इसके बाद सीवीसी ने कार्रवाई करते हुए संबंधित फाइलें अपने सुपुर्द करने का आदेश दिया था।